scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कोटा में एक और छात्र ने की खुदकुशी, JEE की कर रहा था तैयारी, 2024 का यह पहला केस

कोटा में JEE की तैयारी कर रहे एक छात्र ने सुसाइड कर लिया है। 2024 की यह पहली घटना है। छात्र का शव फंदे पर लटकते हुए पाया गया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
जयपुर | Updated: January 24, 2024 11:22 IST
कोटा में एक और छात्र ने की खुदकुशी  jee की कर रहा था तैयारी  2024 का यह पहला केस
कोटा में सुसाइड (Jansatta)
Advertisement

कोटा में छात्र आत्महत्या की खबरें सामने आती रहती हैं। इस बीच JEE की तैयारी कर रहे एक छात्र ने सुसाइड कर लिया है। छात्र 17-18 साल का था। उसने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। अभी तक सुसाइड के कारणों का पता नहीं लग पाया है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को मार्चरी में रखवाया। फिलहाल छात्र के परिजन को सूचना दे दी गई है। जानकारी के अनुसार,छात्र यूपी के मुरादाबाद जिले का रहने वाला था। उसके परिजन मुरादाबाद से कोटा के लिए निकल चुके हैं।

छात्र का नाम मोहम्मद जैदी

जानकारी के अनुसार, छात्र का नाम मोहम्मद जैदी है। वह हॉस्टल में रहकर प्राइवेट कोचिंग से इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था। उसका सपना JEE पास करने का था। वह इंजीनियर बनना चाहता था। इसी बीच पुलिस कंट्रोल रूम को रात 11 बजे सूचना दी गई कि जवाहर नगर थाना क्षेत्र में एक हॉस्टल में रहने वाले छात्र ने सुसाइड कर लिया है।

Advertisement

वह इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था। घटना का के बाद छात्र के माता-पिता को सूचना दी गई। बेटे की मौत की खबर सुनकर वे सदमे में हैं। फिलहाल वे कोटा के लिए निकल चुके है। फिलहाल शव को मार्चरी में रखा गया है।

फंदे से लटक रहा था छात्र का शव

रिपोर्ट के अनुसार, घटनास्थल पर जब पुलिस पहुंची तो छात्र का शव फंदे से लटक रहा था। परिजन के आने के बाद से ही शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। इसके बाद मौत की कारणों का पत लगाया जाएगा। हालांकि अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि छात्र ने सुसाइड क्यों किया है। असल में कोटा कोचिंग हब माना जाता है। यहां छात्र भविष्य के सुनहरे सपने लेकर आते हैं। पिछले साल भी कई यहां 29 छात्रों ने सुसाइड कर लिया था। हालांकि इस साल की यह पहली घटना है। इस साल और पिछले साल मिलाकर कुल 30 छात्रों ने सुसाइड कर लिया है।

Advertisement

गौरतलब है कि आईआईटी-जेईई की मुख्य परीक्षा पास करने के बाजवूद 28 अप्रैल को कृति नामक छात्रा ने आत्महत्या कर ली। इसके बाद जिला प्रशासन का यह कदम सामने आया है। 2015 में यहां कम से कम 19 छात्रों ने मौत को गले लगा लिया था, जबकि 2016 में पांच छात्रों ने खुदुकुशी की।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो