scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'जिनके शासन में 85 संशोधन हो चुके, वे हम पर संविधान बदल देने का लगा रहे आरोप', राजनाथ का कांग्रेस पर बड़ा हमला

उन्होंने कहा, 'मुझे विश्वास है कि लोग बहुत जागरूक हैं। भारतीय पिछले 75 वर्षों से अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे हैं और वे गलत सूचना के शिकार नहीं होने वाले हैं। उन्हें गुमराह नहीं किया जा सकता। विपक्ष ने जो भी झूठ फैलाया है, हम उसे दूर करने का प्रयास कर रहे हैं।'
Written by: लिज़ मैथ्यू , Amrita Dutta , पी वैद्यनाथन अय्यर | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: May 05, 2024 10:36 IST
 जिनके शासन में 85 संशोधन हो चुके  वे हम पर संविधान बदल देने का लगा रहे आरोप   राजनाथ का कांग्रेस पर बड़ा हमला
केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। (पीटीआई)
Advertisement

राजनाथ सिंह ने कहा है कि चुनाव अभियान के दौरान वे जनता के बीच ज्यादातर पिछले 10 वर्षों में सरकार के प्रदर्शन और सरकार की कल्याणकारी पहलों और प्रधानमंत्री के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हासिल नई ऊंचाइयों के बारे में बताते हैं। सरकार की सामाजिक कल्याण योजनाओं का जनता में बहुत प्रभाव है। उन्होंने कहा कि जमीनी स्तर पर लोग भी इन तथ्यों से अवगत हैं। वैश्विक मंच पर भारत की स्थिति को लेकर लोगों में गर्व की भावना है। मतदान का प्रतिशत बहुत कम नहीं है। यह 66-67 प्रतिशत के आसपास रहता है। ऐसा लगता है कि लोगों का भारतीय इंडिया गुट के विकल्प पर से विश्वास उठ गया है।

कांग्रेस ने संविधान की आत्मा ही बदल दिया

उन्होंने कहा कि विपक्ष अपने समर्थकों को वोट लेने के लिए बाहर निकालने में सक्षम नहीं है। उनके समर्थकों को लगा होगा कि उनके वोट बर्बाद हो जायेंगे। वे केवल नकारात्मक मुद्दे उठा रहे हैं, जो मतदाताओं के बीच भ्रम पैदा करते हैं। वे संविधान बदलने की बात कर रहे हैं, लेकिन आजाद भारत के इतिहास पर नजर डालें तो कांग्रेस के शासनकाल में ही संविधान में 85 संशोधन किए गए। उन्होंने लोकतंत्र का गला घोंट दिया और आपातकाल की घोषणा कर दी। संविधान सभा ने महीनों तक प्रस्तावना पर चर्चा की। यह संविधान की आत्मा है लेकिन उन्होंने इसे भी बदल दिया।

Advertisement

बड़ी गलती करने वाले दूसरों पर दोष मढ़ रहे हैं

राजनाथ बोले- इतनी बड़ी गलती करने के बाद अब वे हम पर दोष मढ़ने की कोशिश कर रहे हैं? हमने क्या किया है? वे कह रहे हैं कि हमने लोकतंत्र का गला घोंट दिया है; यह वे ही थे जिन्होंने यह किया। हमें जेल में डाल दिया गया। मैं 18 महीने तक जेल में रहा, जिनमें से दो महीने से अधिक एकान्त कारावास में था। मेरी मां की मृत्यु पर भी मुझे पैरोल नहीं दी गई।

केंद्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि कांग्रेस को जनता के सामने खेद व्यक्त करना चाहिए। संविधान में समय-समय पर बदलाव हो सकते हैं, लेकिन प्रस्तावना में नहीं। आपने मौलिक अधिकारों का गला घोंट दिया और उन्हें निलंबित कर दिया। स्वतंत्र भारत के इतिहास में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था। आपने इसे अफवाहें कहा, क्या आपको लगता है कि इससे आपकी संभावनाओं पर असर पड़ेगा?

Advertisement

उन्होंने कहा, "मुझे विश्वास है कि लोग बहुत जागरूक हैं। भारतीय पिछले 75 वर्षों से अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे हैं और वे गलत सूचना के शिकार नहीं होने वाले हैं। उन्हें गुमराह नहीं किया जा सकता। विपक्ष ने जो भी झूठ फैलाया है, हम उसे दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। चुनाव लड़ना है तो मुद्दों पर लड़ो, राजनीति में लोगों को गुमराह करना या उनके साथ धोखाधड़ी करना स्वीकार्य नहीं है।"

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो