scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: खूंटी में भगवा गढ़ से फिर सियासी रण में उतरेंगे अर्जुन मुंडा, क्या कांग्रेस दे पाएगी टक्कर?

Arjun Munda Biography in Hindi: BJP लगातार इस सीट से लगातार जीतती हुई आ रही है, हालांकि पिछले चुनावों के दौरान उसे कांग्रेस के टक्कर मिली थी। ऐसे में इस बार खूंटी सीट पर मुकाबला कड़ा हो सकता है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 25, 2024 00:06 IST
lok sabha elections  खूंटी में भगवा गढ़ से फिर सियासी रण में उतरेंगे अर्जुन मुंडा  क्या कांग्रेस दे पाएगी टक्कर
Arjun Munda ने साल 2024 में दर्ज की थी बड़ी जीत (सोर्स - PTI /File)
Advertisement

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections) को लेकर बीजेपी ने अपनी इलेक्शन की मशीनरी एक्टिव कर रखी है। पार्टी ने आधे से ज्यादा सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान भी कर दिया है। पार्टी ने झारखंड की खूंटी सीट से अर्जुन मुंडा को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। मुंडा (Arjun Munda Khunti Lok Sabha Seat) की बात करें तो वे बीजेपी के काफी कद्दावर नेता माने जाते रहे हैं।

पिछले लोकसभा चुनावों की बात करें तो इस सीट से बीजेपी प्रत्याशी अर्जुन मुंडा 1045 वोटों से जीत हासिल की थी, जो कि काफी कड़ा मुकाबला रहा था। ऐसे में बीजेपी की कोशिश हैं कि अर्जुन मुंडा इस सीट से बड़े मार्जिन से चुनाव जीतें। यह देखना दिलचस्प होगा कि इस बार यह सीट बीजेपी की खाते में आ पाती है, या कांग्रेस यहां बीजेपी का विजय रथ रोकने में कामयाब हो जाएगी।

Advertisement

बता दें कि 2000 तक खूंटी की यह सीट बिहार का हिस्सा रही थी। इस सीट पर 1967 से लगातार आम चुनाव जारी है। चार चुनावों के दौरान यहां कांग्रेस को जीत मिली थी। 1977 में यह सीट जनता पार्टी के हाथ रही थी। 1980 में यह सीट झारखंड पार्टी के निरल एनम होरो के नाम हुई थी। 1983 में यह सीट कांग्रेस ने जीत थी। 1999 से यह सीट लगातार बीजेपी के ही साथ है।

2014 में मिली थी बड़ी जीत

साल 2014 के लोकसभा चुनावों की बात करें तो यहां से भारतीय जनता पार्टी के करिया मुंडा को 2 लाख 69 हजार 185 वोट मिले थे जबकि जेकेपी के एनोस एक्का 1 लाख 76 हजार 937 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे। वहीं कांग्रेस के कालीचरण मुंडा 1 लाख 47 हजार 17 वोट हासिल कर तीसरे स्थान पर रहे थे। 2019 में बीजेपी के अर्जुन मुंडा ने महज 1465 वोटों से सीट बीजेपी के लिए बचाई थी।

Advertisement

रसूखदार है अर्जुन मुंडा का कद

अर्जुन मुंडा के सियासी रसूख की बात करें तो केंद्रीय कृषि और जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा झारखंड के तीन बार मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। खूंटी में अर्जुन मुंडा की राजनीतिक प्रतिष्ठा एक बार फिर से दांव पर होगी। अर्जुन मुंडा के खिलाफ संभवतः कालीचरण मुंडा ही विपक्ष के साझा उम्मीदवार होंगे।

Advertisement

मुंडा के पास मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री रहने के साथ ही लंबा राजनीतिक अनुभव भी है, जो कि उनके लिए प्लस पॉइंट है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो