scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

सूचना सेठ के पति ने पुलिस को क्या बताया, पहली बार पूछताछ में हुआ शामिल

सूचना ने अपना गुस्सा व्यक्त करते हुए एक टिशू पेपर पर लिखा था कि कोर्ट का आदेश जो भी हो, मेरा बेटा हमेशा मेरे साथ रहेगा।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: January 13, 2024 16:55 IST
सूचना सेठ के पति ने पुलिस को क्या बताया  पहली बार पूछताछ में हुआ शामिल
सूचना सेठ का पति (Source- Screengrab/ PTI)
Advertisement

चार साल के बेटे की हत्या की आरोपी और AI स्टार्टअप कंपनी की सीईओ सूचना सेठ का पति शनिवार को गोवा में कलंगुट पुलिस के समक्ष पेश हुआ। एक अधिकारी ने बताया कि सूचना सेठ के पति वेंकट रमन अपना बयान दर्ज कराने के लिए कलंगुट पुलिस स्टेशन पहुंचे। सूचना सेठ अपने पति से अलग रह रही थी।

अधिकारी ने कहा, ‘‘आरोपी का पति वेंकट रमन दोपहर को बेंगलुरु से यहां आया और कलंगुट पुलिस थाने पहुंचा। हम जांच के तौर पर मामले में उसका बयान दर्ज करेंगे।’’ हत्या के वक्त रमन इंडोनेशिया के जकार्ता में था। पुलिस ने बताया कि शुरुआती जांच के अनुसार महिला ने अपनी कलाई काटकर आत्महत्या की कोशिश करने से पहले अपने बेटे की गला घोटकर हत्या कर दी।

Advertisement

बेटे की हत्या कर बैग में रखा था शव

पुलिस के अनुसार सूचना सेठ ने उत्तरी गोवा के कैंडोलिम में एक सर्विस अपार्टमेंट में अपने बेटे की गला घोटकर हत्या की, उसका शव एक बैग में रखा और बेंगलुरु वापस जाने के लिए टैक्सी ली। उसे आठ जनवरी को कर्नाटक के चित्रदुर्ग में बीच रास्ते में ही गिरफ्तार कर लिया गया। इस मर्डर केस में एक अहम जानकारी यह भी सामने आ रही है कि हत्यारोपी एआई एक्सपर्ट सूचना सेठ अपने मासूम बच्चे की हत्या के बाद उसके शव के साथ 15 से 18 घंटे तक सर्विस अपार्टमेंट के कमरे में मौजूद रही थी।

जानकारी के मुताबिक, यहां चेक-इन करने के करीब ढाई घंटे बाद 7 तारीख की रात 1 से 2 बजे के बीच बच्चे की हत्या की गई थी। इसके बाद 7 और 8 तारीख की रात करीब 12 बजे के बाद सूचना ने अपना अपार्टमेंट छोड़ा था। इस दौरान वो बच्चे के शव के साथ रही थी। पुलिस ने जब उससे पूछा कि वो बच्चे का शव को बैग में रखकर बेंगलुरु क्यों ले जा रही थी, तो सूचना ने जवाब में सिर्फ इतना कहा कि वह चाहती थी कि उसका बेटा उसके बेंगलुरु स्थित घर पर उसके साथ ही रहे।

Advertisement

पिता से नहीं मिलने देना चाहती थी

जानकारी के मुताबिक, कोर्ट के पिता वेंकट रमण को हफ्ते में एक दिन रविवार को बच्चे मिलने की इजाजत देने के बाद सूचना सेठ परेशान हो गई थी। बेंगलुरु छोड़ने से पहले उसने वेंकट को मैसेज किया कि वो 7 जनवरी की दोपहर में बच्चे से आकर मिल सकता है, लेकिन उससे ठीक एक दिन पहले 6 जनवरी को वो बच्चे को लेकर गोवा चली गई। पुलिस को शक है कि सूचना नहीं चाहती थी कि उसका बेटा अपने पिता से मिले इसलिए गोवा पहुंचने के कुछ घंटों के बाद ही उसने बच्चे की हत्या कर दी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो