scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Haryana Crime: गैंगस्टर कौशल चौधरी ने नाई से छीना ट्रिमर, गुड़गांव पुलिस हिरासत में की आत्महत्या की कोशिश

अधिकारियों के मुताबिक, साल 2020 के एक हत्या मामले में कौशल चौधरी गुड़गांव पुलिस की हिरासत में हैं। पुलिस ने अदालत से गैंगस्टर की तीन दिन की और रिमांड मांगी है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Keshav Kumar
Updated: October 04, 2023 12:29 IST
haryana crime  गैंगस्टर कौशल चौधरी ने नाई से छीना ट्रिमर  गुड़गांव पुलिस हिरासत में की आत्महत्या की कोशिश
प्रतीकात्मक तस्वीर (express photo)
Advertisement

Haryana Crime News: हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर कौशल चौधरी ने मंगलवार को गुड़गांव में पुलिस हिरासत में आत्महत्या का प्रयास किया। पुलिस ने कहा कि वह पांच साल से अधिक समय से जेल में बंद था। यही वजह है कि उसने खुद को मारने की कोशिश की। सहायक पुलिस आयुक्त (अपराध) वरुण दहिया के अनुसार, कौशल चौधरी साल 2020 के एक हत्या मामले में पुलिस हिरासत में है।

पुलिस ने की आत्महत्या से रोकने की कोशिश, चोटिल हुआ गैंगस्टर कौशल चौधरी

एसीपी वरुण दहिया ने कहा, “हत्या के चर्चित मामले में कौशल चौधरी साजिश का हिस्सा था। हमने प्रोडक्शन वारंट के जरिए उसकी हिरासत की मांग की थी। मंगलवार को उसने नाई से बाल कटवाने के लिए कहा। जब उसकी दाढ़ी काटी जा रही थी तो उसने नाई के हाथ से ट्रिमर छीन लिया और उसे अपनी गर्दन तक ले आया। उनके आसपास के पुलिस अधिकारियों ने उसके (आत्महत्या के) प्रयास को रोक दिया।” उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम में कौशल चौधरी को कुछ चोटें आईं। वह अभी भी पुलिस हिरासत में है, क्योंकि गुड़गांव पुलिस ने तीन और दिन की रिमांड मांगी है।

Advertisement

भोंडसी जेल में प्रतिद्वंद्वी गिरोहों के बीच कई बार हिंसक झड़प, बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था

एसीपी दहिया ने कहा, “ कौशल चौधरी के खिलाफ आत्महत्या के प्रयास से संबंधित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।” एसीपी दहिया ने कहा, "भोंडसी जेल में प्रतिद्वंद्वी गिरोहों के बीच कुछ हिंसक झड़पें हो चुकी हैं। कौशल चौधरी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के कई सदस्यों के साथ बंद है। बंबीहा गिरोह के कई सदस्य भोंडसी में भी बंद हैं। चूंकि लॉरेंस बिश्नोई के नेतृत्व वाले उनके प्रतिद्वंद्वी गिरोह के 10 गैंगस्टर एक ही जेल में हैं। इसलिए हमने जेल में सुरक्षा बढ़ा दी है।”

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि जेल प्रशासन ने प्रत्येक आरोपी को अलग-अलग कोशिकाओं में रखा है, उन्होंने प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सदस्यों के बीच झड़पों से बचने के लिए एक योजना बनाई है। इसके अलावा सुरक्षाकर्मी कैदियों के बीच आत्महत्या की कोशिशों को लेकर भी अलर्ट हो गए हैं।

Advertisement

Nuh Mewat News: नूंह, मेवात और फिर गुरुग्राम हिंसा में झुलसे, Monu Manesar से क्या है कनेक्शन? Video

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो