scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'बैग में शव जरूर ले गई लेकिन मैंने बेटे को नहीं मारा', आखिर कमरा नंबर 404 में उस रात क्या हुआ था?

Goa Murder Case: पुलिस अधिकारी ने बताया कि सूचना सेठ पूछताछ में बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही है। वह बार-बार कह रही है कि उसने अपने बेटे की हत्या नहीं की। जानिए क्या है कमरा नंबर 404 की कहानी।
Written by: Jyoti Gupta
Updated: January 16, 2024 18:20 IST
 बैग में शव जरूर ले गई लेकिन मैंने बेटे को नहीं मारा   आखिर कमरा नंबर 404 में उस रात क्या हुआ था
पुलिस गिरफ्त में सूचना सेठ। (express)
Advertisement

एआई कंपनी की सीईओ सूचना सेठ पर 4 साल के बेटे की हत्या करने का आरोप है। मामले में गोवा के एक कोर्ट ने सूचना की पुलिस हिरासत पांच दिन के लिए बढ़ा दी है। मामले में पुलिस अधिकारी ने बताया कि सूचना पूछताछ में बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही है। वह बार-बार कह रही है कि उसने अपने बेटे की हत्या नहीं की। अधिकारी ने आगे कहा कि वह सारी बातों को मान रही है। वह कह रही है कि वह बच्चे के शव को बैग में भरकर ले गई थी। हालांकि वह यह मानने से मना कर रही है कि उसने अपने बेटे को जान से मारा है। वह बार-बार दावा कर रही है कि बेटे की मौत के लिए उसका पति जिम्मेदार है।

दरअसल, सूचना सेठ नया साल शुरू होने से पहले यानी 31 दिसंबर को गोवा गईं थी और 4 जनवरी को बेंगलुरु लौट गई। सूचना ने उत्तरी गोवा के कैंडोलिम के होटल सोल में चेक-इन किया। कथित तौर पर इसी होटल में बच्चे की हत्या की गई थी। सूचना तब पकड़ में आई जब वह बच्चे के शव को बैग में भरकर भागने की कोशिश कर रही थी। उसे कर्नाटक के चित्रदुर्ग जिले में गिरफ्तार किया गया था।

Advertisement

सूचना का कहना है कि उसने बेटे को नहीं मारा है। वह जब सोकर जगी तो वह पहले से मरा हुआ था। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि बच्चे की मौत गला घोंटने से हुई है। रिपोर्ट के अनुसार, बच्चे का चेहरा इतनी तेज से दबाया गया कि उसकी नशें बाहर आ गई थीं।

मामले में वेंकट रमन के वकील अजहर मीर ने बताया कि 31 दिसंबर (रविवार) को जब सूचना गोवा पहुंची तो उसने अपने पति को बताया कि उनका बेटा बीमार है, इसलिए वह उसे मिलने के लिए नहीं भेज सकती। वकील ने आगे कहा कि लगातार दो हफ्ते से गोवा में थी। इससे पता चलता है कि वह नहीं चाहती थी कि उसका पति अपने बेटे से मिले।

क्या है कमरा नंबर 404 की कहानी

एफआईआर के मुताबिक सूचना सेठ अपने बेटे के साथ 6 जनवरी की रात को होटल सोल के एक सर्विस अपार्टमेंट के कमरा नंबर 404 में चेक इन किया था। उन्होंने 10 जनवरी तक के लिए कमरा बुक किया था, लेकिन उसने होटल के कर्मचारियों को बोला कि उसे कुछ जरूरी काम पड़ गया है इसलिए वह चेकआउट करना चाह रही है। इसके बाद उसने कैब बुलाने को कहा और बैग के साथ चली गई। हालांकि होटल के कर्मचारी ने उससे पूछा कि आपका बेटा कहां है तो सूचना ने जवाब दिया कि उसे पहले ही भेज दिया है। इस पर कर्मचारी को शक हुआ।

Advertisement

कमरे का क्या था सीन

सूचना के जाने के बाद कर्मचारी कमरा नंबर 404 में पहुंचा तो देखा कि तौलिए पर खून के छीटे थे। वहां कफ सिरफ की खाली बोतलें थीं, जिसे सूचना ने यह कहकर मंगवाया था कि उसके बच्चे को खांसी हो रही है। इसके अलावा वहां चाकू भी मिला था। सूचना ने रात को कॉफी, फ्राइज और कुछ खाने का सामान ऑर्डर किया था। वह बाहर कम ही जाती थी।

वहीं ड्राइवर ने बताया कि सूचना पूरे रास्ते चुप थी। उसने सिर्फ पानी का बोतल मंगाया था। इसके बाद ड्राइवर के पास पुलिस का फोन आया और सूचना को पास के पुलिस स्टेशन लेकर आने को कहा। ड्राइवर ने ऐसा ही किया। इस तरह सूचना को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल मामले में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं, पुलिस जांच में जुटी है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो