scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

जीतन राम मांझी के पास है सिर्फ इतने रुपये नकद और संपत्ति, बंदूक और गाय रखने का भी है शौक

पत्नी शांति देवी के पास 5.38 लाख रुपए की अचल संपत्ति है। वर्ष 2019 के चुनावों में, उन्होंने 10.2 लाख रुपए की चल संपत्ति और 40,000 की नकदी घोषित की थी।
Written by: जनसत्ता
नई दिल्ली | Updated: March 31, 2024 13:44 IST
जीतन राम मांझी के पास है सिर्फ इतने रुपये नकद और संपत्ति  बंदूक और गाय रखने का भी है शौक
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी। (फोटो- पीटीआई)
Advertisement

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा-सेक्युलर (HAM-S) के संस्थापक जीतन राम मांझी के पास 11.32 लाख रुपए की चल संपत्ति है और 49,000 रुपए नकद हैं। उनके हलफनामे में यह जानकारी दी गई है। गया लोकसभा सीट से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के उम्मीदवार मांझी ने गुरुवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था।

चुनाव के पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को है

चुनाव के पहले चरण के कार्यक्रम के तहत गया, नवादा, जमुई और औरंगाबाद में 19 अप्रैल को मतदान होना है। हलफनामे के अनुसार, उनके पास 13.50 लाख रुपए की अचल संपत्ति है, जबकि उनकी पत्नी शांति देवी के पास 5.38 लाख रुपए की अचल संपत्ति है। वर्ष 2019 के चुनावों में, उन्होंने 10.2 लाख रुपए की चल संपत्ति और 40,000 की नकदी घोषित की थी।

Advertisement

उनके पास कोई स्व-अर्जित अचल संपत्ति नहीं है

मांझी की चल संपत्ति में चार बैंक खाते, दो चार पहिया वाहन, एक दोनाली बंदूक और दो गाय हैं। उनकी पत्नी के पास एक बैंक खाता, 3.78 लाख रुपए के सोने के आभूषण और 76,500 रुपए के चांदी के आभूषण हैं। हलफनामे से पता चलता है कि उनके पास कोई स्व-अर्जित अचल संपत्ति नहीं है और उनके पास 13.50 लाख रुपए की कीमत का पैतृक आवास है।

नामांकन दाखिल करने की तारीख तक वर्ष 2023-2024 के लिए हम (एस) के संस्थापक की आय 4,87,330 रुपए थी। उनका मुकाबला राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के कुमार सर्वजीत से है। उन्होंने भी गुरुवार को अपना नामांकन दाखिल किया था। मांझी 2014 से गया सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। सबसे पहले उन्होंने जनता दल (एकी) के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा था, लेकिन वह तीसरे नंबर पर रहे। इसके बाद 2019 में उन्होंने अपनी पार्टी के निशान पर चुनाव लड़ा, लेकिन 1.5 लाख से अधिक मतों के अंतर से हार गए।

Advertisement

लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत बिहार की चार सीट के लिए 70 से अधिक उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किये हैं। जिन चार सीट पर 19 अप्रैल को पहले चरण में मतदान होगा उनमें सबसे अधिक 22 उम्मीदवार गया सीट पर हैं जबकि औरंगाबाद में 21, नवादा में 17, और जमुई में 12 प्रत्याशी हैं। प्रथम चरण के लिए दाखिल किए गए नामांकन पत्रों की जांच 30 मार्च को होनी है जबकि दो अप्रैल नाम वापसी की अंतिम तिथि है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो