scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Electoral Bonds: 5 कंपनियों में से Future Gaming and Hotel Services समेत 3 पर पड़ चुका आयकर विभाग का छापा

Electoral Bonds: निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को अपनी वेबसाइट पर चुनावी बॉन्ड (electoral bonds) के आंकड़े सार्वजनिक कर दिये। सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने यह जानकारी साझा करने के लिए आयोग को 15 मार्च तक की समय सीमा दी थी। स्टील कारोबारी लक्ष्मी मित्तल (laxmi mittal) से लेकर अरबपति सुनील भारती मित्तल (sunil bharti mittal) की एयरटेल, अनिल अग्रवाल (anil agarwal) की वेदांता, आईटीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा (mahindra and mahindra) से लेकर कम प्रसिद्ध फ्यूचर गेमिंग और होटल सर्विसेज अब रद्द किए जा चुके चुनावी बॉन्ड (electoral bonds) के प्रमुख खरीदारों में शामिल थे। ईडी (ed) ने 2019 की शुरुआत में फ्यूचर गेमिंग के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग जांच शुरू की थी। उस साल जुलाई तक उसने कंपनी से संबंधित 250 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त कर ली थी। 2 अप्रैल 2022 को ईडी (ed) ने मामले में 409.92 करोड़ रुपये की चल संपत्ति कुर्क की थी। इन संपत्तियों की कुर्की के पांच दिन बाद 7 अप्रैल को फ्यूचर गेमिंग ने चुनावी बांड (electoral bonds) में 100 करोड़ रुपये खरीदे। देखिये ये वीडियो...
Written by: Oohini Mukhopadhyay
Updated: March 15, 2024 15:57 IST
Advertisement

Electoral Bonds: निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को अपनी वेबसाइट पर चुनावी बॉन्ड (electoral bonds) के आंकड़े सार्वजनिक कर दिये। सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने यह जानकारी साझा करने के लिए आयोग को 15 मार्च तक की समय सीमा दी थी। स्टील कारोबारी लक्ष्मी मित्तल (laxmi mittal) से लेकर अरबपति सुनील भारती मित्तल (sunil bharti mittal) की एयरटेल, अनिल अग्रवाल (anil agarwal) की वेदांता, आईटीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा (mahindra and mahindra) से लेकर कम प्रसिद्ध फ्यूचर गेमिंग और होटल सर्विसेज अब रद्द किए जा चुके चुनावी बॉन्ड (electoral bonds) के प्रमुख खरीदारों में शामिल थे। ईडी (ed) ने 2019 की शुरुआत में फ्यूचर गेमिंग के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग जांच शुरू की थी। उस साल जुलाई तक उसने कंपनी से संबंधित 250 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त कर ली थी। 2 अप्रैल 2022 को ईडी (ed) ने मामले में 409.92 करोड़ रुपये की चल संपत्ति कुर्क की थी। इन संपत्तियों की कुर्की के पांच दिन बाद 7 अप्रैल को फ्यूचर गेमिंग ने चुनावी बांड (electoral bonds) में 100 करोड़ रुपये खरीदे। देखिये ये वीडियो...

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो