scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ITR filing: आयकर रिटर्न भरने से पहले फॉर्म 26AS और AIS चेक करना जरूरी, कोई गड़बड़ी मिलने पर ऐसे करें ठीक

Income tax return filing : आयकर रिटर्न भरने की डेडलाइन ज्यादातर लोगों के लिए 31 जुलाई है, लेकिन उससे पहले फॉर्म 26AS और AIS जैसे दस्तावेजों को चेक करना भी जरूरी है।
Written by: Viplav Rahi
July 11, 2024 17:30 IST
itr filing  आयकर रिटर्न भरने से पहले फॉर्म 26as और ais चेक करना जरूरी  कोई गड़बड़ी मिलने पर ऐसे करें ठीक
ITR filing: ज्यादातर टैक्सपेयर्स के लिए आयकर रिटर्न भरने की डेडलाइन 31 जुलाई है। (Image : Pixabay)
Advertisement

How to correct mistakes in AIS and Form 26AS before ITR filing: देश के ज्यादातर टैक्सपेयर्स के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन यानी अंतिम तारीख 31 जुलाई है। उसके बाद आईटीआर फाइल करने पर पेनाल्टी देनी पड़ेगी। लेकिन डेडलाइन से पहले रिटर्न भरना है, तो सबसे पहले आपको उसके लिए जरूरी तमाम दस्तावेजों को जुटाना होगा। इसके साथ ही रिटर्न भरने से पहले फॉर्म 26AS, AIS और TIS जैसे जरूरी डॉक्युमेंट्स को चेक करना भी जरूरी है, ताकि अगर इन दस्तावेजों में कोई गड़बड़ी हो, तो उसे वक्त रहते ठीक कराया जा सके। अगर आपने अब तक ऐसा नहीं किया, तो जल्द से जल्द यह काम पूरा कर लें। और अगर आपको नहीं पता कि फॉर्म 26AS, AIS और TIS क्या हैं या उन्हें चेकर करने और कोई गड़बड़ी मिलने पर क्या करना होगा, तो आगे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

Advertisement

Advertisement

क्या हैं फॉर्म 26AS और AIS

एनुअल इंफॉर्मेशन स्टेटमेंट (AIS) में पूरे वित्त वर्ष के दौरान किए गए उन सभी महत्वपूर्ण वित्तीय लेन-देन का ब्योरा रहता है, जो आपके पैन नंबर से जुड़े हैं और जिनका डिटेल आयकर विभाग के पास मौजूद है। टैक्सेबल इनकम स्टेटमेंट (TIS) का मकसद AIS में दिए गए डिटेल को एक स्टेटमेंट के तौर पर टैक्सपेयर्स के सामने आसान ढंग से पेश करना है। वहीं फॉर्म 26AS एक टैक्स क्रेडिट स्टेटमेंट है, जिसमें आपने पैन से जुड़े TDS और TCS का डिटेल दिखाया जाता है। इन दस्तावेजों को आप आयकर विभाग की वेबसाइट से या अपने नेट बैंकिंग अकाउंट पर लॉगिन करके डाउनलोड कर सकते हैं।

Also read : Investment : 10 हजार की SIP से बना 1.09 करोड़ का फंड, इस स्कीम ने 16 साल में दिया 5 गुना रिटर्न

फॉर्म 26AS और AIS को चेक करना क्यों जरूरी है

Advertisement

अगर आप चाहते हैं कि टैक्स रिटर्न फाइल करने के बाद आयकर विभाग की तरफ से आपको कोई नोटिस न मिले या कोई पूछताछ न हो, या आपका कोई क्लेम रिजेक्ट न हो, तो उसके लिए जरूरी है कि आपके रिटर्न में दी गई जानकारी और इनकम टैक्स विभाग के पास आपके बारे में पहले से मौजूद सारी जानकारी आपस में मेल खाती हो। और ऐसा तभी हो सकता है, जब आपके आईटीआर में दी गई जानकारी फॉर्म 26AS और AIS से मैच करती हो। यही वजह है कि रिटर्न भरने से पहले इन दस्तावेजों को चेक करना अनिवार्य माना जाता है।

Advertisement

Also read : Gold vs Nifty : सोने ने रिटर्न के मामले में निफ्टी को पीछे छोड़ा, आगे कैसा रहेगा रुझान

सावधानी से चेक करें दस्तावेज

ई-फाइलिंग पोर्टल से अपने AIS, TIS और फॉर्म 26AS को डाउनलोड करने के बाद तीनों दस्तावेजों में दी गई जानकारी की सावधानी से जांच करें और उन्हें आपस में मिलाकर भी देखें। आमदनी, TDS एंट्री और टैक्स पेमेंट से जुड़ी किसी भी जानकारी में कोई गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए। अच्छी तरह जांच-परख कर यह पक्का कर लें कि इन सभी दस्तावेजों में आपसे जुड़ी हर जानकारी बिलकुल सही ढंग से दिखाई गई है।

Also read : Income Tax : जीरो आयकर रिटर्न का क्या है मतलब? किनके लिए जरूरी है ऐसा ITR फाइल करना, क्या हैं इसके 8 फायदे

दस्तावेजों में गड़बड़ी मिलने पर क्या करें 

सवाल ये है कि अगर आपके फॉर्म 26AS और AIS में कोई ऐसी जानकारी दी हुई है, जो आपके हिसाब से सही नहीं है, या दो जगह दी गई जानकारी आपस में मेल नहीं खाती, तो क्या करें। ऐसा होने पर आपको सबसे पहले फॉर्म 26AS और AIS में दी गई जानकारी को ठीक कराना पड़ेगा। ताकि आपके आयकर रिटर्न में दी गई जानकारी उससे मैच हो सके। यहां बताया गया है कि अपना ITR दाखिल करने से पहले किसी भी गड़बड़ी को कैसे ठीक किया जाए।

  • - AIS को चेक करने के लिए इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट https://www.incometax.gov.in/ पर जाएं 
  • - Services टैब पर जाकर Annual Information Statement (AIS) को सेलेक्ट करें 
  • - AIS के Part A और Part B पर जाकर वहां दी गई जानकारी को चेक करें। 
  • - कोई गलत जानकारी मिलने पर फीडबैक सबमिट करने का Option चुनें। 
  • - ड्रॉप डाउन मेन्यू पर जाकर 7 विकल्पों में किसी एक को चुनें।
  • ये विकल्प हैं : 

a. Information is correct

b. Transfer is not like a sale

c. Income is not taxable

d. Information is not fully correct

e. Information relates to other PAN/Year

f. Information is duplicate/included in other information

g. Information is denied

सही विकल्प सेलेक्ट करने के बाद सबमिट (Submit) पर क्लिक करके अपना फीडबैक दे दें।

फॉर्म 26AS में मिसमैच होने पर क्या करें 

अगर आपके फॉर्म 26AS में कोई गलती है, मसलन, सेल्फ असेसमेंट टैक्स या एडवांस टैक्स से जुड़ी कोई जानकारी गलत दी गई है, तो PAN और चालान नंबर वेरिफाई करके उसकी पुष्टि करें। अगर टीडीएस का कोई डिटेल नहीं दिया है या जानकारी में मिसमैच है, तो अपने एंप्लॉयर या टीडीएस काटने वाले से फौरन संपर्क करें। यह गलती ठीक करने के लिए उन्हें संशोधित टीडीएस रिटर्न (revised TDS return) फिर से फाइल करना होगा। जब तक यह जानकारी अपडेट नहीं हो जाती, आयकर विभाग फॉर्म 26AS में दी गई जानकारी को ही सही मानता है। इस बीच अगर आपको इनकम टैक्स विभाग से नोटिस मिले, तो आप उसका जवाब ई-फाइलिंग पोर्टल के जरिए दे सकते हैं। ऐसी स्थिति में आपको  'Taxpayer is correcting data for Tax Credit Mismatch' का ऑप्शन सेलेक्ट करके जरूरी डिटेल भरना होगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो