scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

AFG vs SL: कोई और नौकरी करो, अंपायर ने हाई फुलटॉस को नहीं दिया नोबॉल तो श्रीलंका के कप्तान भड़के

श्रीलंका के खिलाफ आखिरी टी20 के आखिरी ओवर में अफगानिस्तान के तेज गेंदबाज वफादार मोमंद की गेंद बल्लेबाज कामिंडु मेंडिस की कमर के ऊपर से गुजरी। कामिंदु क्रीज से आगे निकल आए थे, लेकिन क्रीज में होने पर भी गेंद कमर के ऊपर से निकल जाती। स्क्वायर-लेग अंपायर हैनिबल ने इसे नो बॉल नहीं दिया।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | February 22, 2024 12:49 IST
afg vs sl  कोई और नौकरी करो  अंपायर ने हाई फुलटॉस को नहीं दिया नोबॉल तो श्रीलंका के कप्तान भड़के
वानिंदु हसरंगा। (फोटो - ICC)
Advertisement

श्रीलंका-अफगानिस्तान के बीच तीसरे टी20 में अंपायर लिंडन हैनिबल ने आखिरी ओवर में हाई फुलटॉस को नोबॉल नहीं दिया। रोमांचक मुकाबले में श्रीलंका को 3 रन से हार मिलने के कप्तान उसके टी20 कप्तान वानिंदु हसरंगा अंपायर पर भड़क गए। उन्होंने कहा कि लिंडन हैनिबल को दूसरी नौकरी ढूंढ लेनी चाहिए। श्रीलंका ने 3 मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर लिया।

हसरंगा की तीखी टिप्पणियां तब आईं जब स्क्वायर-लेग अंपायर हैनिबल ने नो-बॉल नहीं दिया। अफगानिस्तान के तेज गेंदबाज वफादार मोमंद की गेंद बल्लेबाज कामिंडु मेंडिस की कमर के ऊपर से गुजरी। कामिंदु क्रीज से आगे निकल आए थे, लेकिन अगर वह पॉपिंग क्रीज में खड़े होते तो गेंद संभवतः उनकी कमर से ऊपर निकल जाती। आईसीसी की नियमों के अनुसार यह नो-बॉल मानी जाती। हसरंगा इस फैसले से नाखुश दिखे और उन्होंने हनीबेल का नाम लिए बगैर निशाना साधा।

Advertisement

हसरंगा ने क्या कहा

हसरंगा ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय मैच में ऐसा नहीं होना चाहिए। यदि यह [कमर की ऊंचाई के करीब] होता, तो कोई समस्या नहीं होती। लेकिन जो गेंद इतनी ऊपर जा रही थी… अगर वह थोड़ी ऊपर जाती तो बल्लेबाज के सिर पर लगती। यदि आप यह नहीं देख सकते हैं तो वह अंपायर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए उपयुक्त नहीं है। अगर वह कोई दूसरा काम करता तो ज्यादा अच्छा होता।"

नो-बॉल चेक करने के लिए नहीं ले सकते रिव्यू

जब ऐसा हुआ तब श्रीलंका को आखिरी तीन गेंदों पर 11 रनों की जरूरत थी। चूंकि डिलीवरी को वैध माना गया और कामिंदु ने फुल टॉस के साथ कोई संपर्क नहीं किया तो उन्हें अंतिम दो में 11 रन की आवश्यकता हो गया। कामिंदु को इसे नो-बॉल मांगते हुए देखा गया। उन्होंने रिव्यू का भी अनुरोध किया था। हालांकि, आईसीसी के वर्तमान नियमों के अनुसार आउट को छोड़कर खिलाड़ी अंपायर के किसी अन्य फैसले पर रिव्यू नहीं ले सकता। विकेट न गिरा हो तो भी अंपायर नो-बॉल के लिए थर्ड अंपायर से मदद नहीं मांग सकते।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो