scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'हिंदू देवताओं की पूजा मत करो', प्रिंसिपल ने दिलाई शपथ, हुआ गिरफ्तार

प्रिंसिपल के भाषण का वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया गया, जिसके बाद एक हिंदू एक्टिविस्ट ने शिकायत लेकर स्थानीय पुलिस से संपर्क किया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: January 29, 2024 16:00 IST
 हिंदू देवताओं की पूजा मत करो   प्रिंसिपल ने दिलाई शपथ  हुआ गिरफ्तार
गिरफ्तार। (प्रतीकात्मक फोटो)
Advertisement

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में एक स्कूल के प्रिंसिपल को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उन पर आरोप है कि प्रिंसिपल ने लगभग 15 लोगों की एक सभा में भाषण दिया था और उनसे हिंदू देवताओं पर विश्वास न करने के लिए कहा था।

60 साल के रतनलाल सरोवर ने 22 जनवरी 2024 को अयोध्या में राम मंदिर के प्रतिष्ठा समारोह के दिन रतनपुर पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में आने वाले मोहतराई गांव में भाषण दिया था। एकत्रित गांव निवासियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कई हिंदू देवताओं का नाम लिया और उनकी पूजा न करने की शपथ दिलाई। इसके बजाय उन्होंने वहां उपस्थित लोगों से बौद्ध धर्म का पालन करने के लिए कहा।

Advertisement

धार्मिक भावनाओं को किया आहत

रतनलाल सरोवर भरारी गांव में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के प्रिंसिपल थे। भाषण का एक वीडियो बाद में यूट्यूब पर अपलोड किया गया, जिसके बाद रूपेश शुक्ला नाम के एक हिंदू राइट विंग एक्टिविस्ट ने शिकायत लेकर स्थानीय पुलिस से संपर्क किया। रूपेश शुक्ला ने शिकायत की कि प्रिंसिपल रतनलाल के भाषण से सनातन धर्म के अनुयायियों की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

प्रधानाध्यापक के खिलाफ मिली शिकायत पर एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "अपने बयान में रतनलाल सरोवर ने हमें बताया कि वह लोगों से बी आर अंबेडकर की शिक्षाओं का पालन करने के लिए कह रहा था। उसने बताया कि वह एक हिंदू है लेकिन अंबेडकर की शिक्षाओं में विश्वास करता है।"

न्यायिक हिरासत में हैं प्रिंसिपल

रतनपुर पुलिस थाना प्रभारी, देवेश सिंह राठौड़ ने कहा, "शिकायत के आधार पर, उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153 A (विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) और 295 A (किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।" रतनलाल सरोवर फिलहाल न्यायिक हिरासत में है। शिकायत के आधार पर 28 जनवरी को रतनलाल को गिरफ्तार कर लिया गया। घटना के बाद जिले के शिक्षा विभाग ने प्रिंसिपल रतनलाल को निलंबित कर दिया।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो