scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

लॉरेंस बिश्नोई गैंग के तीन गुर्गे गिरफ्तार, गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा के इशारे पर किसी को भी लगा देते थे ठिकाने, ऐसे चढ़े हत्थे

लॉरेंस बिश्नोई के तीन गुर्गे गिरफ्तार हो गए हैं। वे गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा के कहने पर लोगों की हत्या कर देते थे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
नई दिल्ली | Updated: March 16, 2024 22:22 IST
लॉरेंस बिश्नोई गैंग के तीन गुर्गे गिरफ्तार  गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा के इशारे पर किसी को भी लगा देते थे ठिकाने  ऐसे चढ़े हत्थे
लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गे गिरफ्तार।
Advertisement

पंजाब पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस में मोहाली के जीरकपुर से गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा के तीन गुर्गों को गिरफ्तार किया है। पंजाब पुलिस के एक उच्च अधिकारी ने मामले की जानकारी दी। गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्य हैं।

पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौरव यादव ने कहा कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के भिवानी के अजय सिंह उर्फ अजयपाल और अंकित के रूप में हुई है। इसके अलावा तीसरे आरोपी की पहचान जीरकपुर के लखविंदर सिंह उर्फ लक्की के रूप में की गई है।

Advertisement

हत्या, जबरन वसूली का दर्ज है मामला

पुलिस ने आगे कहा कि अंकित की आपराधिक पृष्ठभूमि है और वह हरियाणा में दर्ज हत्या, हत्या के प्रयास, जबरन वसूली और शस्त्र अधिनियम सहित जघन्य अपराधों के मामलों में शामिल रहा है। पंजाब पुलिस के गैंगस्टर निरोधक कार्य बल की एक टीम ने उनके कब्जे से 11 जिंदा कारतूस के साथ .32 कैलिबर की दो पिस्तौल भी बरामद की और उनकी कार भी जब्त कर ली।

कैसे गिरफ्तार हुए आरोपी

डीजीपी यादव ने आगे कहा कि सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए गैंगस्टर निरोधक कार्य बल (एजीटीएफ) की कई टीम ने तीनों आरोपियों का पीछा किया और उन्हें जीरकपुर में एयरपोर्ट रोड के पास स्थित एक फ्लैट से गिरफ्तार कर लिया। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि फरार होने के बाद विदेश से गिरोह को संचालित कर रहे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और रोहित गोदारा के निर्देश पर ये तीनों आरोपी काम कर रहे थे।

Advertisement

बराड़ और गोदारा लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्य हैं। तीनों इलाके में रेकी कर रहे थे और अन्य प्रासंगिक जानकारी इकट्ठा कर रहे थे क्योंकि उन्हें प्रतिद्वंद्वी गैंगस्टरों की लक्षित हत्याओं को अंजाम देने का काम सौंपा गया था। अतिरिक्त डीजीपी प्रमोद बान ने विस्तृत जानकारी साझा करते हुए कहा कि आरोपी अंकित ने अपने साथियों के साथ प्रतिद्वंद्वी गैंगस्टर जय कुमार उर्फ भादर की दिनदहाड़े सनसनीखेज हत्या को अंजाम दिया था। फिलहाल मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो