scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Zee में हो गई 2000 करोड़ की गड़बड़ी! SEBI ने मांगा सुभाष चंद्रा से जवाब, शेयरों में बड़ी गिरावट

Zee Entertainment Enterprises Account irregularity found by SEBI: सेबी को ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज के अकाउंट में 241 मिलियन डॉलर की अनियमितता मिली है।
Written by: बिजनेस डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: February 21, 2024 15:33 IST
zee में हो गई 2000 करोड़ की गड़बड़ी  sebi ने मांगा सुभाष चंद्रा से जवाब  शेयरों में बड़ी गिरावट
SEBI को Zee Entertainment के अकाउंट में 241 मिलियन डॉलर की अनियमितता देखने को मिली है।
Advertisement

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज (Zee Entertainment Enterprises) के खातों में 20 अरब रुपये (241.36 मिलियन डॉलर) से ज्यादा की अनियमितता देखी है। बुधवार को ब्लूमबर्ग न्यूज ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी। बाजार नियामक (Market Regulator) ने पिछले साल यानी 2023 में कहा था कि जी ग्रुप (Zee Group) के संस्थापक और चेयरमैन सुभाष चंद्रा (Subhash Chandra) और सीईओ पुनीत गोयनका (Puneet Goenka) कंपनी के फंड को समूह की अन्य लिस्टेड कंपनियों और उनके फाउंडर शेयरधारकों से जुड़ी फर्मों में ट्रांसफर करने में सक्रिय रूप से शामिल थे। बता दें कि दोनों ने किसी भी तरह के गलत काम से इनकार किया है।

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, SEBI द्वारा 24.1 करोड़ डॉलर का अमाउंट शुरुआती अनुमान से लगभग 10 गुना ज्यादा थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि कैलकुलेट किया गया अमाउंट फाइनर नहीं था और कंपनी के अधिकारियों से मिलने वाले जवाब की समीक्षा के बाद इसे संशोधित किया जा सकता है।

Advertisement

SEBI ने नहीं की कोई टिप्पणी

समाचार एजेंसी रॉयटर्स द्वारा इस बारे में सवाल किए जाने पर फिलहाल SEBI ने कोई टिप्पणी नहीं की है। जबकि Zee के का कहना है कि SEBI द्वारा मांगी गई सभी जानकारियों को प्रोवाइड कराने की प्रक्रिया जारी है।

आपको बता दें कि जापान के Sony Group ने पिछले महीने (जनवरी 2024) में ही कुछ लीडरशिप विवाद और अनसुलझी 'क्लोजिंग कंडीशंस (समापन शर्तों)' के चलते Zee के साथ होने वाली 10 बिलियन डॉलर के विलय की डील को रोक दिया था। इसमें जिसमें Goenka की नियामक मामलों में भागीदारी को लेकर असहमति भी शामिल थी।

Advertisement

वहीं Econimic Times की एक रिपोर्ट में मंगलवार (20 फरवरी 2024) को बताया गया था कि ज़ी की तरफ से एक बार फिर सोनी के साथ डील के लिए आखिरी कोशिशें शुरू कर दी गई हैं।

आपको बता दें कि अक्टूबर में इंडियन ट्रिब्यूनल ने गोयनका पर से बोर्ड पोजिशन होल्ड करने को लेकर लगा बैन हटा दिया था।

टूट गए शेयर

सेबी से जुड़ी इस खबर के आते ही ज़ी के शेयरों में भारी गिरावट आई है। मंगलवार को 8 फीसदी की तेजी के बाद बुधवार को एक बार फिर ज़ी का शेयर टूट गया। कारोबार बंद होने के समय ज़ी एंटरटेनमेंट लिमिटेड का शेयर 14.02 प्रतिशत गिर गया और 165.65 रुपये पर पहुंच गया।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो