scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पहले भी मिली धमकियां, बिश्नोई गैंग पर शक, क्या है नफे सिंह राठी की हत्या का राज?

इस वारदात का वीडियो खौफजदा करने वाला है, साफ दिख रहा है कि पूरी प्लानिंग के साथ साजिश को अंजाम तक पहुंचाया गया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: February 25, 2024 22:53 IST
पहले भी मिली धमकियां  बिश्नोई गैंग पर शक  क्या है नफे सिंह राठी की हत्या का राज
नफे सिंह राठी की हत्या की इनसाइड स्टोरी (फेसबुक)
Advertisement

हरियाणा की धरती रविवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से दहल गई, INLD चीफ नफे सिंह राठी को गोलियों से भून दिया गया। आलम ये था कि गाड़ी में सवार नफे सिंह को चार से पांच हमलावरों ने पहले घेरा और फिर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई। इस वारदात का वीडियो खौफजदा करने वाला है, साफ दिख रहा है कि पूरी प्लानिंग के साथ साजिश को अंजाम तक पहुंचाया गया।

अभी तक इस वारदात को लेकर ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन पार्टी की मानें तो नफे सिंह राठी को पहले भी जान से मारने की धमकी मिल चुकी थी। हैरानी की बात ये है कि उन्हें इस बात की आशंका थी कि उनके साथ कुछ गलत हो सकता है, इसी वजह से सुरक्षा भी मांगी गई थी। लेकिन INLD का आरोप है कि हरियाणा सरकार ने उस मांग को ही नजरअंदाज कर दिया और अब उनके नेता की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई।

Advertisement

शुरुआती जांच में तो दो तरह की बातें कही जा रही हैं। एक जांच का आधार है प्रॉपर्टी विवाद जहां कहा जा रहा है कि पुरानी रंजिश की वजह से हत्या कर दी गई। इसी जांच का दूसरा आधार लॉरेंस बिश्नोई गैंग है जहां ऐसा दावा हुआ है कि उसी संगठन ने इस वारदात को अंजाम दिया। लेकिन क्योंकि अभी जांच बिल्कुल शुरुआती है, ऐसे में किसी भी निष्कर्ष तक नहीं पहुंचा जा रहा।

हरियाणा INLD नेता अभय चौटाला ने कहा कि आज जो घटना हुई है, इसकी ज़िम्मेदार राज्य सरकार है। वे ज़िम्मेदार हैं क्योंकि नफे सिंह ने मुझे 6 महीने पहले बताया था कि पुलिस ने उन्हें सूचित किया था कि उनकी जान ख़तरे में है और उन पर कभी भी हमला हो सकता है। उन्होंने एसपी, सीएम और डीजी को लिखा कि वे इसकी जांच करें और उन्हें सुरक्षा मुहैया कराएं। पूर्व विधायकों ने भी सीएम को जानकारी दी लेकिन उन्हें सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई, जिन्हें सुरक्षा की जरूरत है, उन्हें नहीं मिल रही है बल्कि जो कई मामलों में आरोपी है उन्हें सुरक्षा मिल रही है। इसलिए मैं इस घटना के लिए स्पष्ट रूप से मुख्यमंत्री को ज़िम्मेदार मानता हूं…अगर कोई लिखकर दे रहा है कि उसकी जान को खतरा है तो मुख्यमंत्री को जांच करानी चाहिए थी और उसे सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए थी।

Advertisement

अभी के लिए पार्टी द्वारा इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर दी है। कहा गया है कि सच तक पहुंचने के लिए निष्पक्ष जांच होना जरूरी है। इस बात पर भी जोर दिया गया है कि खुद को बचाने के लिए सरकार द्वारा लॉरेंस बिश्नोई का नाम लिया जा रहा है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो