scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अशोक गहलोत के बेटे ने छोड़ा राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष पद, भाजपा सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

वैभव गहलोत ने अपने त्यागपत्र में कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार जाने के बाद से राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के खिलाफ ‘दुर्भावनापूर्ण इरादे’ से काम किया जा रहा है।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: March 07, 2024 16:27 IST
अशोक गहलोत के बेटे ने छोड़ा राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष पद  भाजपा सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत। (एक्प्रेस फाइल फोटो)
Advertisement

हमजा खान। कांग्रेस नेता और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत ने सोमवार को राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (आरसीए) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें निशाना बनाकर आरसीए में ‘अविश्वास का माहौल’ बनाने का प्रयास किया जा रहा है। वैभव गहलोत ने अपने त्यागपत्र में लिखा कि राजस्थान में सरकार बदलने के बाद आरसीए के खिलाफ ‘दुर्भावनापूर्ण इरादे’ से काम किया जा रहा है।

अविश्वास का माहौल बनाने की कोशिश: वैभव गहलोत

उन्होंने कहा, ‘अब मुझे निशाना बनाकर आरसीए में अविश्वास का माहौल बनाने की कोशिश शुरू कर दी गई है। इससे राज्य में क्रिकेट का सकारात्मक माहौल खराब होने की आशंका है। ऐसे में यह मेरे लिए असहनीय है कि राज्य में आईपीएल मैचों पर कोई संकट आए या क्रिकेट को नुकसान हो, इसलिए राज्य के क्रिकेट और क्रिकेट खिलाड़ियों को इस स्थिति से बचाने के लिए मैं स्वेच्छा से आरसीए के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं।’

Advertisement

यह घटनाक्रम राजस्थान खेल परिषद द्वारा सवाई मान सिंह स्टेडियम, जिसमें आरसीए कार्यालय है, पर कब्ज़ा करने की पृष्ठभूमि में आया है। इसमें आरसीए पर बकाया भुगतान सहित अपनी देनदारियों को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया गया है।

राजनीतिक द्वेष से प्रेरित लगती है कार्रवाई: अशोक गहलोत

वैभव गहलोत ने इस कार्रवाई को ‘जल्दबाजी में और अनुचित’ करार दिया है। वहीं, अशोक गहलोत ने कहा, ‘स्पोर्ट्स काउंसिल द्वारा आरसीए के खिलाफ जल्दबाजी में की गई कार्रवाई राजनीतिक द्वेष से प्रेरित लगती है। भले ही एमओयू समाप्त होने वाला था, यह कार्रवाई उचित कानूनी तरीके से की जा सकती थी। इस तरह की कार्रवाई से राजस्थान के खेल संघों पर राष्ट्रीय संस्थाओं का भरोसा कम होगा और हमारी सरकार के दौरान बना खेल माहौल खराब होगा।’

वैभव गहलोत ने पत्र में लिखा, ‘मुझे जानकारी मिली है कि मेरे खिलाफ भी अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया है। इस संबंध में मुझे बस इतना ही कहना है कि आरसीए के किसी भी पदाधिकारी या सदस्य ने मुझसे चर्चा नहीं की और न ही किसी मुद्दे पर असहमति व्यक्त की, अन्यथा मैं पहले ही अपना इस्तीफा दे देता।’

Advertisement

अक्टूबर 2019 में पहली बार बने थे अध्यक्ष

साल 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद वैभव गहलोत को अक्टूबर में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया था। वह दिसंबर 2022 में उन्हें इस पद के लिए फिर से निर्विरोध चुना गया। सवाई मान सिंह स्टेडियम को लेकर खेल परिषद और आरसीए के बीच बार-बार होने वाले विवादों पर वैभव ने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब परिषद ने आरसीए कार्यालय पर ताला लगाया है।

Advertisement

वैभव गहलोत ने कहा कि आरसीए के पास अपना कोई स्टेडियम नहीं है और राजस्थान सरकार के साथ आरसीए के समझौते के तहत सवाई मान सिंह स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच आयोजित किए गए थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो