scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

उत्तर भारत के इस राज्य में जो जीतता है ज्यादा सीटें, केंद्र में बनती है उसकी ही सरकार! यहां बीजेपी अकेले लड़ रही चुनाव

Lok Sabha Elections Result: कहा जाता है कि हरियाणा में जो दल या गठबंधन ज्यादा सीटें जीतता है, केंद्र में उसकी सरकार बनने की प्रबल संभावनाएं रहती हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
चंडीगढ़ | Updated: April 24, 2024 13:55 IST
उत्तर भारत के इस राज्य में जो जीतता है ज्यादा सीटें  केंद्र में बनती है उसकी ही सरकार  यहां बीजेपी अकेले लड़ रही चुनाव
जो हरियाणा में जीतेगा ज्यादा सीटें, केंद्र में वही बनाएगा सरकार (PTI Image)
Advertisement

Haryana Lok Sabha Chunav: लोकसभा चुनाव 2024 का आगाज हो चुका है। देश के 21 राज्यों की 102 लोकसभा सीटों पर प्रथम चरण में मतदान हो चुका है। दूसरे चरण में 13 राज्यों की 89 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होनी है। उत्तर भारत के राज्य हरियाणा की सभी दस लोकसभा सीटों पर छठे चरण में 25 मई को वोटिंग होगी। हरियाणा की दस लोकसभा सीटें इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि जो भी दल या गठबंधन हरियाणा में ज्यादा सीटें जीतता है, केंद्र में उसकी ही सरकार बनती है।

हरियाणा राज्य के पिछले 14 लोकसभा चुनावों के परिणाम पर नजर डालें तो 13 बार यह बात सही साबित होती नजर भी आती है। दरअसल साल 1967 से हरियाणा में जो दल या गठबंधन ज्यादा सीटें जीतता है, केंद्र में भी उसकी सरकार बनती है। इन आंकड़ों में साल 1998 लोकसभा का परिणाम अपवाद नजर आता है।

Advertisement

हरियाणा में पिछले लोकसभा चुनाव (2019) में बीजेपी ने सभी दस सीटों पर जीत दर्ज की थी। इससे पहले साल 2014 में बीजेपी मोदी लहर पर सवार होकर यहां सात सीटों पर परचम लहराने में कामयाब रही थी। इन दोनों ही चुनावों में केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मोदी सरकार बनी।

इससे पहले साल 2009 और साल 2004 में कांग्रेस पार्टी को हरियाणा में प्रचंड जीत मिली थी। इन दोनों ही लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी को हरियाणा में 9 सीटों पर जीत हासिल हुई थी और केंद्र में मनमोहन सिंह के नेतृत्व में यूपीए सरकार का गठन हुआ था।

Advertisement

साल 1996 और 1999 के लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी थी। साल 1996 में हरियाणा में बीजेपी और उसकी सहयोगी हरियाणा विकास पार्टी ने सात सीटों पर जीत दर्ज की थी, साल 1999 में बीजेपी और उसकी सहयोगी इनेलो ने राज्य की सभी दस सीटों पर जीत दर्ज की थी।

Advertisement

हरियाणा में इस बार कैसा है माहौल?

हरियाणा में इस बार बीजेपी लोकसभा चुनाव 2024 अकेले लड़ रही है। यहां कांग्रेस पार्टी से उसका सीधा मुकाबला बताया जा रहा है। हरियाणा की राजनीति पर नजर रखने वाले पत्रकारों की मानें तो यहां बीजेपी के पुराने दोस्त इनेलो और जेजेपी यहां सिर्फ एक या दो सीटों पर ही किसी भी पार्टी का खेल बिगाड़ने में सक्षम हैं।

यहां बीजेपी सभी दस लोकसभा सीटों पर अपने कैंडिडेट घोषित कर चुकी है जबकि कांग्रेस पार्टी में अभी मंथन ही जारी है। बीजेपी के दिग्गज और अब हरियाणा के सुपर सीएम कहे जा रहे मनोहर लाल खट्टर और राज्य के सीएम नायब सिंह सैनी राज्य की सभी दस लोकसभा सीटों पर कई-कई बार रैलियां कर चुके हैं।

हरियाणा में बीजेपी ने इस बार दस में से छह प्रत्याशी बदल दिए हैं। पार्टी ने कुरुक्षेत्र से नवीन जिंदल, सिरसा से अशोक तंवर, हिसार से रणजीत चौटाला, अंबाला से बंटो कटारिया, करनाल से मनोहर लाल खट्टर को टिकट दिया है। राज्य में बीजेपी पीएम मोदी ने नाम और काम के अलावा राम मंदिर के नाम पर भी वोट मांग रही है जबकि कांग्रेस सहित विपक्षी दल किसान, रोजगार और महंगाई पर फोकस कर रहे है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो