scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rajasthan: रेप के आरोपी ने युवती को मारी गोली, गंडासे से किया हमला; भगवान ने उसी दिन दे दी कर्मों की सजा

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को अस्पताल में पीड़िता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली और परिजनों से बातचीत की।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
जयपुर | Updated: February 26, 2024 21:02 IST
rajasthan  रेप के आरोपी ने युवती को मारी गोली  गंडासे से किया हमला  भगवान ने उसी दिन दे दी कर्मों की सजा
क्राइम सीन। (प्रतीकात्मक फोटो) Freepik photo
Advertisement

राजस्थान के कोटपूतली-बहरोड़ जिले में दुष्कर्म के एक आरोपी और उसके दो साथियों ने रेप पीड़िता को गोली मारी और उस पर गंडासे से हमला कर दिया। इस हमले मे पीड़िता और उसका भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों का जयपुर के सवाई मान सिंह हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

रेप पीड़िता और उसके भाई को आरोपियों द्वारा गोली मारे जाने पर राजस्थान के मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा, "राजस्थान में बेटियों के साथ ऐसा जघन्य अपराध हो ये बिल्कुल स्वीकार नहीं है। भजनलाल शर्मा के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार इस संबंध में सतर्क है। अगर कोई ऐसा करेगा तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।"

Advertisement

बच्ची की जान बचाना हमारी प्राथमिकता- राज्यवर्धन राठौड़

मंत्री ने आगे कहा, "हमारी प्राथमिकता है कि इस बच्ची की जान बचे और सबसे अच्छी मेडिकल सुविधा दी जा रही है। अगर हमें बच्ची को यहां से बड़े अस्पताल एम्स में ले जाने की जरूरत पड़ी तो ले जाया जाएगा। साथ ही दूसरी प्राथमिकता है कि कोई भी ऐसे जघन्य अपराध करने का सोचे भी नहीं। वरना उसके ऊपर कड़ी कार्रवाई होगी।"

पुलिस महानिदेशक यू.आर. साहू ने बताया कि मामले के मुख्य आरोपी राजेंद्र यादव का सोमवार को जयपुर में ट्रेन की चपेट में आने से पैर कट गया। पुलिस ने उसे पकड़ लिया गया है। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर और खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अस्पताल जाकर पीडिता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। स्वास्थ्य मंत्री ने संकेत दिया कि महिला की हालत को देखते हुए चिकित्सकों की सिफारिश पर उसे दिल्ली के एम्स में स्थानांतरित किया जा सकता है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस को गुमराह करने के लिए राजेन्द्र यादव ने अपनी दाढ़ी और बाल कटवा लिए थे। सोमवार सुबह वह जयपुर के मालवीय नगर में ट्रेन की चपेट में आ गया जिससे उसका दाहिना पैर कट गया और बायां पैर भी चोटिल हुआ है।

जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती है पीड़िता

कोटपूतली-बहरोड़ की पुलिस अधीक्षक वंदिता राणा ने बताया कि जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में पुलिस निगरानी में उसका उपचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307, 323 और 506 और शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों के तहत एफ़आईआर दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि कथित वारदात में शामिल दो अन्य आरोपी महेश उर्फ महिपाल (22) और राहुल गुर्जर (19) को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

Advertisement

ट्रेन की चपेट में आकर घायल हुआ आरोपी

पुलिस ने बताया कि राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) ने ट्रेन की चपेट में आकर एक युवक के घायल होने की सूचना दी थी जिसके बाद आपातकालीन सेवा-108 ने घायल राजेंद्र यादव को एसएमएस अस्पताल पहुंचाया। उसने बताया कि आरोपी ट्रेन के आगे कूदा या फिर चपेट में आया है, इसकी जांच की जा रही है। पीड़िता शनिवार रात को जब अपने भाई के साथ दोपहिया वाहन से घर लौट रही थी तो प्रागपुरा थाने के पास उस पर हमला कर दिया गया। पुलिस के अनुसार यादव और उसके साथी महिपाल तथा राहुल ने उनका पीछा कर भाई-बहन पर हमला कर दिया।

Advertisement

राजेंद्र ने पीड़िता की पीठ में गोली मारी और अन्य आरोपियों ने भी हमला किया। घटना के बाद शनिवार को पीड़िता के परिवार द्वारा दर्ज कराई गई एफ़आईआर के अनुसार राजेंद्र ने 16 जनवरी को युवती से दुष्कर्म किया था। परिवार ने बताया, ‘‘यादव को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन हाल ही में वह जमानत पर बाहर आया और उसने पीड़िता को मामला वापस लेने के लिए धमकाना शुरू कर दिया।’’

पीड़िता ने मामला वापस नहीं लिया तो किया जानलेवा हमला

FIR के अनुसार, जब पीड़िता ने मामला वापस नहीं लिया तो उसने जानलेवा हमला कर दिया। चाकू के वार से घायल पीड़िता के भाई को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। परिजनों का आरोप है कि राजेंद्र यादव पीड़िता को पुलिस के नाम पर धमकाता था और कहता था कि पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती। स्वास्थ्य मंत्री खींवसर ने कहा कि छह सदस्यीय चिकित्सकों के बोर्ड का गठन किया गया है जो यह तय करेगा कि पीड़ित महिला को इलाज के लिए नयी दिल्ली के एम्स में स्थानांतरित किया जाना चाहिए या नहीं। उन्होंने बताया कि फिलहाल पीड़िता की हालत स्थिर है। जब उसे अस्पताल लाया गया तो उसकी हालत बेहद नाजुक थी। उन्होंने कहा कि यह जघन्य अपराध है और मामले की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को दी जायेगी।

स्वास्थ्य मंत्री गजेंद्र यादव ने दावा किया कि मुख्य आरोपी ने अपराध बोध के तहत आत्महत्या का प्रयास किया और अपना पैर कटवा लिया। राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा कि समाज में इस तरह की कोई भी घटना किसी भी हाल में स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा ‘‘समाज में इस तरह की कोई भी घटना किसी भी हाल में स्वीकार्य नहीं है। शासन-प्रशासन को इस घटना की जांच के निर्देश दिए जा चुके हैं। राजस्थान की बेटी की न्याय की इस लड़ाई में सरकार हर कदम पर उसके साथ खड़ी है।’’

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो