scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: बागपत में भिड़े RLD-BJP कार्यकर्ता, मामला बढ़ता देख भागे जयंत चौधरी के प्रत्याशी

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बीजेपी और राष्ट्रीय लोकदल के बीच गठबंधन हुआ है लेकिन यह जमीन पर कारगर होता नहीं दिख रहा है। आए दिन दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत की खबरें सामने आ रही है।
Written by: अमित शर्मा
नई दिल्ली | Updated: March 29, 2024 17:53 IST
lok sabha elections  बागपत में भिड़े rld bjp कार्यकर्ता  मामला बढ़ता देख भागे जयंत चौधरी के प्रत्याशी
लोकसभा चुनाव 2024 के लिए रालोद के प्रत्याशी (सोर्स - एक्सप्रेस फोटो/File)
Advertisement

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024) को लेकर पिछले महीने ही एनडीए (NDA) के साथ जाकर आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी ने समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव को बड़ा झटका दिया था। जयंत लगातार बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी करते रहे हैं लेकिन सवाल यह है कि क्या बीजेपी और आरएलडी के बीच गठबंधन का असर जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं के बीच भी हुआ है। इसका एक नया मामला सामने आया है जहां बागपत में आरएलडी बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत हो गई, और इसके चलते आरएलडी के प्रत्याशी को घटनास्थल छोड़कर भागना पड़ा।

दरअसल, बागपत के एक गांव में बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने रालोद प्रत्याशी डॉक्टर राजकुमार सांगवान को चाय पर इनवाइट किया था, जिसके बाद राष्ट्रीय लोकदल के कई कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर बीजेपी नेताओं पर हमला बोल दिया और लाठियां भी चला दीं। ऐसे में सांगवान को वह घर छोड़कर तुरंत ही भागना पड़ा।

Advertisement

ध्यान देने वाली बात यह है कि आरएलडी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत का यह मामला पहली बार नहीं है बल्कि ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है। कुछ दिन पहले एक बैठक के दौरान आरएलडी नेताओं ने मोदी योगी जिंदाबाद के नारे लगाने से इनकार किया था, जिसके चलते दोनों ही दलों के कार्यकर्ता भिड़ गए थे।

दोनों सहयोगी दलों के कार्यकर्ता भिड़े

कुछ ऐसा ही गुरुवार को जयंत चौधरी के प्रत्याशी सांगवान के साथ तिलवाड़ा गांव में हुआ था। दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता मौजूद थे। जब वे बीजेपी नेता के घर परर चाय पीने पहुंचे तो उसी दौरान आरएलडी के नेताओं ने आपत्ति जताई थी और फिर बात झड़प तक पहुंच गई। नतीजतन, लोगों को कंट्रोल करने के लिए पुलिस तक बुलानी पड़ी थी।

Advertisement

इस मामले को लेकर बीजेपी के जिला ईकाई के प्रमुख वेदपाल उपाध्याय ने कहा कि रालोद नेतृत्व को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए क्योंकि बागपत जिले में कुछ दिनों के भीतर ऐसी स्थिति पैदा हुई है। गठबंधन प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित करने के लिए यह अच्छा संकेत नहीं है। मैं इस मुद्दे को उच्च अधिकारियों के समक्ष उठाऊंगा।

दूसरी ओर इस घटना पर बड़ौत के ही पुलिस उपधीक्षक सविरत्न गौतम ने कहा कि हमें बताया गया था कि राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता झड़प में शामिल हैं, इसके चलते पुलिस की एक टीम को तिलवाड़ा भेजा गया था और फिर मामले को शांत कराकर केस दर्ज कर लिया गया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो