scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

हल्द्वानी हिंसा में नहीं हुई बिहार के शख्स की मौत, कांस्टेबल की पत्नी के साथ अफेयर बना हत्या का कारण, कहानी में ट्विस्ट है

हल्द्वानी हिंसा में बिहार के शख्स की मौत नहीं हुई थी। जबकि उसकी हत्या पुलिस सिपाही ने अपने दोस्त के साथ मिलकर की थी।
Written by: AVANEESH MISHRA | Edited By: Jyoti Gupta
Updated: February 16, 2024 14:22 IST
हल्द्वानी हिंसा में नहीं हुई बिहार के शख्स की मौत  कांस्टेबल की पत्नी के साथ अफेयर बना हत्या का कारण  कहानी में ट्विस्ट है
हल्द्वानी हिंसा में नहीं हुई थी बिहार के शख्स की हत्या। (express photo)
Advertisement

उत्तराखंड के हल्द्वानी हिंसा में 6 लोगों के मरने की खबर सामने आई थी। जिसमें बिहार के रहने वाले एक शख्स का भी नाम शामिल था। अब बिहार के शख्स की मौत के पीछे की असली कहानी सामने आई है। दरअसल, बिहार के प्रकाश कुमार सिंह का शव हिंसा वाली जगह से थोड़ी दूरी पर मिली थी। उसके सिर में गोली लगी थी। पुलिस को शुरुआत में लगा कि हिंसा के कारण ही उसकी मौत हुई है। हालांकि जब उसका मोबाइल नंबर खंगाला गया तो हैरान करने वाली कहानी सामने आई।

पुलिस सिपाही की पत्नी के साथ अफेयर बना हत्या का कारण

हमारे सहयोगी इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, प्रकाश का अफेयर एक पुलिस सिपाही की पत्नी के साथ चल रहा था। जानकारी के अनुसार, प्रकाश ने कांस्टेबल की पत्नी को वीडियो लीक करने की धमकी दी और फिर उसे ब्लैकमेल करने लगा। हालांकि कांस्टेबल की पत्नी ने यह बात अपने पति को नहीं बताई। चलिए बताते हैं कि पूरा मामला क्या है।

Advertisement

इस मामले में पुलिस का कहना है कि प्रकाश की हत्या पुलिस कांस्टेबल की पत्नी के साथ कथित संबंध के कारण की गई थी। पुलिस ने आगे कहा कि शुरुआत में ऐसा सोचा गया कि प्रकाश की मौत हिंसा के कारण हुई है। हालांकि उसकी मौत की वजह कुछ और निकली।

मृतक की सूरज नाम के शख्स से थी दोस्ती

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रहलाद नारायण शर्मा मीणा ने कहा, "जब मृतक के मोबाइल नंबर की जांच की गई तो पचा चला कि वह सितारगंज के एक युवक और उत्तराखंड के एक अन्य नंबर के संपर्क में था। वह दो सालों से सूरज नामक शख्स का दोस्त था। वह सूरज के घर जाता था। इस दौरान उसने सूरज की बहन के साथ संबंध बनाए। सूरज की बहन कांस्टेबल बीरेंद्र सिंह की पत्नी है। बाद में वह सिपाही बिरेंद्र की पत्नी को ब्लैकमेल करने लगा। वह सिपाही की पत्नी को वीडियो लीक करने की धमकी देता था। हालांकि पत्नी ने यह बात अपने सिपाही पति को नहीं बताई।"

पुलिस रिपोर्ट के अनुसार, घटना के एक दिन पहले प्रकाश ने कांस्टेबल वीरेंद्र सिंह को फोन किया। जिसके बाद वीरेंद्र सिंह की पत्नी ने सारी कहानी बता दी। इसके बाद वीरेंद्र सिंह ने अपने दोस्त नईम खान उर्फ ​​​​बबलू के साथ मिलकर प्रकाश को मारने की साजिश रची। बीरेंद्र ने अपनी पत्नी के जरिए प्रकाश को हलद्वानी बुलाया।

Advertisement

इसके बाद बीरेंद्र ने बताए गए जगह पर प्रकाश से मिलने पहुंचा और वीडियो डिलीट करने को कहा लेकिन प्रकाश ने इससे इनकार कर दिया। इसके बाद प्रकाश ने अपने दोस्त बबलू के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आगे बताया कि हत्या के आरोपियों पुलिस कांस्टेबल बीरेंद्र सिंह (36), उनके बहनोई सूरज बैन (28), दोस्त प्रेम सिंह (30) और नईम खान (50) को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि अभी बीरेंद्र की पत्नी फरार है। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो