scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लोकसभा चुनाव से पहले BJP तैनात करेगी 10,000 से अधिक 'नमो योद्धा', ये होगी जिम्मेदारी

सूत्रों के मुताबिक, यह पहल मतदाता तक पहुंच के साथ-साथ स्थानीय मुद्दों को उजागर करने के अलावा बीजेपी को शहर में आम आदमी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन को निशाना बनाने का पहला मौका भी प्रदान करेगी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: March 02, 2024 13:42 IST
लोकसभा चुनाव से पहले bjp तैनात करेगी 10 000 से अधिक  नमो योद्धा   ये होगी जिम्मेदारी
शुक्रवार को दिल्ली में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। (Express File Photo)
Advertisement

बीजेपी लोकसभा चुनाव से पहले 10,000 से अधिक 'नमो योद्धाओं' को तैनात करेगी। इन योद्धाओं का काम केंद्रीय कल्याण योजना के लाभार्थियों से प्रशंसापत्र एकत्र करने से लेकर आम आदमी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन पर हमला करने वाले लेख लिखना होगा। बीजेपी राजधानी में लोकसभा चुनावों के लिए अपने ऑनलाइन और ऑफलाइन अभियान के बीच अंतर को खत्म करेगी।

चुनाव को लेकर पार्टी ने कई तरह की बनाईं रणनीतियां

चुनाव को लेकर पार्टी ने कई तरह की रणनीतियां बनाई हैं। इनमें वालंटियर्स को तैनात करने से लेकर जनता के मुद्दों को उठाने तक का काम है। मतदान केंद्र स्तर तक सोशल मीडिया एनफ्लूएंसर्स और स्वयंसेवकों को शामिल करने जा रही पार्टी ने कहा कि कार्यक्रम के लिए चुने गए लोग पहले "प्रत्येक मतदाता तक पहुंचने" का प्रयास करेंगे। फिर चुनावों से पहले सड़कों से डिजिटल क्षेत्र तक "पॉजीटिव और नेगेटिव दोनों तरह की प्रतिक्रिया" को देखेंगे।

Advertisement

शहर के कोने-कोने में जाएंगे ये नमो योद्धा

दिल्ली बीजेपी के सोशल मीडिया प्रमुख रोहित उपाध्याय ने कहा, “नमो वारियर्स शहर के प्रत्येक कोने में जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई उज्ज्वला योजना, पीएमएवाई आदि जैसी केंद्रीय कल्याणकारी योजनाओं के पॉजीटिव प्रभाव के प्रशंसापत्र इकट्ठा करेंगे, जिनका लाभ राजधानी के लोगों को मिला है, साथ ही दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार की उपेक्षा के कारण उनके सामने आने वाली समस्याओं को उजागर करें।''

सूत्रों के मुताबिक, यह पहल मतदाता तक पहुंच के साथ-साथ स्थानीय मुद्दों को उजागर करने के अलावा बीजेपी को शहर में आम आदमी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन को निशाना बनाने का पहला मौका भी प्रदान करेगी।

Advertisement

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यह न केवल दोनों पार्टियों के वोट शेयर के संभावित एकीकरण को "संयुक्त लूट" के बराबर करने के इर्द-गिर्द घूमेगा, जो उन्होंने शहर में शासन के दौरान किया था, बल्कि साथ ही AAP-कांग्रेस गठबंधन के नेताओं के विधानसभा क्षेत्रों के "हालात को भी उजागर" करेगा।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो