scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Katihar Lok Sabha Election: कटिहार में तारिक अनवर पांच बार रहे सांसद, BJP और JDU का रहा है लंबे समय तक कब्जा; देखें कैसा है इस बार समीकरण

Katihar Lok Sabha Election 2024 Date, Candidates Name, Caste Wise Population: कभी कांग्रेस का गढ़ रहे कटिहार लोकसभा क्षेत्र से फिलहाल जदयू के दुलाल चंद्र गोस्वामी सांसद हैं। उन्हें इस बार फिर से टिकट मिला है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 24, 2024 13:33 IST
katihar lok sabha election  कटिहार में तारिक अनवर पांच बार रहे सांसद  bjp और jdu का रहा है लंबे समय तक कब्जा  देखें कैसा है इस बार समीकरण
कटिहार लोकसभा क्षेत्र की छह विधानसभा सीटों में बीजेपी और कांग्रेस के पास दो-दो और जदयू और भाकपा (माले) के पास एक-एक सीट है।
Advertisement

Katihar Lok Sabha Election 2024 Date, Candidate Name: बिहार के महत्वपूर्ण लोकसभा सीटों में से एक कटिहार सीमांचल का बड़ा क्षेत्र है। पहले कटिहार पूर्णियां जिले में पड़ता था। यहां 1957 में पहली बार चुनाव हुआ था। यहां शुरू में दो बार कांग्रेस पार्टी के सांसद रहे, उसके बाद 1962 में यहां प्रजा सोशलिस्ट पार्टी को जीत मिली। लेकिन अगले चुनाव में फिर कांग्रेस को सफलता मिली और सीताराम केसरी सांसद बने। 1977 में आपातकाल के बाद के माहौल की वजह से जनता पार्टी के प्रतिनिधि को सफलता मिली, लेकिन 1980 और 1984 में फिर कांग्रेस के उम्मीदवार तारिक अनवर यहां से लोकसभा पहुंचे। तारिक अनवर पांच बार सांसद रहे। चार बार कांग्रेस से और एक बार एनसीपी से सांसद बने।

बीजेपी के निखिल चौधरी लगातार तीन बार कटिहार के सांसद रहे हैं

कभी कांग्रेस का गढ़ रहे कटिहार लोकसभा क्षेत्र से फिलहाल जदयू के दुलाल चंद्र गोस्वामी सांसद हैं। उन्हें इस बार फिर से टिकट मिला है। ढाई दशक से इस सीट पर एनडीए का ही दबदबा रहा है। बीजेपी के निखिल चौधरी लगातार तीन बार कटिहार के सांसद रहे हैं। पांच नदियों के किनारे बसे कटिहार में लहलहाते खेत, आम के बगान, मखाना के पत्ते से पटा पोखर दिखता है।

Advertisement

कटिहार की जमीन राजनीतिक रूप से काफी उर्वर बताई जाती है

रेल और सड़क मार्ग से दूसरे राज्यों से जुड़े होने की वजह से कटिहार का व्यापारिक आधार मजबूत रहा है। इसके बावजूद उद्योगविहीन कटिहार अपने मेहनकश किसान और मजदूरों को लेकर जाना जाता है। कटिहार की पहचान रहे जूट उद्योग ठप पड़ गए हैं। जूट मिल बंद हो चुका है। दूसरी ओर कटिहार की जमीन राजनीतिक रूप से काफी उर्वर बताई जाती है।

कटिहार लोकसभा क्षेत्र की छह विधानसभा सीटों में बीजेपी और कांग्रेस के पास दो-दो और जदयू और भाकपा (माले) के पास एक-एक सीट है। लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, कटिहार लोकसभा क्षेत्र में 9 लाख 39 हजार 260 मतदाता पुरुष हैं। 8 लाख 65 हजार 305 महिला वोटर हैं और 102 थर्ड जेंडर के वोटर हैं।

Advertisement

जातीय जनगणना पर 41 फीसदी मुस्लिम, 11 फीसदी यादव, 8 फीसदी सवर्ण, 16 फीसदी वैश्य, 18 फीसदी पिछड़ा और अत्यंत पिछड़ा वर्ग और 6 फीसदी अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लोग शामिल हैं। जातीय गणना की रिपोर्ट के मुताबिक जिले में करीब साढ़े 52 प्रतिशत लोग साक्षर हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो