scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

AAP कांग्रेस को दिल्ली में 3 लोकसभा सीटें देने के लिए राजी! हरियाणा, गुजरात और गोवा में कर दी ये डिमांड

Lok Sabha Elections 2024: आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत शुरू हो गई है। आप दिल्ली और पंजाब में कांग्रेस को सीट देने के लिए राजी तो है लेकिन वह अन्य राज्यों में इसके बदले डिमांड कर रही है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: January 09, 2024 00:01 IST
aap कांग्रेस को दिल्ली में 3 लोकसभा सीटें देने के लिए राजी  हरियाणा  गुजरात और गोवा में कर दी ये डिमांड
कांग्रेस और आप के बीच शुरू हुआ बैठकों का दौर (PTI Image)
Advertisement

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी सीट शेयरिंग में सफलता हासिल कर पाएंगे या नहीं, इस पर सभी की नजर है। अब खबरें ये हैं कि दोनों दलों के बीच कई राज्यों में सीट बंटवारे को लेकर बैठकों का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस की तरफ से जहां मीटिंग में मुकुल वासनिक और अशोक गहलोत जैसे नेता हिस्सा ले रहे हैं तो वहीं आम आदमी पार्टी का पक्ष संदीप पाठक, आतिशी और सौरभ भारद्वाज की यंग ब्रिगेड रख रही है।

दोनों दलों के नेताओं के बीच मीटिंग में क्या बात हुई, इसपर आधिकारिक तौर पर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है लेकिन विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि राजधानी नई दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस को तीन लोकसभा सीटें ऑफर की हैं। दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस दोनों में से किसी भी दल के पास एक भी लोकसभा सांसद नहीं है।

Advertisement

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि आम आदमी पार्टी दिल्ली की तीन सीटों के बदले में गुजरात, हरियाणा और गोवा में कांग्रेस पार्टी से ऐसे व्यवहार की अपेक्षा कर रही है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि आम आदमी पार्टी कांग्रेस से गुजरात में एक, हरियाणा में तीन और गोवा में एक लोकसभा सीट चाहती है।कांग्रेस के सामने यह डिमांड भी कर दी गई है। इसपर दोनों दलों के नेताओं की तरफ से अगली मीटिंग की बात सामने आई है।

पंजाब में कांग्रेस को 6 सीटें देने के लिए राजी AAP

इसके अलावा खबर ये भी है कि पंजाब की सत्ता में काबिज आप ने कांग्रेस को 13 लोकसभा सीटों में से 6 लोकसभा सीटों की पेशकश की है। गौर करने वाली बात ये है कि पंजाब में लोकल लेवल पर दोनों ही दल एक-दूसरे से गठबंधन का विरोध कर रहे हैं। बैठक से यह भी जानकारी सामने आई है कि इंडिया गठबंधन आने वाले दिनों में एक दफ्तर की स्थापना कर सकता है, जहां आगे की मीटिंग्स और चर्चाएं आयोजित की जा सकेंगी।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो