scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

शाकाहारी लोगों को महंगाई का बड़ा झटका! नॉन-वेज थाली के दाम गिरे, वेजिटेरियन थाली हुई और महंगी, जानें क्या रही वजह

Veg, Non-Veg Thali Prices: होम-मेड वेज थाली फरवरी में 7 प्रतिशत महंगी हो गई है। जबकि नॉन-वेज थाली के दाम पिछले साल की तुलना में 9 प्रतिशत कम हो गए हैं।
Written by: Naina Gupta | Edited By: Naina Gupta
Updated: March 12, 2024 20:20 IST
शाकाहारी लोगों को महंगाई का बड़ा झटका  नॉन वेज थाली के दाम गिरे  वेजिटेरियन थाली हुई और महंगी  जानें क्या रही वजह
नॉन-वेज थाली, वेज थाली की तुलना में सस्ती हो गई है।
Advertisement

Chicken thali price down by 9 percent:आमतौर पर ऐसा लगता है कि नॉन-वेजिटेरियन (मांसाहारी) थाली की औसत कीमत एक वेजिटेरियन (शाकाहारी) थाली से ज्यादा होती है। लेकिन फरवरी 2024 में होम-मेड चिकन थाली (नॉन-वेज थाली) का औसत दाम उम्मीद से परे और शाकाहारी थाली से कम रहा। और अगर आपको दाल से ज्यादा चिकन पसंद है तो पिछले महीने आपने कम पैसे खर्च किए हैं। देश में पिछले महीने दाल, चावल, प्यार और टमाटर के दाम ज्यादा रहे जबकि पॉल्ट्री के दाम कम रहे। Crisil की एक मंथली The Roti Rice Rate रिपोर्ट में फूड प्लेट की कीमत की जानकारी दी गई है।

बता दें कि घर पर किसी थाली को तैयार करने में लगने वाले औसत खर्च को नॉर्थ, साउथ, ईस्ट और वेस्ट इंडिया में खाद्य चीजों की कीमत के हिसाब से कैलकुलेट किया जाता है। हर महीने होने वाले दामों में इन बदलावों से आम आदमी के खर्चे पर असर पड़ता है। रिपोर्ट में बताए गए आंकड़ों से खुलासा हुआ है कि कई सारी चीजें जैसे अनाज, दाल, सब्जी, मसाले, खाद्य तेल और कुकिंग गैस के दाम में हुए बदलाव से थाली की कीमत पर असर पड़ा।

Advertisement

वेज थाली हुई महंगी

घर पर बनाई जाने वाली वेज थाली की कीमत फरवरी में पिछले साल की तुलना में 7 प्रतिशत बढ़ गई। जबकि प्याज और टमाटर के दाम क्रमशः पिछले साल की तुलना में 29 प्रतिशत और 38 प्रतिशत तक बढ़े हैं। चावल के दाम 14 प्रतिशत और दालों के दाम 20 प्रतिशत तक बढ़े। वेज थाली में चावल का हिस्सा 12 प्रतिशत और दाल का हिस्सा 9 प्रतिशत होता है।

नेपाल से आया परदेसी कैसे बन गया 30 हजार करोड़ का मालिक? हर दिन 15 घंटे काम और 0 सैलरी, जानें आचार्य बालकृष्ण की कहानी

वहीं बात करें नॉन-वेज थाली की तो इसके दाम में फरवरी 2023 की तुलना में फरवरी 2024 में 9 प्रतिशत की कमी आई है। CRISIL MI&A Research के अनुसार, नॉन-वेज थाली की कीमत इसलिए कम हुई है क्योंकि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में इस साल ब्रॉयलर चिकन के दाम में 20 प्रतिशत की कमी आई है। नॉन वेज थाली की कीमतों में 50 प्रतिशत हिस्सा ब्रॉयलर पॉल्ट्री का ही होता है।

Advertisement

SBI चेयरमैन दिनेश खारा को मिलती है कितनी सैलरी? जानें पढ़ाई-लिखाई और करियर की डिटेल

Advertisement

इसके अलावा पिछले महीने की तुलना महीने-दर-महीने के आधार पर देखें तो शाकाहारी थाली की कीमत में 2 प्रतिशत की गिरावट आई। जबकि प्याज की कीमत में 14 प्रतिशत और आलू की कीमतों में 3 प्रतिशत की गिरावट हुई है। वहीं टमाटर और दालों के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ और लगभग फ्लैट रहे। इसी तरह, चिकन थाली की कीमत में महीने-दर-महीने के आधार पर देखें तो 4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई। और इसकी वजह आंध्र प्रदेश में बर्ड फ्लू के प्रसार और बढ़ते तापमान के बीच कम आपूर्ति के कारण ब्रॉयलर की कीमतों में महीने-दर-महीने होने वाली अनुमानित 10 प्रतिशत की वृद्धि रही। इसके अलावा रमजान के कारण होने वाली बढ़ती मांग भी इसका एक कारण रहा।

वहीं बात करें जनवरी 2024 की तो होम-मेड नॉन-वेज थाली में जनवरी 2023 की तुलना में पॉल्ट्री की कम कीमतों के चलते 13 प्रतिशत की कमी आई। वहीं वेजिटेरियन थाली करीब 5 प्रतिशत महंगी हो गई और इसकी वजह दाल, चावल, प्यार और टमाटर के बढ़ते दाम रहे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो