scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कैसी रही सांसदों की किस्मत? ज्यादातर जीते लेकिन कई दिग्गजों को करना पड़ा हार का सामना

Assembly Elections Result: BJP के कई दिग्गज सांसदों को विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है।
Written by: जनसत्ता
Updated: December 04, 2023 09:34 IST
कैसी रही सांसदों की किस्मत  ज्यादातर जीते लेकिन कई दिग्गजों को करना पड़ा हार का सामना
बीजेपी के ज्यादातर सांसद जीते (PTI)
Advertisement

5 राज्यों के चुनावी रण में बीजेपी ने कई सांसदों को मैदान में उतारा था। इनमें से कई सांसद चुनाव जीतने में सफल रहे तो कई को हार का सामना करना पड़ा। चुनाव हारने वाले सांसदों में फग्गन सिंह कुलस्ते शामिल हैं। वह मोदी सरकार में मंत्री भी हैं। आइए नजर डालते हैं उन सांसदों के चुनाव परिणाम पर जिन्होंने विधानसभा चुनाव लड़ा था।

Advertisement

मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ने वाले सांसद

  1. नरेंद्र सिंह तोमर दिमनी विधानसभा से 24,461 मतों से जीते - केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर विधानसभा सीट दिमनी से चुनाव लड़ा था। वर्तमान में यह सीट कांग्रेस के पास थी। 2018 के चुनाव में रविंद्र तोमर यहां से जीते थे। कांग्रेस ने इस बार भी रविंद्र पर ही दांव खेला था।
  2. प्रहलाद पटेल नरसिंहपुर विधानसभा से 32,095 मतों से जीते - केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल महाकौशल की सीट नरसिंहपुर से चुनाव मैदान में थे। वर्तमान में यह सीट भाजपा के ही पास है। 2018 के चुनाव में प्रहलाद पटेल के भाई जालम यहां से चुनाव जीते थे। लेकिन इस बार उनके स्थान पर उनके बड़े भाई प्रहलाद पटेल को टिकट दिया गया था।
  3. फग्गन सिंह कुलस्ते निवास विधानसभा से 9,723 मतों से हारे - केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते मंडला की निवास सीट से चुनाव उम्मीदवार थे। ये सीट महाकौशल में आती है। कांग्रेस ने निवर्तमान विधायक का टिकट काटकर चैन सिंह को टिकट दिया था। यह सीट कांग्रेस के पास थी।
  4. उदयराव प्रताप सिंह गाडरवाड़ा विधानसभा से 56,529 मतों से जीते - सांसद उदयराव प्रताप सिंह नरसिंहपुर की गाडरवाड़ा सीट से उम्मीदवार थे। ये सीट भी महाकौशल में आती है। कांग्रेस की सुनीता पटेल उदयराव के सामने थीं। यह सीट अभी कांग्रेस के पास ही थी।
  5. रीति पाठक सीधी विधानसभा से जीतीं - सांसद रीति पाठक सीधी सीट से चुनाव लड़ रही थीं। यहां भाजपा के बागी केदार शुक्ल ने इनकी मुश्किलें बढ़ा रखी थीं। कांग्रेस ने यहां से ज्ञान सिंह को टिकट उतारा था। यह सीट अभी भाजपा के पास थी।
  6. गणेश सिंह सतना विधानसभा से 4,041 मतों से हारे - सांसद गणेश सिंह सतना से उम्मीदवार थे। उनका मुकाबला कांग्रेस के सिद्धार्थ कुशवाहा से था। यह सीट अभी कांग्रेस के पास है।
  7. राकेश सिंह जबलपुर पश्चिम विधानसभा से जीते- लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक सांसद राकेश सिंह जबलपुर पश्चिम से चुनाव मैदान में थे। उनके सामने कांग्रेस के पूर्व मंत्री तरुण भनोट थे। यह सीट कांग्रेस के पास थी।

राजस्थान में चुनाव लड़ने वाले सांसद

  1. राज्यवर्धन सिंह राठौड़ झोटवाड़ा विधानसभा से 50,167 मतों से जीते - भाजपा ने सांसद राज्यवर्धन राठौड़ को जयपुर की झोटवाड़ा विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था। राठौड़ जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट से सांसद हैं। उनके सामने कांग्रेस के अभिषेक चौधरी थे।
  2. दीया कुमारी राजसमंद विधानसभा से 71,368 मतों से जीतीं - भाजपा ने दीया कुमारी विद्याधर नगर सीट से उम्मीदवार बनाया था। कुमारी राजसमंद सीट से सांसद हैं। इससे पहले वे सवाई माधोपुर से विधायक भी रह चुकी हैं। उनके सामने कांग्रेस के सीताराम अग्रवाल थे।
  3. बाबा बालकनाथ तिजारा विधानसभा से 6,173 मतों से जीते - भाजपा ने बाबा बालकनाथ को तिजारा विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था। बालकनाथ वर्तमान में अलवर लोकसभा सीट से सांसद हैं। उनके सामने कांग्रेस के इमरान खान थे।
  4. किरोड़ी लाल मीणा सवाई माधोपुर विधानसभा से 22,510 मतों से जीते- राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा को भाजपा ने सवाई माधोपुर सीट से टिकट दिया था। किरोड़ी लाल मीणा भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर कई बार विधायक और सांसद बन चुके हैं। उनके सामने कांग्रेस के दानिश अबरार थे।
  5. भागीरथ चौधरी किशनगढ़ विधानसभा से हारे, तीसरे स्थान पर रहे - भाजपा ने सासंद भागीरथ चौधरी को किशनगढ़ सीट से उम्मीदवार बनाया था। भागीरथ अजमेर लोकसभा सीट से सांसद हैं। राजस्थान 2013 विधानसभा चुनाव में वे किशनगढ़ सीट से विधायक भी रह चुके हैं।
  6. देवजी पटेल सांचोर विधानसभा से हारे, तीसरे स्थान पर रहे - सांचोर विधानसभा सीट से भाजपा ने देवजी पटेल को उम्मीदवार बनाया था। देवजी पटेल जालोर सिरोही संसदीय क्षेत्र से तीसरी बार सांसद हैं।
  7. नरेंद्र कुमार मंडावा विधानसभा से 18,717 मतों से हारे - भाजपा ने मंडावा सीट से नरेंद्र कुमार को विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाया था। नरेंद्र वर्तमान में लोकसभा सीट झुंझुनूं से ही सांसद हैं। उनके सामने कांग्रेस की कुमारी रीता चौधरी थी।

छत्तीसगढ़ में चुनाव लड़ने वाले सांसद

  1. रेणुका सिंह (भरतपुर-सोनहत): 4,919 मतों से जीतीं
  2. केंद्रीय राज्य मंत्री सरगुजा संसदीय सीट से सांसद हैं।
  3. गोमती साय (पत्थलगांव): 255 मतों से जीतीं
  4. गोमती साय रायगढ़ लोकसभा सीट से सांसद हैं। उन्हें भाजपा ने पत्थलगांव विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था।
  5. अरुण साव (लोरमी): 45,891 मतों से जीते
  6. अरुण साव बिलासपुर संसदीय सीट से सांसद हैं। साव भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं। अरुण साव को लोरमी से चुनाव मैदान में उतारा गया था।
  7. विजय बघेल (पाटन): 19,723 मतों से हारे
  8. विजय बघेल दुर्ग लोकसभा सीट से सांसद हैं। भाजपा ने उन्हें पाटन विधानसभा सीट से मैदान में उतारा था। विजय बघेल का मुकाबला छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस उम्मीदवार भूपेश बघेल से था।

तेलंगाना में चुनाव लड़ने वाले सांसद

  1. बंदी संजय कुमार (करीमनगर) : 3,163 मतों से हारे
  2. डी अरविंद (कोरटला): 10,305 मतों से हारे
  3. सोयम बापूराव (बोएथ) : 22,800 मतों से हारे
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो