scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

10 साल के बच्चे को उठा ले गए बंदर, पेट फाड़कर आंत निकाल दी बाहर, तड़प-तड़प कर हुई मौत

गुजरात से एक दर्दनाक खबर सामने आई है। यहां गांधीनगर के साल्की गांव में खेलते हुए बच्चे को बंदरों का समूह उठा ले गया। बंदरों ने उस पर हमला किया। इतना ही नहीं बंदरों ने उसका पेट फाड़कर उसकी आतें बाहर निकाल दी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
Updated: November 15, 2023 14:22 IST
10 साल के बच्चे को उठा ले गए बंदर  पेट फाड़कर आंत निकाल दी बाहर  तड़प तड़प कर हुई मौत
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- Pexels)
Advertisement

गुजरात से एक दर्दनाक खबर सामने आई है। यहां गांधीनगर के साल्की गांव में खेलते हुए 10 साल के बच्चे को बंदरों का समूह उठा ले गया। बंदरों ने उस पर हमला किया। इतना ही नहीं बंदरों ने उसका पेट फाड़कर उसकी आतें बाहर निकाल दी। गांव के लोग पीड़ित बच्चे को फौरन अस्पताल लेकर पहुंचे मगर इससे पहले कि डॉक्टर उसका इलाज कर पाते उसकी तड़प-तड़प कर मौत हो गई। इस घटना से गांव के लोगों में आक्रोश है।

रिपोर्ट के अनुसार, बंदरों का यह समूह पहले भी गांव के लोगों पर हमला कर चुका है। फिलहाल पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है। मामले में पुलिस और वन अधिकारियों का कहना है कि पीड़ित दीपक अपने दोस्तों के साथ गांव में खेल रहा था। तभी बंदरों के समूह ने उस पर हमला कर दिया।

Advertisement

पेट फाड़कर आंत निकाल दी बाहर

बंदरों ने 10 साल के बच्चे को बेरहमी से मार दिया। उसका पेट फाड़ दिया और उसकी आंतें बाहर निकाल दीं। पुलिस के अनुसार, घटना मंगलवार को गुजरात के गांधीनगर के साल्की गांव में हुई। वन अधिकारियों ने कहा कि बंदरों का हमला देहगाम तालुका में एक मंदिर के पास हुआ। पीड़ित की पहचान दीपक ठाकोर के रूप में हुई है। हमले के बाद बच्चे को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इससे पहले कि डॉक्टर उसका इलाज कर पाते उसकी मौत हो चुकी थी।

पुलिस और वन अधिकारियों ने कहा कि दीपक अपने दोस्तों के साथ एक गांव में खेल रहा था तभी उसपर बंदरों के समूह ने उस पर हमला कर दिया। बदरों ने उसे नोचना शुरू कर दिया और अपने पंजों से उसके शरीर पर कई जगह घाव कर दिए। इसके बाद बंदरों ने उसके पेट को फोड़ दिया और उसकी आंतें बाहर निकाल दीं। परिजन बच्चे को अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अधिकारियों के अनुसार, एक सप्ताह के भीतर बंदरों का यह तीसरा हमला है।

Advertisement

घटना के बाद वन अधिकारी विशाल चौधरी ने कहा कि विभाग गांव में बंदरों को पकड़ने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने आगे कहा, "हमने पिछले एक सप्ताह में दो बंदरों को पकड़ा है। एक और को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया गया है। गांव में बंदरों का एक बड़ा समूह है। जिसमें चार बड़े बंदर हैं। वे पिछले एक सप्ताह से गांव में हमला कर रहे हैं। पिंजरा लगाकर उन्हें पकड़ने की कोशिश जारी है।

Advertisement

मध्य प्रदेश में पकड़ा गया था 21 हजार का इनामी बंदर

इस साल की शुरुआत में मध्य प्रदेश के राजगढ़ में लोगों पर हमला करने वाले एक बंदर को पकड़ा गया था। जिसके ऊपर 21,000 रुपये का इनाम था। इसने दो सप्ताह के अंदर करीब 20 लोगों पर हमला किया था।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो