scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पंजाब में इन चार सीटों को लेकर आम आदमी पार्टी में माथापच्ची

लुधियाना में पार्टी उद्योगपति और राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा को मैदान में उतारना चाहती थी, लेकिन समझा जाता है कि उन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है।
Written by: कंचन वासदेव | Edited By: Bishwa Nath Jha
Updated: March 20, 2024 14:03 IST
पंजाब में इन चार सीटों को लेकर आम आदमी पार्टी में माथापच्ची
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

पंजापब में अकेले चुनाव लड़ने का इरादा लेकर मैदान में उतरी सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) आठ लोकसभा उम्मीदवारों को तो मैदान में उतार चुकी है, लेकिन बची पांच सीटों में से चार पर उपयुक्त उम्मीदवारों के नाम तय करना अब चुनौतीपूर्ण हो गया है। आप को पहली सूची में भी पांच मंत्रियों, एक पंजाबी गायक, एक पूर्व कांग्रेस विधायक पर दांव लगाना पड़ा था।

इनमें स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह को पटियाला से, कृषि मंत्री गुरमीत सिंह खुडियां को बठिंडा से, कुलदीप सिंह धालीवाल को अमृतसर से, लालजीत सिंह भुल्लर को खडूर साहिब से, गुरमीत सिंह मीत हेयर को संगरूर से, पूर्व कांग्रेस विधायक गुरप्रीत सिंह जीपी को फतेहगढ़ साहिब से मैदान में उतारा है। फरीदकोट से पंजाबी फिल्मों के कलाकार करमजीत अनमोल को टिकट दिया गया है।

Advertisement

अनमोल पहले से ही फरीदकोट में बाहरी होने के ठप्पे का सामना कर रहे हैं क्योंकि वे संगरूर से हैं, लेकिन पार्टी उन्हें संगरूर से मैदान में नहीं उतारना चाहती थी, क्योंकि संगरूर सामान्य सीट है और अनमोल को एससी-आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारा गया है। कुछ दिन पहले, आप में शामिल हुए एक और कांग्रेस नेता होशियारपुर से मौजूदा विधायक राज कुमार चब्बेवाल को होशियारपुर से उम्मीदवार बनाए जाने की संभावना है, लेकिन बाकी चार निर्वाचन क्षेत्रों में अभी पेंच फंसा हुआ है। इनमें गुरदासपुर, आनंदपुर साहिब, लुधियाना और फिरोजपुर शामिल हैं।

आनंदपुर साहिब में आप के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने टिकट पर अपना दावा ठोका है। हालांकि पार्टी ने अभी तक उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया है। एक अन्य प्रवक्ता दीपक बाली भी दौड़ में आगे हैं। पता चला है कि पार्टी एक हिंदू चेहरे और एक सिख के बीच बहस कर रही है। आनंदपुर साहिब में पार्टी टेलीफोन पर सर्वे कर रही है और इसमें दीपक बाली, मालविंदर कंग और नरिंदर शेरगिल के नामों पर सर्वे किया जा रहा है।

Advertisement

लुधियाना में पार्टी उद्योगपति और राज्यसभा सदस्य संजीव अरोड़ा को मैदान में उतारना चाहती थी, लेकिन समझा जाता है कि उन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। सूत्रों ने कहा कि पार्टी फिर से यहां सर्वेक्षण करा रही है। गुरदासपुर में पार्टी को उपयुक्त उम्मीदवार नहीं मिल पा रहा है। गुरदासपुर के अधिकांश विधानसभा क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व भाजपा और कांग्रेस की ओर से किया जाता है। इसी तरह, फिरोजपुर में पार्टी किसी राय सिख की तलाश में है लेकिन जलालाबाद के विधायक जगदीप सिंह कंबोज के नाम पर पर विचार किया जा रहा है।

Advertisement

पिछले दो चुनावों की बात करें तो आप की लोकसभा में मौजूदगी में पंजाब ही प्रमुख रहा है। दस साल पहले, 2014 के लोकसभा चुनाव में आप ने चार सीटें जीती थीं। तब भगवंत मान संगरूर से, धर्मवीर गांधी पटियाला से, साधु सिंह फरीदकोट से और हरिंदर सिंह खालसा फतेहगढ़ साहिब से सांसद चुने गए थे। 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने संगरूर सीट जीती थी और भगवंत मान सांसद बने थे।

हालांकि प्रदेश में आप को बहुमत मिलने और मुख्यमंत्री बनने के बाद भगवंत मान ने यह सीट छोड़ दी थी। इसके बाद यहां उपचुनाव हुआ तो पार्टी ने यह सीट भी गंवा दी। हालांकि पिछले साल जलंधर सीट पर हुए उपचुनाव में आप के सुशील कुमार रिंकू फिर सांसद बने और लोकसभा में पहुंचे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो