scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मेरे देश से बड़ा कुछ भी नहीं: राशिद खान का ऑस्ट्रेलिया को जवाब; बड़ा कदम उठाने को तैयार

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज का सम्मान नहीं करने का फैसला किया। इससे पहले 2021 में दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच स्थगित कर दिया गया था। फिर 2023 में एकदिवसीय श्रृंखला रद्द कर दी गई थी।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: April 16, 2024 23:23 IST
मेरे देश से बड़ा कुछ भी नहीं  राशिद खान का ऑस्ट्रेलिया को जवाब  बड़ा कदम उठाने को तैयार
अफगानिस्तान की टीम। (फोटो - ICC)
Advertisement

हाल ही में अफगानिस्तान के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों की टी20 सीरीज को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) के इस फैसले फैसले से दिग्गज स्पिनर राशिद खान आहत हैं। इसके जवाब में वह बड़ा कदम उठाने की तैयारी में हैं। राशिद वर्तमान में आईपीएल 2024 में गुजरात टाइटंस (GT) के लिए खेल रहे हैं। वह बिग बैश लीग 2025 (BBL 2025) से किनारा कर सकते हैं।

ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान के बीच यह टी20 सीरीज इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP) का हिस्सा थी। अगस्त में यह सीरीज न्यूट्रल वेन्यू पर होनी थी, लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने जनवरी में कहा कि वह " तालिबान शासित अफगानिस्तान में महिलाओं और लड़कियों के मानवाधिकारों में गिरावट" के कारण ऑस्ट्रेलियाई सरकार के साथ परामर्श के बाद सीरीज को स्थगित कर रहा है।

Advertisement

आप सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ खेलना चाहते हैं

राशिद ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा, " इससे आपको दुख होता है। आप सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ खेलना चाहते हैं और इससे ही आपके क्रिकेट में और अधिक सुधार होगा। आपको उनके (ऑस्ट्रेलिया) खिलाफ खेलने का मौका केवल विश्व कप में मिलता है, लेकिन द्विपक्षीय श्रृंखला में नहीं।"

राशिद जून में 2024 टी20 विश्व कप में अफगानिस्तान का नेतृत्व करेंगे

राशिद जून में 2024 टी20 विश्व कप में अफगानिस्तान का नेतृत्व करेंगे। उन्होंने कहा कि शीर्ष की टीमों के खिलाफ खेलना उनकी टीम के विकास के लिए बेहद फायदेमंद होगा। उदाहरण के तौर पर, राशिद ने अफगानिस्तान द्वारा इस जनवरी में भारत के खिलाफ खेली गई तीन मैचों की टी20 सीरीज का हवाला दिया, जिसे वे 3-0 से हार गए थे।

भारत के खिलाफ तीन टी20 मैच खेलने से मदद मिली

राशिन ने कहा, " हाल ही में हमने भारत के खिलाफ तीन टी20 मैच खेले और इससे हमें काफी मदद मिली। हमने भारत के खिलाफ 200 [212] का लक्ष्य लगभग हासिल कर लिया था। सोचिए अगर आपने वह नहीं खेला होता तो आत्मविश्वास कहां से आता? बड़ी टीमों के खिलाफ खेलना हमारे लिए बहुत बड़ी बात है।" यह तीसरी बार है जब सीए ने अफगानिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज का सम्मान नहीं करने का फैसला किया। इससे पहले 2021 में दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच स्थगित कर दिया गया था। फिर 2023 में एकदिवसीय श्रृंखला रद्द कर दी गई थी।

Advertisement

अफगानिस्तान के क्रिकेट को नुकसान क्यों पहुंच रहा है

राशिद ने कहा, " एक खिलाड़ी के तौर पर आप इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकते। इसे सुलझाना सरकारों का काम है। लेकिन मुझे सबसे ज्यादा दुख इस बात से होता है कि जब ऐसी चीजें होती हैं तो इससे अफगानिस्तान के क्रिकेट को नुकसान क्यों पहुंच रहा है? अगर कुछ सरकार के हाथ में है तो क्रिकेट को नुकसान क्यों हो रहा है? क्रिकेट की बात क्यों आती है? क्या क्रिकेट उन मुद्दों का समाधान कर सकता है? मुझे लगता है कि अगर क्रिकेट उन मुद्दों को हल कर रहा है, तो यह ठीक है, फिर मैं इससे खुश हूं।"

Advertisement

अफगानिस्तान में क्रिकेट ही एकमात्र लोगों को खुशी देने का साधन

राशिद ने कहा, "अफगानिस्तान में क्रिकेट ही एकमात्र लोगों को खुशी देने का साधन है। यदि आप लोगों से वह खुशी भी छीन रहे हैं, तो आप बहुत लोगों को चोट पहुंचा रहे हैं। यह कुछ ऐसा है जो मुझे लगता है कि एक कप्तान के रूप में अधिक दुखदायी है। आप एक युवा खिलाड़ी के रूप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलने के लिए खूब उत्साहित होते हैं और फिर ऐसा फैसला ले लिया जाता है।"

बीबीएल पर बोले राशिद, मेरा देश से बड़ा कुछ भी नहीं

पिछले साल राशिद ने बीबीएल से हटने की धमकी दी थी, लेकिन उन्होंने अपना मन बदल लिया और बीबीएल ड्राफ्ट में प्रवेश किया। उन्हें पीठ की सर्जरी करानी पड़ी थी और वह यह टूर्नामेंट नहीं खेल पाए थे। राशिद ने कहा कि सीए के नवीनतम कदम ने उन्हें फिर से बीबीएल में हिस्सा लेने पर अपने रुख पर विचार करने के लिए मजबूर किया है, जहां उन्होंने 2016-17 से एडिलेड स्ट्राइक्स का प्रतिनिधित्व किया है।

साथियों और देश को भी नीचा दिखा रहा हूं

राशिद ने कहा, " मन में बहुत सी बातें आती हैं। जैसे, यदि आप मेरी टीम के खिलाफ नहीं खेलना चाहते हैं, तो आप क्यों चाहते हैं कि मैं आपके देश में खेलूं? क्योंकि मुझे आपके देश में भी क्रिकेट खेलने की इजाजत नहीं है। आप मेरे साथियों के साथ नहीं खेलना चाहते और आप मेरे साथ खेलना चाहते हैं। तो क्या फर्क है? इसका मतलब है कि मैं अपने साथियों को भी नीचा दिखा रहा हूं। मेरे देश को भी नीचा दिखा रहा हूं।"

पैसा आएगा और जाएगा

राशिद ने कहा, " इसलिए अगर मैं वहां खेलता हूं तो पैसा आएगा। मेरे देश से बड़ा कुछ नहीं है। पैसा आएगा और जाएगा। वह बात नहीं है। अगर वे हमारे साथ खेलते हैं और हम उनके खिलाफ खेलते हैं, तो यही एकमात्र तरीका है जिससे हम वहां भी खेल सकते हैं। इस समस्या के समाधान यही है।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो