scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

एडीआर रिपोर्ट: छठे चरण के चुनाव में 121 उम्मीदवारों ने खुद को बताया निरक्षर

आंकड़ों से पता चलता है कि 647 उम्मीदवारों ने अपनी शिक्षा का स्तर 8वीं कक्षा तक बताया है। वहीं, 1,303 उम्मीदवारों ने खुद को 12वीं कक्षा उत्तीर्ण घोषित किया है और 1,502 उम्मीदवारों के पास स्रातक की डिग्री है।
Written by: जनसत्ता | Edited By: Bishwa Nath Jha
नई दिल्ली | Updated: May 24, 2024 12:14 IST
एडीआर रिपोर्ट  छठे चरण के चुनाव में 121 उम्मीदवारों ने खुद को बताया निरक्षर
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो -(सोशल मीडिया)।
Advertisement

लोकसभा चुनाव लड़ रहे लगभग 121 उम्मीदवारों ने खुद को निरक्षर घोषित किया है और 359 ने कहा है कि उन्होंने 5वीं कक्षा तक पढ़ाई की है। एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) द्वारा साझा की गई रिपोर्ट के विश्लेषण से यह जानकारी मिली।

Advertisement

आंकड़ों से पता चलता है कि 647 उम्मीदवारों ने अपनी शिक्षा का स्तर 8वीं कक्षा तक बताया है। वहीं, 1,303 उम्मीदवारों ने खुद को 12वीं कक्षा उत्तीर्ण घोषित किया है और 1,502 उम्मीदवारों के पास स्रातक की डिग्री है। विश्लेषण के अनुसार, डाक्टरेट वाले 198 उम्मीदवार हैं। एडीआर ने लोकसभा चुनाव लड़ रहे 8,360 उम्मीदवारों में से 8,337 की शैक्षणिक योग्यता का विश्लेषण किया है।

Advertisement

चुनाव के पहले चरण में, 639 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच बताई, जबकि 836 उम्मीदवार स्रातक स्तर या उससे अधिक पढे लिखे हैं। इसके अतिरिक्त, 36 उम्मीदवारों ने खुद को सिर्फ साक्षर घोषित किया, 26 ने निरक्षर और चार ने अपनी शैक्षणिक योग्यता का खुलासा नहीं किया।

दूसरे चरण के दौरान, 533 उम्मीदवारों ने अपनी शिक्षा का स्तर 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच घोषित किया, जबकि 574 उम्मीदवारों ने स्रातक या उच्चतर शिक्षा प्राप्त होने की सूचना दी। वहीं 37 उम्मीदवारों ने खुद को सिर्फ साक्षर, आठ ने निरक्षर और तीन ने अपनी शैक्षणिक योग्यता नहीं बताई। तीसरे चरण में, 639 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच बताई, जबकि 591 उम्मीदवारों ने खुद को स्रातक या उच्चतर शिक्षित बताया। इसके अतिरिक्त, 56 सिर्फ साक्षर हैं और 19 निरक्षर हैं।

Advertisement

तीन उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता का खुलासा नहीं किया। चौथे चरण के लिए, 644 उम्मीदवारों ने अपनी शिक्षा का स्तर 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच घोषित किया, जबकि 944 ने स्रातक या उच्चतर बताया। तीस उम्मीदवारों ने खुद को सिर्फ साक्षर बताया और 26 ने निरक्षर बताया। पांचवें चरण में, 293 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच बताई, जबकि 349 ने खुद को स्रातक या उच्च डिग्री वाला बताया। लगभग 20 उम्मीदवार सिर्फ साक्षर हैं और पांच निरक्षर हैं।

Advertisement

दो उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता का खुलासा नहीं किया। छठे चरण में, 332 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच घोषित की, जबकि 487 ने स्रातक या उच्चतर शिक्षा प्राप्त बताया है। 22 डिप्लोमा धारक हैं, 12 उम्मीदवार सिर्फ साक्षर हैं और 13 निरक्षर हैं। सातवें चरण में, 402 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 5वीं और 12वीं कक्षा के बीच बताई, जबकि 430 ने खुद को स्रातक या उच्चतर शिक्षित बताया। 20 डिप्लोमा धारक हैं, 26 उम्मीदवार साक्षर हैं और 24 निरक्षर हैं। दो उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षणिक योग्यता का खुलासा नहीं किया।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो