scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Elections: पत्नी के जरिए बिहार में हनक बरकरार रखना चाहते हैं 'बाहुबली', जानिए कौन-कौन चुनाव मैदान में

Bihar Lok Sabha Elections: बिहार की सियासत में बाहुबलियों का कितना हस्तेक्षप है, वह हर चुनाव में महसूस किया जाता है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: March 29, 2024 18:29 IST
lok sabha elections  पत्नी के जरिए बिहार में हनक बरकरार रखना चाहते हैं  बाहुबली   जानिए कौन कौन चुनाव मैदान में
बिहार में इस बार कई बाहुबलियों ने अपनी पत्नी को मैदान में उतारा हुआ है। (Jansatta Image)
Advertisement

जाति और बाहुबल की राजनीति के लिए पहचाने जाने वाले बिहार में इस बार लोकसभा में कई बाहुबलियों ने अपनी पत्नियों को चुनाव मैदान में उतारा हुआ है। बिहार की राजनीति पर कंट्रोल रखने के लिए कभी राजद प्रमुख लालू यादव ने अपनी पत्नी राबड़ी देवी को राज्य का सीएम बना दिया था। ठीक इसी तरह के वर्तमान लोकसभा चुनाव में अपने इलाके की राजनीति पर कंट्रोल रखने के लिए कई बाहुबलियो ंने अपनी पत्नियों को चुनाव मैदान में उतारा हुआ है।

आइए आपको रूबरू करवाते हैं बिहार के उन बाहुबलियो ंसे जो अपनी पत्नी के जरिए सत्ता के गलियारों में अपनी हनक बरकरार रखने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement

आनंद मोहन - लवली मोहन

कभी डॉन के रूप में पहचाने जाने वाले आनंद मोहन अब बिहार की सियासत का बड़ा नाम हैं। उनकी पत्नी लवली आनंद शिवहर से सांसद रह चुकी हैं। इस चुनाव में भी वह जदयू के टिकट पर किस्मत आजमा रही हैं। आनंद मोहन साल 1996 और 1998 में शिवहर लोकसभा सीट के सांसद चुने गए थे।

वह गोपालगंज के डीएम जी कृष्णैया के मर्डर मामले में 16 साल की सजा काट पिछले साल अप्रैल में ही जेल से बाहर आए हैं।

Also Read
Advertisement

आनंद मोहन की रिहाई नीतीश कुमार की सरकार द्वारा जेल मैनुअल में बदलाव के बाद संभव हो सकी। नियमों के अनुसार, आनंद मोहन इसलिए चुनाव नहीं लड़ सकते क्यों कि वो दो साल से अधिक समय तक जेल में बंद थे। नियम दो साल जेल में बिताने वाले कैदी को रिहाई के छह साल बाद तक चुनाव लड़ने से रोकते हैं।

Advertisement

अवधेश मंडल - बीमा भारती

अवधेश मंडल पूर्णिया इलाके में दबंग माने जाते हैं। उनकी पत्नी बीमा भारती पांच बार की सांसद और पूर्व मंत्री हैं। वह राजद के टिकट पर पूर्णिया लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ रही हैं। वह जदयू छोड़कर राजद में शामिल हुई हैं। अवधेश मंडल के खिलाफ 12 क्रिमनल मामले हैं, जिनमें मर्डर और किडनैपिंग शामिल है।

रमेश कुशवाहा - विजयलक्ष्मी देवी

रमेश कुशवाहा की पत्नी विजयलक्ष्मी देवी सिवान लोकसभा सीट से प्रत्याशी हैं। उन्हें जदयू ने टिकट दिया है। रमेश कुशवाहा CPI-ML से जुड़े रहे हैं, उन्होंने सुर्खियां तब बंटोरी जब उनके दावारा साल 1997 में JNU छात्र नेता चन्द्रशेखर प्रसाद की हत्या के सिलसिले में सीवान के तत्कालीन डॉन से सांसद बने मोहम्मद सहाबुद्दीन के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई।

जदयू में आने से पहले रमेश कुशवाहा राजद और रालोसपा में रहे। फिलहाल सिवान लोकसभा सीट की सांसद जदयू नेता कविता सिंह हैं। उनके पति अजय सिंह को भी कभी डॉन माना जाता था।

मुकेश यादव - अर्चना रविदास

राजद नेता मुकेश यादव की पत्नी अर्चना राजद के टिकट से जमुई लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं। उनका मुकाबला लोजपा (रामविलास) के अरुण भारती से है। अरुण भारती चिराग पासवान के बहनोई हैं। अर्चना मुकाबले जीतने के लिए जनता के बीच लोकल बनाम बाहरी विषय पर बात कर रही हैं।

अशोक महतो- अनीता

नावादा के बाहुबली माने जाने वाले अशोक महतो ने अपनी पत्नी कुमारी अनिता को राजद के टिकट पर चुनाव लड़वा रहे हैं। वह मुंगेर से चुनाव मैदान में है। महतो 17 साल जेल में बिताने के बाद बाहर आए हैं इसलिए वो खुद चुनाव नहीं लड़ सकते। उन्होंने हाल ही में अनीता से शादी की है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो