scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Himachal Pradesh Assembly Election: एक लाख नौकरियों के साथ ओल्ड पेंशन स्कीम पर प्रियंका का दांव, जानिए क्यों खुश नहीं आनंद शर्मा

शर्मा ने कहा कि वरिष्ठ नेताओं की तैनाती की गई होती तो कांग्रेस का अभियान और बेहतर हो सकता था।
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: संजय दुबे
Updated: November 11, 2022 08:15 IST
himachal pradesh assembly election  एक लाख नौकरियों के साथ ओल्ड पेंशन स्कीम पर प्रियंका का दांव  जानिए क्यों खुश नहीं आनंद शर्मा
हिमाचल प्रदेश में एक जनसभा को संबोधित करतीं कांग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी और आनंद शर्मा। (फोटो- पीटीआई फाइल)
Advertisement

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार 12 नवंबर 2022 को वोट डाले जाएंगे। भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इस चुनाव में मतदाताओं का समर्थन प्राप्त करने के लिए की तरह के वादे और दावे किए, हालांकि जनता उससे कितना प्रभावित हुई और किन दलों को अपना समर्थन देगी यह तो 8 दिसंबर को नतीजे आने के बाद पता चलेंगे।

इस बीच जनता पर अंतिम दांव चलते हुए कांग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी ने राज्य में अपनी सरकार बनते ही एक लाख नौकरियां देने के साथ ही पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme) को तुरंत लागू करने का वादा किया। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन योजना कोई चुनावी जुमला नहीं है और इसे छत्तीसगढ़ और राजस्थान की कांग्रेस सरकारों ने पहले ही लागू कर दी है।

Advertisement

इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने गुरुवार को कहा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की प्रचार योजना वरिष्ठ नेताओं की तैनाती के साथ "काफी बेहतर" हो सकती थी। उन्होंने खेद जताते हुए कि उनकी सेवाओं का पूरी तरह से उपयोग नहीं किया गया। उन्होंने उम्मीद जताई है कि कांग्रेस चुनाव जीतेगी और "स्थिर बहुमत" प्राप्त करेगी।

पीटीआई से बातचीत में आनंद शर्मा ने यह भी कहा कि नई पेंशन योजना के निहितार्थ का आकलन नहीं करने के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों "दोषी" हैं। वीरभद्र सिंह के मुख्यमंत्री रहते हुए इसे चुनने के कदम को "निर्णय की त्रुटि" करार दिया। कहा कि जहां भी प्रत्याशियों ने बुलाया वहां उन्होंने अपनी पूरी क्षमता के साथ प्रचार किया, लेकिन उनके अभियान के लिए कोई केंद्रीकृत योजना नहीं थी।

आनंद शर्मा ने कहा प्रियंका गांधी ने उत्साही अभियान का नेतृत्व किया

आनंद शर्मा चुनावों से पहले के महीनों से असंतुष्ट थे, लेकिन उन्होंने पार्टी के लिए प्रचार किया और अभियान के अंत में विभिन्न स्थानों पर कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में जनसभाएं कीं। कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राज्य में एक उत्साही अभियान का नेतृत्व किया है।

Advertisement

प्रियंका गांधी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर भी भाजपा पर निशाना साधा और पूछा कि उसके पांच साल के कार्यकाल में 63,000 खाली सरकारी पदों को क्यों नहीं भरा गया। वादा किया कि जब हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार की पहली कैबिनेट बैठक होगी, तो युवाओं को एक लाख नौकरियां दी जाएंगी और पुरानी पेंशन योजना वापस आ जाएगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो