scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

किसने दिया राम मंदिर के लिए सबसे बड़ा दान? राम कथा कहने वाले संत ने दिए 18 करोड़ से ज्यादा, अंबानी-अडानी भी फेल

Morari bapu donated hightest amount for ram mandir: मोरारी बापू ने राम मंदिर के लिए किया सबसे बड़ा दान। जानें कितने पैसे दिए राम मंदिर निर्माण के लिए।
Written by: बिजनेस डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: January 25, 2024 12:09 IST
किसने दिया राम मंदिर के लिए सबसे बड़ा दान  राम कथा कहने वाले संत ने दिए 18 करोड़ से ज्यादा  अंबानी अडानी भी फेल
Morari bapu biggest doner: मोरारी बापू ने राम मंदिर के लिए सबसे ज्यादा दान किया है।
Advertisement

Biggest Doner of Ram Mandir is Morari Bapu: अयोध्या में भव्य राम मंदिर में हर दिन रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। 22 जनवरी 2024 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्राण प्रतिष्ठा की थी। राम मंदिर के लिए दुनियाभर के रामभक्तों ने बहुत सारा चंदा दिया है। लेकिन क्या आपको पता है कि सबसे ज्यादा दान किसने किया है? आध्यात्मिक गुरु मोरारी बापू ने अयोध्या राम मंदिर के लिए सबसे ज्यादा डोनेशन किया है। इसके अलावा मोरारी बापू के फॉलोअर्स ने भी काफी ज्यादा फंड राम मंदिर में दान देने के लिए इकट्ठा किया है।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, मोरारी बापू ने 11.3 करोड़ रुपये राम मंदिर बनाने के लिए दान दिए हैं। इसके अलावा अमेरिका, कनाडा और यूनाइटेड किंगडम में उनके समर्थकों ने भी 8 करोड़ रुपये का कुल दान किया है।

Advertisement

करोड़ों की दौलत की मालकिन हैं सानिया मिर्जा, जानें नेट वर्थ

देश-विदेश के समर्थकों ने जुटाया राम मंदिर के लिए फंड

खबरों के मुताबिक, राम मंदिर प्रोजेक्ट के लिए अब तक 5500 करोड़ रुपये से ज्यादा का दान मिल चुका है। इसमें सबसे ज्यादा दान करने वालों में मोरारी बापू का नाम शामिल है जिन्होंने मंदिर निर्माण के लिए 11.3 करोड़ रुपये दान किए हैं।

इससे पहले मोरारी बापू ने फरवरी 2023 में कहा था कि राम जन्मभूमि के लिए वह पहले ही 11.3 करोड़ रुपये दान कर चुके हैं। विदेशों से आने वाले बचे हुए फंड को राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट (Ram Janmabhoomi Teertha Trust) को दान किया जाएगा। यानी उनकी तरफ से आने वाला कुल दान 18.6 करोड़ रुपये है।

Advertisement

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट पर नोटिफाई किया गया है, “The Central Government has notified “SHRI RAM JANMABHOOMI TEERTH KSHETRA”(PAN:AAZTS6197B)to be a place of historic importance and a place of public worship of renown for the said section from the year F.Y.2020-2021, vide(CBDT NotificationNo.24/2020/F.No.176/8/2017/ITA-1). 50 percent of Voluntary Contributions, for renovation/repair of the Mandir, to Shri Ram Janambhoomi Teerth Kshetra is eligible for deduction under sec 80G(2)(b), subject to other conditions mentioned under section 8OG of the Income Tax Act, 1961. vide (CBDT Notification No.24/2020/F.No.176/8/2017/ITA-1),”

बाबा रामदेव की नेट वर्थ जान रह जाएंगे दंग, कभी घर-घर बेचते थे दवाई

2000 रुपये कैश डोनशेन

वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, 2000 रुपये से ज्यादा के कैश डोनेशन की अनुमति नहीं है।

आपको बता दें कि श्री राम जन्मभूमि मंदिर को नागरा शैली में बनाया गया है। इस मंदिर का धार 392 पिलर और 44 दरवाजे हैं। मंदिर की दीवारों और खम्भों पर बारीकी से हिंदू देवी-देवताओं के चित्रों को उकेरा गया है। इस मंदिर में श्री रामलला के बचपन की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई है जिसे काले पत्थर से बनाया गया है।

बात करें मोरारी बापू की तो 1946 में गुजरात में जन्में संत देश व दुनिया में अपने विनम्र स्वभाव के लिए लोकप्रिय हैं। पिछले 60 से भी ज्यादा वर्षों से वह राम कथा के जरिए सनातन धर्म के मूल सिद्धान्तों को बता रहे हैं।

बता दें कि मोरारी बापू अयोध्या में 24 फरवरी से 3 मार्च के बीच रामकथा कहेंगे। ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक भी बापू को अपना आध्यात्मिक गुरू मानते हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो