scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बेटी ने पिता पर लगाया था रेप का फर्जी आरोप, अब 12 साल बाद जेल से बाहर आएगा शख्स

जेल में बंद आरोपी शख्स के वकील विवेक अग्रवाल ने कहा है कि पीडिता के बयान संदेहजनक थे, और उसने दोबारा हुई पूछताछ में रेप के आरोपों को ही नकार दिया था।
Written by: ईएनएस
Updated: February 01, 2024 17:33 IST
बेटी ने पिता पर लगाया था रेप का फर्जी आरोप  अब 12 साल बाद जेल से बाहर आएगा शख्स
12 साल बाद जेल से बाहर आएगा शख्स, फर्जी रेप केस में हुई थी सजा (twitter/LeaderTelegram)
Advertisement

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने 12 साल से जेल में बंद रेप के आरोपी एक पिता को बेकसूर बताते हुए रिहा कर दिया है। हाई कोर्ट ने इस केस की जांच में पाया है कि पीड़िता को उसके पिता ने बॉयफ्रेंड के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया था, इसके चलते उसने दबाव बनाने के लिए पिता पर रेप का झूठा आरोप लगा दिया। वहीं दोबारा जब पूछताछ हुई तो लड़की ने कहा कि उसके पिता ने उसके साथ यौन संबंध बनाने की कोई कोशिश नहीं की थी।

इससे पहले मार्च 2012 में शख्स की बेटी ने उसके खिलाफ रेप का आरोप लगाया था। पीड़िता ने इस बात की जानकारी अपने दादा को दी थी, और दोनों ने ही पुलिस के पास जाकर शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 और 506 के तहत केस दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया था। आरोपी शख्स 21 मार्च 2012 से जेल में बंद है।

Advertisement

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के जस्टिस सुजॉय पॉल और विवेक जैन की पीठ ने कहा है कि यह अफसोसजनक है कि शख्स मार्च 2021 से अब तक जेल में बंद है, जबकि उनके खिलाफ रेप केस में आरोप साबित नहीं हो सके हैं। बचाव पक्ष के वकील विवेक अग्रवाल ने कहा है कि पीड़िता ने कई बार अपने बयान बदले हैं, और वे संदेहास्पद है. वहीं कोर्ट का कहना है कि अभियोजन पक्ष लड़की द्वारा लगाए गए आरोपों को साबित करने में पूरी तरह विफल रहा है।

विवेक अग्रवाल ने कहा है कि पूछताछ के दौरान दोबारा अपने बयान में पीड़िता यह साबित नहीं कर पाई कि शख्स ने उसके साथ यौन संबंध बनाने का प्रयास किया। बता दें कि यह मामला राजधानी भोपाल के छोला मंदिर थाना क्षेत्र का है। सेशन कोर्ट ने लड़की के पिता को 2013 में आजीवन कारावास की सजा सुना दी थी। सेशन कोर्ट के फैसले के खिलाफ उसने 2013 में ही हाई कोर्ट में अपील की थी

Advertisement

पिता को बेटी के रिश्तों पर थी आपत्ति

जानकारी के मुताबिक जिस वक्त ये मामला सामने आया था, तो उस दौरान पिता और बेटी के बीच रिश्ते को लेकर खूब चर्चा हुई थी। हालांकि अब कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि ऐसा लगता है, जैसे लड़की ने अपने पिता पर दबाव बनाने की सोच से ही रेप का आरोप लगाया था, क्योंकि उन्होंने बेटी को बॉयफ्रेंड के साथ पकड़ लिया था।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो