scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

IND vs ENG: रांची टेस्ट में बेन स्टोक्स से कहां हुई गलती, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने बताया; जेम्स एंडरसन को लेकर भी कही यह बात

IND vs ENG: भारत ने रांची टेस्ट को 5 विकेट से जीतने के साथ ही इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैच की सीरीज अपने नाम की। अभी वह सीरीज में 3-1 से आगे है। भारत के लिए सीरीज जीत इसलिए भी अहम है, क्योंकि उसने पहला टेस्ट गंवा दिया था।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: February 28, 2024 14:14 IST
ind vs eng  रांची टेस्ट में बेन स्टोक्स से कहां हुई गलती  इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने बताया  जेम्स एंडरसन को लेकर भी कही यह बात
रांची के जेएससीए इंटरनेशनल स्टेडियम कॉम्प्लेक्स में इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन भारत के खिलाफ श्रृंखला हारने के बाद इंग्लैंड के खिलाड़ी निराशा जाहिर करते हुए। भारत 5 मैच की टेस्ट सीरीज में 3-1 से आगे है। (सोर्स- एएनआई फोटो)
Advertisement

India vs England Test Series: रांची में चौथे टेस्ट में 192 रन का बचाव करते हुए इंग्लैंड की तीसरे दिन की शाम सबसे खराब शुरुआत हुई, जब मेहमान टीम ने स्पिनर्स को मदद कर रही और लगातार उछाल वाली पिच पर बिना विकेट चटकाए कुछ ही समय में 40 रन दे दिए। कप्तान बेन स्टोक्स ने जो रूट और टॉम हार्टले के साथ गेंदबाजी की शुरुआत करने का विकल्प चुना। दोनों ने ही लय हासिल करने के लिए संघर्ष किया और रोहित शर्मा तथा यशस्वी जयसवाल को फुल-टॉस और हाफ-वॉली के रूप में उपहार दिए।

रूट और हार्टले से गेंदबाजी की शुरुआत करना बड़ी गलती

ज्योफ्री बायकाट ने द टेलीग्राफ के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘मुझे स्टोक्स की कप्तानी पसंद है लेकिन मुझे लगा कि उन्होंने दो स्पिनर्स, जो रूट और टॉम हार्टले के साथ गेंदबाजी की शुरुआत कराकर बड़ी गलती की। बेन स्टोक्स सोच रहे थे कि एक नई हार्ड बॉल अधिक उछाल लेगी और एक उभरी हुई सीम अधिक स्पिन पैदा करेगी।’

Advertisement

ज्योफ्री बायकाट ने लिखा, ‘समस्या यह है कि यदि आपके पास नई गेंद से स्पिन कराने का अनुभव नहीं है तो लैकर इसे अंगुलियों से फिसला देता है, इसलिए इसे लेंथ पर छोड़ना मुश्किल होता है। जब मैं खेलता था, तो स्पिनर गेंद को खुरदुरा करने और उसे बेहतर तरीके से पकड़ने के लिए मिट्टी में हाथ रगड़ सकते थे, लेकिन अब उस पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, इसलिए उनके लिए इसे नियंत्रित करना कठिन है। मुझे लगता है कि बेन स्टोक्स ने कुछ ज्यादा ही सोच लिया था।’

जेम्स एंडरसन का नहीं हुआ सही इस्तेमाल: ज्योफ्री बायकाट

इंग्लैंड के पास जेम्स एंडरसन का विकल्प था। वह नई गेंद से बहुत कम रन दे रहे थे और टेस्ट की पहली पारी में रोहित शर्मा को परेशान कर रहे थे। इंग्लैंड के लिए 2 टेस्ट मैच में कप्तानी करने वाले ज्योफ्री बॉयकॉट को लगता है कि भले ही अनुभवी तेज गेंदबाज विकेट लेने में सक्षम नहीं होते, लेकिन स्कोरिंग दर को कम रख सकते थे और इससे स्टेयरिंग पर इंग्लैंड की टीम को नियंत्रण मिल जाती।

Advertisement

ज्योफ्री बॉयकॉट ने आगे लिखा, ‘टेस्ट मैच की आखिरी पारी में छोटे स्कोर का पीछा करना ऐतिहासिक रूप से कई टीमों के लिए मुश्किल साबित हुआ है क्योंकि पिच आमतौर पर खराब होती है और प्लेइंग ट्रिक्स चल रही होती हैं। शुरुआती विकेट एक अमूल्य बोनस है, लेकिन यह भी जरूरी है कि गेंदबाज बल्लेबाजी करने वाली टीम पर दबाव बनाने के लिए बल्लेबाजों को बांधे रखें।’ उन्होंने निष्कर्ष निकाला, ‘खेल और सीरीज बल्लेबाजों ने गंवा दी।’

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो