scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

आइआइटी मद्रास ने दाखिले में खेल कोटे को किया शामिल

आइआइटी गांधीनगर ई-मास्टर्स का बारीकी से डिजाइन किया गया पाठ्यक्रम समावेशी, अभिनव और व्यावहारिक है।
Written by: जनसत्ता | Edited By: Bishwa Nath Jha
नई दिल्ली | February 08, 2024 13:07 IST
आइआइटी मद्रास ने दाखिले में खेल कोटे को किया शामिल
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

देश में पहली बार कोई भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) स्नातक दाखिलों में खेल कोटा लागू करने जा रहा है। आइआइटी मद्रास ने शैक्षणिक सत्र 2024-25 बीटेक पाठ्यक्रम में खेल कोटा शुरू करने की घोषणा की है। बीटेक पाठ्यक्रम में सीट संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) एडवांस की योग्यता के आधार पर ही मिलेगी।

स्पोर्ट्स एक्सीलेंस एडमिशन (एसईए) के तहत स्नातक पाठ्यक्रमों में दो अतिरिक्त सीटें जोड़ी जाएंगी। इसमें प्रति स्नातक पाठ्यक्रम में एक सीट लड़कियों के लिए होगी। खेल कोटे में केवल भारतीय नागरिकों को ही सीट मिलेगी। आइआइटी मद्रास के बीटेक पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए सबसे पहले जेईई एडवांस 2024 की योग्यता में सफल होना जरूरी होगा।

Advertisement

जेईई एडवांस 2024 की योग्यता सूची के बाद खेल कोटे की सूची तैयार होगी। इसके तहत चार साल में किसी भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिता में कम से कम एक पदक जीता हो। खेल कोटे की सीट सभी आइआइटी में दाखिले के लिए आनलाइन सीट आबंटन करने वाले जोशा पोर्टल के माध्यम से नहीं मिलेगी। इसके लिए अगल से आइआइटी मद्रास पोर्टल बनाएगा। यहां एक-एक अलग ‘स्पोर्ट्स रैंक लिस्ट’ (एसआरएल) तैयार की जाएगी। उम्मीदवारों को खेलों की एक विशिष्ट सूची में उनके प्रदर्शन के आधार पर चुना जाएगा।

आइआइटी गांधीनगर ने ‘डेटा साइंस फार डिसीजन मेकिंग’ शुरू किया

आज की तेजी से विकसित हो रही डिजिटल दुनिया में, उच्च प्रभाव वाले निर्णय लेने के लिए डेटा अब वैश्विक व्यापार के केंद्र में है। तेजी से बढ़ रहे इस अहम क्षेत्र और कुशल डेटा वैज्ञानिकों की बढ़ती मांग के अनुरूप, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) गांधीनगर ने ‘डेटा साइंस फार डिसीजन मेकिंग’ के रूप में अपना दूसरा ई-मास्टर्स डिग्री पाठ्यक्रम शुरू किया है और मई 2024 से शुरू होने वाले इसके पहले बैच के लिए प्रवेश पोर्टल खोला है।

Advertisement

आइआइटी गांधीनगर ई-मास्टर्स का बारीकी से डिजाइन किया गया पाठ्यक्रम समावेशी, अभिनव और व्यावहारिक है। दो-वर्षीय कार्यक्रम को एक लचीली, कार्यकारी-अनुकूल संरचना के साथ डिजाइन किया गया है ताकि उम्मीदवारों को अपनी कार्य प्रतिबद्धताओं को समवर्ती रूप से समायोजित करने में सक्षम बनाया जा सके।

Advertisement

इसमें शाम और सप्ताहांत में ‘लाइव इंटरैक्टिव’ सत्र होंगे और रणनीतिक रूप से सीखने और चचार्ओं के लिए स्व-गति शिक्षण माड्यूल के साथ सहायता मिलेगी। कामकाजी पेशेवर और संबंधित क्षेत्र (जैसे सांख्यिकी/ गणित/ कंप्यूटर विज्ञान/ इंजीनियरिंग/ प्रौद्योगिकी/ विज्ञान/ अर्थशास्त्र/ वाणिज्य) में स्नातक डिग्री वाले छात्र कार्यक्रम पोर्टल पर अपने आवेदन आनलाइन जमा कर सकते हैं।

मई परीक्षा के लिए आइसीएआइ ने आवेदन शुरू किए

इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स आफ इंडिया (आइसीएआइ) ने सीए फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल मई परीक्षा 2024 के लिए पंजीकरण शुरू कर दिए हैं। इच्छुक उम्मीदवारों को आइसीएआइ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा। आइसीएआइ सीए फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल मई परीक्षा 2024 के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि 23 फरवरी है। आवेदन में संपादन या बदलाव तीन से नौ मार्च तक किया जा सकेगा।

समूह-एक के लिए सीए इंटर परीक्षा के लिए पंजीकरण शुल्क 1,500 रुपए और दोनों ग्रुपों के लिए 2,700 रुपए. फाइनल कोर्स परीक्षा के समूह-एक के लिए शुल्क 1,800 रुपए और दोनों ग्रुपों के लिए 3,300 रुपए है। सीए फाउंडेशन परीक्षा के लिए पंजीकरण शुल्क 1500 रुपए है। विलंब शुल्क 600 रुपए के साथ आनलाइन आवेदन फार्म जमा करने की अंतिम तिथि दो मार्च, 2024 है।

कार्यक्रम के अनुसार आइसीएआइ सीए फाउंडेशन परीक्षा 20, 22, 24 और 26 जून को आयोजित की जाएगी। वहीं, समूह-एक के लिए सीए इंटरमीडिएट कोर्स परीक्षा तीन, पांच और सात मई 2024 को और समूह-दो के लिए परीक्षा नौ, 11 और 13 मई, 2024 को आयोजित की जाएगी। समूह-एक के लिए फाइनल कोर्स परीक्षा दो, चार और छह मई, 2024 को और समूह-दो के लिए आठ, 10 और 12 मई, 2024 को आयोजित की जाएगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो