scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Sandeshkhali News: 55 दिनों से कहां छिपा था 'संदेशखाली का खलनायक' शाहजहां शेख? जानिए कैसे चढ़ा पुलिस के हत्थे; TMC ने किया सस्पेंड

Sandeshkhali Incident: 55 दिनों से कहां छिपा था संदेशखाली का खलनायक शाहजहां शेख। जानिए पुलिस ने उसे कैसे गिरफ्तार किया।
Written by: Jyoti Gupta | Edited By: Jyoti Gupta
कोलकाता | Updated: February 29, 2024 15:28 IST
sandeshkhali news  55 दिनों से कहां छिपा था  संदेशखाली का खलनायक  शाहजहां शेख  जानिए कैसे चढ़ा पुलिस के हत्थे  tmc ने किया सस्पेंड
Shahjahan Sheikh Arrested: शाहजहां शेख कैसे हुआ गिरफ्तार। (PTI)
Advertisement

Shahjahan Sheikh Arrested: TMC ने संदेशखाली मामले के मुख्य आरोपी शेख शाहजहां को छह सालों के लिए सस्पेंड कर दिया है। गुरुवार को टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने इस बात की जानकारी दी। शेख शाहजहां को गुरुवार सुबह उत्तर 24 परगना जिले के मिनाखान में एक घर से गिरफ्तार किया गया। यह जगह संदेशखाली से करीब 30 किलोमीटर दूर है।

शेख शाहजहां पर संदेशखाली में महिलाओं के यौन उत्पीड़न और जमीन हड़पने का आरोप है। वह 55 दिन बाद पुलिस की गिरफ्त में आया। पुलिस ने बताया कि शेख कुछ साथियों के साथ उस घर में छिपा था। वह एक मछली फार्म के बीच गेस्ट हाउस में छुपा था। गिरफ्तार करने के बाद उसे बशीरहाट कोर्ट ले जाया गया। वहीं खबर है कि गिरफ्तारी के बाद TMC ने शाहजहां शेख को 6 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया है।

Advertisement

CID करेगी जांच

मामले में पुलिस के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया कि फिलहाल शाहजहां शेख को कोर्ट ने 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा दिया है। ताजा जानकारी के अनुसार, सीआईडी मामले की जांच करेगी।

कुछ स्थानीय लोगों ने शेख को उत्तर 24 परगना जिले के आस-पास देखने का दावा किया था। प्रदर्शन करने वाले लोगों का कहना था कि शेख को पुलिस का संरक्षण प्राप्त है।

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की एक अदालत ने शाहजहां शेख को गुरुवार को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। दरअसल, मिनाखान से तड़के गिरफ्तारी के बाद शेख को सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर बशीरहाट की अदालत में पेश किया गया। राज्य पुलिस ने शेख को 14 दिन की हिरासत में भेजे जाने का अनुरोध किया था लेकिन अदालत ने 10 दिन की पुलिस हिरासत की मंजूर दी।

Advertisement

मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट के बुधवार को कहा था कि सीबीआई, ईडी या पश्चिम बंगाल पुलिस शेख को गिरफ्तार कर सकती है। इसके 24 घंटे के भीतर ही शेख को हिरासत में ले लिया गया। दरअसल, राज्यपाल सी वी आनंद बोस ने शेख की गिरफ्तारी के लिए सोमवार रात राज्य सरकार को 72 घंटे की ‘‘समयसीमा’’ दी थी।

Advertisement

बार-बार लोकेशन बदल रहा था शेख

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि शेख का पता उसके मोबाइल फोन की ‘‘लोकेशन’’ से चला। उन्होंने कहा, ‘‘शेख समय-समय पर अपना स्थान बदल रहा था। उसके मोबाइल फोन के टावर की ‘लोकेशन’ से उसका पता लगाया गया।’’

मामले में पुलिस ने कहा कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कोलकाता से लगभग 65 किलोमीटर दूर बशीरहाट अदालत में भारी पुलिस बल तैनाती किया गया है। हालात को नियंत्रित करने के लिए संदेशखालि के कुछ हिस्सों में अतिरिक्त बल भी तैनात किया गया है।

असल में मुख्य न्यायाधीश टी.एस. शिवगणनम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने बुधवार को कहा था कि यह देखते हुए कि शेख काफी समय से फरार है ऐसे में पश्चिम बंगाल पुलिस के अलावा सीबीआई और ईडी भी गिरफ्तार कर सकती है’’। हाईकोर्ट ने सोमवार को राज्य पुलिस को उसे गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था।

दर्ज की गई थीं 100 से अधिक शिकायतें

मामले में पुलिस ने बताया कि पिछले कुछ हफ्तों में शेख के खिलाफ 100 से अधिक शिकायतें दर्ज की गईं। इस दौरान उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर महिलाओं के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन हुआ। उन्होंने आगे बताया कि शेख के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376डी (सामूहिक दुष्कर्म) और 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इससे पहले शेख के करीबी सहयोगी शिवप्रसाद हाजरा और उत्तम सरदार को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके अलावा, उसके एक अन्य सहयोगी अजीत मैती को भी जमीन हड़पने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने बताया कि ज्यादातर शिकायतकर्ताओं ने दावा किया कि शाहजहां ने लोगों की जमीन पर कब्जा कर लिया और इलाके की महिलाओं पर अत्याचार किया।

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखालि में पांच जनवरी को लगभग एक हजार लोगों की भीड़ ने ईडी के अधिकारियों पर उस वक्त हमला कर दिया था जब वे राज्य में कथित राशन वितरण घोटाले की जांच के सिलसिले में शेख के परिसर पर छापेमारी के लिए गए थे।

सुवेंदु अधिकारी जा रहे हैं संदेशखाली

पश्चिम बंगाल पुलिस ने उत्तर 24 परगना के रामपुर में बैरिकेडिंग कर दी है। नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी संदेशखाली जा रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने कहा, "यह लोकतंत्र की जीत है।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो