scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Palamu में क्या हुआ? किस वजह से भिड़े दो समूह, जानिए मामले से जुड़ी बड़ी बातें

पलामू के पांकी बाजार कस्बे में हिंसा के बाद पूरी सड़क पर ईंट-पत्थर फैल गये। कई दुकानों को जलाए जाने से स्थानीय लोगों का काफी नुकसान हुआ है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
Updated: February 15, 2023 22:21 IST
palamu में क्या हुआ  किस वजह से भिड़े दो समूह  जानिए मामले से जुड़ी बड़ी बातें
पलामू जिले के पनकी में बुधवार, 15 फरवरी, 2023 को विभिन्न समुदायों के दो समूहों के बीच झड़प के बाद घटनास्थल पर तैनात सुरक्षाकर्मी। (पीटीआई फोटो)
Advertisement

झारखंड के पलामू जिले के पांकी बाजार कस्बे में बुधवार को एक स्वागत द्वार को नुकसान पहुंचाए जाने को लेकर दो समूहों में मारपीट शुरू हो गई। इसके बाद वहां आगजनी और हिंसा फैल गई। घटना में छह लोग घायल हो गए। पलामू के पुलिस अधीक्षक सीके सिन्हा ने बताया कि मौके पर तीन थानों की पुलिस टीमें मौजूद हैं। स्थिति फिलहाल तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। घटना के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। इस बीच ऐहतियातन इंटरनेट सेवा भी बंद करा दी गई है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि झड़प पांकी बाजार में धर्मस्थल के सामने शिवरात्रि उत्सव के लिए स्थापित स्वागत द्वार को नुकसान पहुंचाने के बाद शुरू हुई। झड़प के बाद कस्बे में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। पुलिस अधीक्षक सीके सिन्हा के मुताबिक कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पनकी में पर्याप्त पुलिस बल तैनात हैं। पुलिस इलाके में पैट्रोलिंग कर रही है। इस घटना को यहां प्वाइंटवाइज समझें।

Advertisement

  1. एक धर्मस्थल के सामने शिवरात्रि उत्सव मनाने को लेकर कुछ लोगों ने मंगलवार को तोरण द्वार (स्वागत द्वार) स्थापित किए थे। बुधवार को स्थानीय कुछ उपद्रवियों ने कथित तौर पर तोरण द्वार को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की।
  2. इसके बाद वहां पर पत्थरबाजी शुरू हो गई। धर्मस्थल के बाहर कुछ दुकानों को आग लगा दी गई। आरोप है कि पेट्रोल बम भी फेंके गए, लेकिन पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है।
  3. घटना की सूचना पर पुलिस की कई टीमें मौके पर पहुंची। इस दौरान झड़प में कुछ जवान भी घायल हो गए। मामले में छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
  4. पुलिस ने इलाके मे धारा 144 लगाकर लोगों को सार्वजनिक स्थान प अनावश्यक भीड़ लगाने और एक साथ एक जगह पर बैठने पर रोक लगा दी है।
  5. प्रशासन ने सुरक्षा बनाए रखने के लिए इंटरनेट सेवाएं ठप करा दी हैं। सरकार के गृह विभाग ने टेलीकॉम कंपनियों को आदेश दिया कि 16 फरवरी की शाम चार बजे तक इंटरनेट सेवा बंद रखें।
  6. फिलहाल पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी दोनों समूहों के लोगों से बातचीत करके विवाद शांत कराने और इलाके में शांति-व्यवस्था बनाए रखने की कोशिश में लगे हैं।
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो