scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कानपुर में कपड़ा कारोबारी के बेटे की अपहरण के बाद हत्या, ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर निकली कातिल

यूपी के कानपुर से दिल को दुखाने वाली एक घटना सामने आई है। यहां रायपुरवा थाना क्षेत्र के आचार्य नगर के रहने वाले कपड़ा कारोबारी के बेटे की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
October 31, 2023 11:55 IST
कानपुर में कपड़ा कारोबारी के बेटे की अपहरण के बाद हत्या  ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर निकली कातिल
पुलिस। (Express file photo by Gajendra Yadav)
Advertisement

यूपी के कानपुर से दिल को दुखाने वाली एक घटना सामने आई है। यहां रायपुरवा थाना क्षेत्र के आचार्य नगर के रहने वाले कपड़ा कारोबारी के बेटे की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई है। कोरबारी का नाम मनीष कनोडिया है और उनके बेटे का नाम कुशाग्र है। वह 16 साल का था। रिपोर्ट के अनुसार, कुशाग्र कल शाम 4 बजे ट्यूशन पढ़ने घर से निकला था। इसके बाद वह घर नहीं लौटा। रात के करीब 9 बेडे फिरौती के लिए एक लेटर मिला। इसके बाद किशोर के किडनैप होने की जानकारी परिजन को लगी। इससे पहले कि वे कुछ कर पाते पीड़ित का शव फजलगंज थाना क्षेत्र में मिला। इस मामल में पुलिस ने किशोर को ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर और उसके दो दोस्तों को गिरफ्तार किया है। उन पर पीड़ित को किडनैप कर 30 लाख फिरौती मांगने का आरोप है। किशोर कनोडिया जयपुरिया स्कूल में 10वीं का छात्र था। वह आरोपी महिला के पास ट्यूशन पढ़ने जाता था। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, किशोर रोज की तरह ट्यूशन पढ़ने घर से 4 बजे निकला था। काफी देर होने के बाद वह घर नहीं लौटा। घरवाले उसकी तलाश करने लगे। इसी बीच रात 9 बजे के करीब स्कूटी पर सवार एक युवक घर पर एक लेटर फेंक कर गया। उस लेटर में छात्र के किडनैप होने की जानकारी थी और साथ ही 30 लाख के फिरौती की मांग की गई थी। इसके बाद परिवार के लोगों ने पुलिस को इस बारे में सूचना दी।

Advertisement

आरोपी टीचर ने कबूल की हत्या की बात

शुरुआती जांच के बाद किशोर को ट्यूशन पढ़ाने वाली महिला को हिरासत में लिया गया। वह फजलगंज थाना क्षेत्र की रहने वाली है। पुलिस ने इसके साथ ही दो और लोगों को हिरासत में लिया। उनसे पूछताछ में पता चला कि उन्होंने मिलकर कुशाग्र की हत्या कर दी और फिर उसके शव को फजलगंज थाना क्षेत्र में फेंक दिया। आरोपियों की जानकारी देने के बाद पुलिस ने मंगलवार सुबह किशोर का शव बरामद किया। जांच में पता चला कि कुशाग्र की रस्सी के गला घोटकर हत्या की गई थी।

इस मामले में इंस्पेक्टर रायपुर वह अर्चना गौतम का कहना है कि महिला टीचर ने अपने दोस्त के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया है। दोनों शादी कर घर बसाना चाहते थे। इसके लिए उन्हें पैसों की जरूरत थी। उन्होंने रुपयों का बंदोबस्त करने के लिए छात्र का अपहरण करने की सोची। उन्होंने योजना के अनुसार, इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस जल्द ही पूरे मामले का खुलासा करेगी।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो