scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

टीचर ने 13 साल की छात्रा का किया दुष्कर्म, फिर रखा शादी का प्रस्ताव, कुछ दिनों बाद पीड़िता… कोर्ट ने सुनाई खौफनाक सजा

गुजरात के सूरत स्पेशल फास्ट ट्रैक कोर्ट (POCSO) ने 13 साल की छात्रा के साथ दुष्कर्म करने वाले शिक्षक को 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने आदेश सुनाते हुए कमेंट किया कि आरोपी ने जो कृत्य किया है कि वह एक शिक्षक और छात्र के रिश्ते पर एक दाग की तरह है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
अहमदाबाद | Updated: January 08, 2024 18:18 IST
टीचर ने 13 साल की छात्रा का किया दुष्कर्म  फिर रखा शादी का प्रस्ताव  कुछ दिनों बाद पीड़िता… कोर्ट ने सुनाई खौफनाक सजा
पीड़िता। (प्रतीकात्मक फोटो)
Advertisement

गुजरात के सूरत स्पेशल फास्ट ट्रैक कोर्ट (POCSO) ने 13 साल की छात्रा के साथ दुष्कर्म करने वाले शिक्षक को 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने आदेश सुनाते हुए कमेंट किया कि आरोपी ने जो कृत्य किया है कि वह एक शिक्षक और छात्र के रिश्ते पर एक दाग की तरह है। आरोपी ने बड़ी गलती की थी क्योंकि शिक्षक को रक्षक की तरह देखा जाता है। वह छात्रों को सिखाता है कि समाज में क्या सही है और क्या गलत। यह उसकी जिम्मेदारी है।

Advertisement

जस्टिस एसएन सोलंकी ने गुरुवार शाम को 2022 के दुष्कर्म व अपहरण मामले में आरोपी पप्पू उर्फ ​​अजीत गुप्ता को दोषी करार दिया। कोर्ट ने यह भी आदेश दिया कि पीड़िता को एक लाख रुपये का मुवाअजा दिया जाना चाहिए।

Advertisement

आदेश में कोर्ट ने कहा कि नाबालिग लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे अपराधों को रोकने के लिए सख्त प्रावधानों वाला कानून बनाया गया है। वहीं बचाव पक्ष ने कोर्ट में कहा था कि आरोपी के परिवार की जिम्मेदारी उसके कंधों पर है। बचाव पक्ष ने कोर्ट से इस आधार पर दोषी की सजा कम करने की अनुरोध की थी। हालांकि कोर्ट ने सजा कम नहीं की।

दरअसल, घटना के वक्त लड़की की उम्र 13 साल और 11 महीने थी। जस्टिस ने अपने फैसले में कहा कि आरोपा शिक्षक एक मैथ टीचर है। वह जानता था कि लड़की सिर्फ 13 साल की है और नाबालिग है। आरोपी ने जो किया वह शिक्षक और छात्र के रिश्ते पर दाग जैसा है। आरोपी ने छात्रा के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे जिसे आसानी से नहीं लिया जा सकता। इससे समाज पर बुरा प्रभाव पड़ता है। आरोपी ने छात्र की मासूमियत का फायदा उठाया।

क्या है पूरी कहानी?

दरअसल, पीड़िता के पिता ने 31 अक्टूबर, 2022 को मामले में शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को मैथ टीचर 25 सितंबर, 2022 को स्कूल के बाद सुनसान जगह पर ले गए जहां उसके साथ बलात्कार किया और फिर उससे शादी करने का प्रस्ताव रखा। लगभग एक महीने बाद, 27 अक्टूबर को लड़की अपने परिवार के साथ ट्रेन से यात्रा कर रही थी। उस समय वह ट्रेन से उतरी और लापता हो गई। उसी रात, शिक्षक ने लड़की के पिता को फोन करके बताया कि वह उसके साथ मध्य प्रदेश के इंदौर में है। पीड़िता के पिता उसे वापस लाने के लिए इंदौर गए।

Advertisement

मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 363 (अपहरण), 366 (अपहरण, अपहरण या महिला को शादी के लिए मजबूर करना), 376 (3) (अधिकार वाले व्यक्ति द्वारा यौन संबंध), और POCSO अधिनियम की धारा 4 और 6 के तहत केस दर्ज किया था। मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट (POCSO) में शुरू हुई। अब कोर्ट ने आरोपी शिक्षक को 20 साल जेल की सजा सुनाई है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो