scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Elections 2024: फिर BJP में लौटेंगे अर्जुन सिंह, लोकसभा टिकट नहीं मिलने पर भड़के नेता बोले- मेरे साथ TMC के एक नेता भी आएंगे

अर्जुन सिंह ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने मुझे बंगाल की बैरकपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाने का अपना वादा नहीं निभाया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: March 14, 2024 13:51 IST
elections 2024  फिर bjp में लौटेंगे अर्जुन सिंह  लोकसभा टिकट नहीं मिलने पर भड़के नेता बोले  मेरे साथ tmc के एक नेता भी आएंगे
अर्जुन सिंह का टिकट काट दिया गया।
Advertisement

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने पश्चिम बंगाल की सभी 42 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान रविवार को कर दिया। इस लिस्ट में बैरकपुर से मौजूदा सांसद अर्जुन सिंह का नाम नहीं है। पार्टी आलाकमान ने अर्जुन सिंह का टिकट काटकर उनकी जगह ममता सरकार में मंत्री पार्थ भौमिक को मैदान में उतारा है। टिकट कटने के बाद से अर्जुन सिंह पार्टी से नाराज चल रहे थे। जिसके बाद टीएमसी नेता अर्जुन सिंह ने गुरुवार को कहा कि वह बैरकपुर लोकसभा सीट से टीएमसी पार्टी का टिकट नहीं मिलने के बाद भाजपा में लौट आएंगे, जिसका वह प्रतिनिधित्व करते हैं।

लोकसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं मिलने के बाद तृणमूल कांग्रेस के असंतुष्ट नेता अर्जुन सिंह ने कहा कि वह भाजपा में शामिल होंगे। मेरे साथ तृणमूल कांग्रेस के एक शीर्ष नेता भी भाजपा में शामिल होंगे। अर्जुन सिंह ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने मुझे बंगाल की बैरकपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाने का अपना वादा नहीं निभाया। इससे पहले उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा था कि मेरे साथ धोखा हुआ है। दूसरी तरफ अर्जुन सिंह के समर्थकों ने भी विरोध-प्रदर्शन किया था।

Advertisement

अर्जुन सिंह 2019 में बैरकपुर से बीजेपी के टिकट पर सांसद चुने गए थे

अर्जुन सिंह 2019 में बैरकपुर से बीजेपी के टिकट पर सांसद चुने गए थे। 2021 विधानसभा चुनाव के बाद उन्होंने टीएमसी में घरवापसी की थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की सीट से चुने जाने के बाद सिंह ने भाजपा छोड़ दी थी और टीएमसी में फिर से शामिल हो गए थे। उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस छोड़ दी थी। 2022 में वह टीएमसी में लौट आए लेकिन सांसद पद से इस्तीफा नहीं दिया।

कभी बीजेपी-कभी टीएमसी

अर्जुन सिंह ने साल 2001 में टीएमसी ज्वाइन की थी। उन्होंने भाटपारा विधानसभा से चुनाव लड़कर जीता था। इसके बाद वह लगातार तीन बार विधानसभा चुनाव जीते। 2019 तक अर्जुन सिंह भाटपारा विधानसभा सीट से विधायक थे लेकिन लोकसभा चुनाव के पहले उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया। इसके बाद बीजेपी ने बैरकपुर लोकसभा सीट से अर्जुन सिंह को उम्मीदवार बना दिया। हालांकि सांसद चुने जाने के बाद अर्जुन सिंह लगातार टीएमसी सरकार के निशाने पर रहे। उनके ऊपर कई मुकदमे हुए और उनके घर पर भी हमला हुआ।

Advertisement

2019 में बीजेपी ज्वाइन करने के दो महीने के अंदर ही उनके खिलाफ दर्जनों मुकदमे लाद दिए गए और उन्होंने आरोप लगाया की ममता सरकार उन्हें परेशान कर रही है। 2019 लोकसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती होने वाली थी, उससे ठीक 1 दिन पहले उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार करने की भी कोशिश की थी। इस दौरान उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था, जहां से उन्हें राहत मिली थी। उनके घर पर भी बम से अटैक किया गया था और उनकी गाड़ी को भी टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने तोड़ दिया था। 2022 के विधानसभा चुनाव में जब बीजेपी की हार हुई, उसके बाद अर्जुन सिंह ने टीएमसी का दामन थाम लिया। यह भी कहा जाता है कि अर्जुन सिंह को लगातार पुलिस परेशान कर रही थी और इसके कारण उन्होंने टीएमसी का दामन थामा।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो