scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ICC Final में ऑस्ट्रेलिया को भारत के सिर्फ 2 कप्तान ही हरा पाए, एक 3 साल से टीम से बाहर, दूसरा डेब्यू भी नहीं कर पाया

भारत और ऑस्ट्रेलिया अब तक अंडर-19 विश्व कप फाइनल में 3 बार भिड़ चुके हैं। रविवार 11 फरवरी 2024 से पहले भारत ने दोनों फाइनल अपने नाम किए थे।
Written by: Alok Srivastava
Updated: February 12, 2024 14:35 IST
icc final में ऑस्ट्रेलिया को भारत के सिर्फ 2 कप्तान ही हरा पाए  एक 3 साल से टीम से बाहर  दूसरा डेब्यू भी नहीं कर पाया
साउथ अफ्रीका के बेनोनी स्थित विलोमूर पार्क में 11 फरवरी को खेले गए आईसीसी U19 पुरुष क्रिकेट विश्व कप 2024 के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 79 रन से हरा दिया। (सोर्स- ट्विटर/आईसीसी)
Advertisement

रविवार 11 फरवरी 2024 की रात भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों आईसीसी टूर्नामेंट के एक और फाइनल में हार झेलनी पड़ी। यह लगातार तीसरा मौका है, जब भारतीय टीम आईसीसी के किसी टूर्नामेंट के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हारी है। आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में सिर्फ दो ऐसे कप्तान हैं जिनकी अगुआई में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराया है। हालांकि, उन दोनों में से एक सीनियर लेवल पर डेब्यू नहीं कर पाया, जबकि दूसरा पिछले तीन साल से टीम (प्लेइंग इलेवन) में जगह नहीं बना पाया है। जी हां, हम बात कर रहे हैं उन्मुक्त चंद और पृथ्वी शॉ की।

भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं उन्मुक्त चंद

उन्मुक्त चंद ने भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। वह अब अमेरिका के लिए खेलते हैं। टी20 विश्व कप 2024 में वह अमेरिकी टीम का हिस्सा होंगे। उन्मुक्त चंद की अगुआई में भारत ने अगस्त 2012 में ऑस्ट्रेलिया को आईसीसी अंडर-19 विश्व कप फाइनल में 14 गेंदें शेष रहते हुए 6 विकेट से हराया था। उन्मुक्त चंद ने उस मैच में 111 रन की नाबाद पारी खेली थी।

Advertisement

उन्मुक्त ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ Final में लगाया था शतक

उन्मुक्त चंद की पारी की बदौलत ही भारत 226 रन के लक्ष्य को 47.4 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर हासिल कर पाया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने एक समय 97 के स्कोर पर 4 विकेट गंवा दिए थे, लेकिन उसके बाद उन्मुक्त चंद और स्मित पटेल ने पांचवें विकेट के लिए 130 रन की नाबाद साझेदारी कर भारत को चैंपियन बनाया था। स्मित पटेल 62 रन बनाकर नाबाद रहे थे। स्मित पटेल भी अब अमेरिका बस गए हैं। वह अमेरिका की कई टीमों की ओर से खेल चुके हैं। उनके टी20 विश्व कप 2024 में राष्ट्रीय टीम में भी चुने जाने की संभावना है।

U19 World Cup, India vs Australia, India, Australia, India vs Australia in Final, IND vs AUS
मुंबई हवाई अड्डे पर अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप ट्रॉफी के साथ कप्तान उन्मुक्त चंद। (सोर्स- एक्सप्रेस अर्काइव)

पृथ्वी शॉ की अगुआई में ऑस्ट्रेलिया को हरा चैंपियन बना था भारत

अब बात पृथ्वी शॉ की। पृथ्वी शॉ की अगुआई में भारत ने फरवरी 2018 में न्यूजीलैंड के माउंट माउनगानुई में ऑस्ट्रेलिया को 67 गेंदें शेष रहते 8 विकेट से हराया था। पृथ्वी शॉ ने उस मैच में 29 रन की पारी खेली थी, जबकि उनके साथी ओपनर मनजोत कालरा ने नाबाद 101 रन बनाए थे। शुभमन गिल 31 रन बनाकर आउट हुए थे। हार्विक देसाई ने नाबाद 47 रन बनाए थे।

U19 World Cup, India vs Australia, India, Australia, India vs Australia in Final, IND vs AUS
अंडर-19 विश्व कप 2018 की ट्रॉफी के साथ पृथ्वी शॉ और ऑस्ट्रेलिया के जेसन संघा। (सोर्स- ट्विटर)

3 साल से प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं बना पाए पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ के सीनियर लेवल पर अंतरराष्ट्रीय करियर की बात करें तो उन्होंने अक्टूबर 2018 में राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। उस मैच में पृथ्वी शॉ ने शतक लगाया था। उन्होंने पांच फरवरी 2020 में हैमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच से वनडे करियर की शुरुआत की। उन्होंने 25 जुलाई 2021 में कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ मैच से टी20 इंटरनेशनल में डेब्यू किया।

Advertisement

टी20 इंटरनेशनल डेब्यू पर पृथ्वी हुए थे गोल्डन डक

हालांकि, इसके बाद वह अब तक एक भी टी20 इंटरनेशनल मैच में भारत की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पाए। वह आखिरी बार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस मैच में खेले भी थे। पृथ्वी शॉ उस मैच में गोल्डन डक हुए थे। खास यह है कि पिछले 3 साल के दौरान पृथ्वी शॉ ने घरेलू स्तर पर कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। इसके बावजूद वह टीम मैनेजमेंट का विश्वास नहीं जीत पाए।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो