scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Election 2024: किसका होगा राजतिलक? 21 राज्य की 102 सीटों पर आज वोटिंग, दांव पर लगी इन दिग्गजों की किस्मत

Lok Sabha Election 2024: एक तरफ अगर एनडीए गठबंधन 400 प्लस की हुंकार भर रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ इंडिया गठबंधन अपनी एकजुटता की ताकत दिखा रहा है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: April 19, 2024 10:15 IST
lok sabha election 2024  किसका होगा राजतिलक  21 राज्य की 102 सीटों पर आज वोटिंग  दांव पर लगी इन दिग्गजों की किस्मत
Lok Sabha Election 2024 Phase 1
Advertisement

लोकसभा चुनाव का आगाज हो चुका है, आज पहले चरण की 102 सीटों पर वोटिंग होने जा रही है, कुल 21 राज्यों में जनता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने वाली है। लोकतंत्र के इस सबसे बड़े पर्व को लेकर चुनाव आयोग ने पूरी तैयारी कर रखी है, सुरक्षा व्यवस्था से लेकर दूसरे तमाम इंतजाम जमीन पर कर लिए गए हैं। एक तरफ अगर एनडीए गठबंधन 400 प्लस की हुंकार भर रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ इंडिया गठबंधन अपनी एकजुटता की ताकत दिखा रहा है।

Lok Sabha Chunav Phase 1 Voting 2024 LIVE Updates: Check Here

Advertisement

कितने बजे शुरू होगी वोटिंग?

जानकारी के लिए बता दे कि पहले चरण में 16 से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में खड़े हैं। इसमें 9 केंद्रीय मंत्री, दो पूर्व मुख्यमंत्री और एक पूर्व राज्यपाल तक अपनी किस्मत चुनावी मैदान में आजमाने जा रहे हैं। हर बार की तरह एक बार फिर वोटिंग सुबह 7:00 बजे शुरू हो जाएगी जो शाम को 6:00 बजे तक जारी रहने वाली है, लेकिन कुछ राज्यों में वोटिंग खत्म होने का समय अलग भी चल रहा है। बड़ी बात ये है कि लोकसभा चुनाव के साथ अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में विधानसभा के चुनाव भी साथ में ही हो रहे हैं।

पहले चरण में कितने वोटर?

अगर देश के कुल वोटरों की बात करें तो पहले चरण में 16.63 करोड़ से ज्यादा वोटर मौजूद हैं, यहां भी 8.4 करोड़ पुरुष और 8.3 करोड़ महिला वोटर हैं। अगर पहली बार वोट करने वाले वोटरों की बात करें तो उनकी संख्या भी अच्छी खासी है, आंकड़ों के मुताबिक 35.67 लोग देश के ऐसे हैं जो पहले चरण में पहली बार मतदान करने जा रहे हैं।

कौन-कौन सी सीट पर आज वोटिंग?

पहले चरण में उत्तर प्रदेश की सहारनपुर, कैराना, बिजनौर, नगीना, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, पीलीभीत और रामपुर सीट पर चुनाव है। राजस्थान की बात करें तो गंगानगर, बीकानेर, चूरू झुंझुनू, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, भरतपुर, धौलपुर, दौसा, नागौर, अलवर सीट पर वोटिंग होनी है। इसी तरह मध्य प्रदेश की सीधी, शहडोल, जबलपुर, बालाघाट, छिंदवाड़ा और मंडल सीट पर वोटिंग होनी है। असम की बात करें तो वहां पर कांजीरंगा, सोनितपुर, तखीमपुर, डिब्रूगढ़ और जोरहाट में वोटिंग होने जा रही है।

Advertisement

इसी तरह बिहार की औरंगाबाद, नवादा, जमुई और गया सीट पर भी मतदान होने जा रहा है। महाराष्ट्र की बात करें तो यहां पर रामटेक, नागपुर चिमूर, चंद्रपुर, भंडारा-गोंडिया सीट पर मतदान होना है। छत्तीसगढ़ की भी बस्तर सीट पर 19 अप्रैल को ही वोट डाले जाएंगे। इसी तरह जम्मू कश्मीर की उधमपुर, अरुणाचल प्रदेश की अरुणाचल पश्चिम, अरुणाचल पूर्व तो त्रिपुरा की त्रिपुरा पश्चिम सीट पर भी मतदान पहले चरण में होने जा रहा है। देवभूमि उत्तराखंड की टिहरी गढ़वाल, नैनीताल, उधम सिंह नगर, हरिद्वार में भी मतदान होने जा रहा है। इसी तरह मिजोरम, पुडुचेरी और तमिलनाडु की सभी सीटों पर पहले चरण में ही वोटिंग हो जाएगी। सिक्किम, नगालैंड, अंडमान और निकोबार और पश्चिम बंगाल की कूचबिहार, अलीपुरद्वार, जलपाईगुड़ी में भी पहले चरण में ही मतदान होने जा रहा है।

वो सीटें जिन पर पूरे देश की नजर

अब पहले चरण में कहने को तो 102 सीटों पर मुकाबला है, लेकिन सबसे दिलचस्प लड़ाई 15 सीटों पर बनी हुई है जिन पर पूरे देश की इस समय नजर है

गडकरी-रिजिजू मैदान में खड़े

अगर नागपुर की बात करें तो यहां से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एक बार फिर ताल ठोक रहे हैं। 2014 में भी गडकरी ने यहां से एक पूर्व केंद्रीय मंत्री को हरा दिया था। इस बार कांग्रेस के विकास ठाकरे, नितिन गडकरी को चुनौती देने का काम कर रहे हैं। इसी तरह अरुणाचल पश्चिम सीट पर भी मुकाबला दिलचस्प बना हुआ है। मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे किरण रिजिजू यहां से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। 2004 से लगातार वे इस सीट से चुनाव जीतते आ रहे हैं, अगर नॉर्थ ईस्ट की बात करें तो उनती तरफ से भाजपा के लिए काफी काम किया है और जो पार्टी का विस्तार वहां पर दिखता है, उसमें उनका अहम योगदान है। इस बार रिजिजू का मुकाबला पूर्व मुख्यमंत्री नवाब तुकी से होने जा रहा है।

सर्वानंद सोनवाल भी ठोक रहे ताल

असम की डिब्रूगढ़ सीट की बात करें तो यहां से पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनवाल उम्मीदवार बनाए गए हैं। बीजेपी के दिग्गज नेता माने जाने वाले सोनवाल कुछ समय तक असम के मुख्यमंत्री भी रहे थे। बाद में उन्हें केंद्रीय मंत्री बना दिया गया और हेमंता बिस्वा सरमा ने असम की कमान संभाली। इस बार सर्बानंद सोनवाल का मुकाबला एक तरफ असम जातीय परिषद के लुरिं ज्योति गोगई से होने जा रहा है, तो वही आम आदमी पार्टी के मनोज धरोहर भी चुनावी मैदान में खड़े हैं।

संजीव बालियान बनाम दारा सिंह

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की मुजफ्फरनगर सीट भी पहले चरण में ही वोटिंग करने जा रही है। यहां से मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान एक बार फिर उम्मीदवार बना दिए गए हैं। मुजफ्फरनगर दंगों के बाद से ही बालियान कि यहां पर मजबूत पकड़ है और 2014 सेवे लगातार जीतते आ रहे हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में तो इसी सीट से उन्होंने आरएलडी के चौधरी अजीत सिंह को हरा दिया था, लेकिन इस बार मुकाबला कड़ा है क्योंकि समाजवादी पार्टी ने सीट से हरेंद्र मलिक और बसपा ने दारा सिंह प्रजापति को मैदान में उतार रखा है।

उधमपुर और बीजेपी के जितेंद्र सिंह

जम्मू कश्मीर की उधमपुर सीट भी काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। यहां से बीजेपी ने राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह को एक बार फिर चुनावी मैदान में उतारा है। वे 2014 और 2019 के चुनाव में भी इसी सीट से बड़े अंतर से जीतते आ रहे हैं। इस बार उन्हें टक्कर देने का काम कांग्रेस के चौधरी लाल सिंह कर रहे हैं। राजस्थान की अलवर सीट की बात करें तो यहां से केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बड़ी बात ये है कि भूपेंद्र यादव का ये पहला लोकसभा चुनाव है, कांग्रेस ने सीट से ललित यादव को मौका दे रखा है। राजस्थान की ही बीकानेर सीट भी काफी अहम बनी हुई है। यहां से केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल चुनावी मैदान में हैं, 2009 से इस सीट से लगातार जीत रहे हैं। इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस के पूर्व मंत्री गोविंद मेघवाल से होने जा रहा है।

छिंदवाड़ा और कमलनाथ के बेटे की ताकत

मध्य प्रदेश की छिंदवाड़ा सीट पर भी दिग्गजों की लड़ाई देखने को मिलने वाली है। यहां से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, बीजेपी ने छिंदवाड़ा से नकुल नाथ के सामने विवेक बंटी साहू को उतार रखा है। उत्तर प्रदेश की सहारनपुर सीट भी इस बार चर्चा का विषय बनी हुई है, कांग्रेस ने यहां से इमरान मसूद को उतार रखा है। इस सीट से कड़ी टक्कर देने का काम बीजेपी के राघव लखनपाल कर रहे हैं। तमिलनाडु की कोयंबतूर सीट भी इस बार बड़ी बनी हुई है, यहां से बीजेपी ने अपने सबसे बड़े चेहरे अन्नामलाई को उतार रखा है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो