scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Budget 2024: अंतरिम बजट में रेलवे के लिए क्या हो सकता है खास? रेल यात्रियों को मिलेगी खुशखबरी या नहीं? नई ट्रेनें और किराये से जुड़ी हर डिटेल

Budget 2024: अंतरिम बजट 2024 में इस बार देश के सबसे बड़े नेशनल ट्रांसपोर्टर को मिल सकता है क्या-कुछ खास? जानें डिटेल....
Written by: Naina Gupta
Updated: January 30, 2024 16:18 IST
budget 2024  अंतरिम बजट में रेलवे के लिए क्या हो सकता है खास  रेल यात्रियों को मिलेगी खुशखबरी या नहीं  नई ट्रेनें और किराये से जुड़ी हर डिटेल
Interim Budget 2024: जानें अंतरिम बजट 2024 में इस बार क्या-कुछ होगा खास
Advertisement

Railway Budget 2024: एक जमाना था जब लोगों को हर साल बेसब्री से रेल बजट (Railway Budget) का इंतजार रहता था। आखिरी बार 2016 में रेल बजट को अलग से सदन में पेश किया गया था। 2017 में यूनियन बजट के साथ ही रेल बजट को पेश किया जाने लगा और 92 साल से चली आ रही परंपरा का अंत हो गया। इस बार Interim Budget 2024 में रेलवे से जुड़े कुछ बड़े ऐलान किए जाने की उम्मीद है। बता दें कि अगले तीन महीने में देश में चुनाव होने हैं जिसके चलते इस बार अंतरिम बजट पेश होगा। पूर्ण बजट जुलाई में पेश किया जाएगा। देश के सबसे बड़े सरकारी ट्रांसपोर्टर को इस बार सरकार से काफी उम्मीद हैं। चलिए बात करते हैं अंतरिम बजट 2024 में रेलवे को क्या उम्मीदें हैं?

राम रहीम के पास है करोड़ों की दौलत, नेट वर्थ जान हैरान रह जाएंगे आप

Advertisement

एक्सपर्ट्स की मानें तो इस बार यानी बजट 2024 में रेलवे के लिए बजट एलोकेशन में बड़ी बढ़ोत्तरी होने की उम्मीद है। 2024-25 में रेलवे बजट 3 लाख करोड़ रुपये पार जा सकता है। यानी पिछले साल (2023) की तुलना में 25 फीसदी का इजाफा होने की उम्मीद है।

रेलवे के लिए मिला-जुला रहा 2023

इंडियन रेलवे के लिए साल 2023-24 काफी हलचल भरा रहा है। इस साल देश में रेलवे ने कई सारी नई वंदे भारत (Vande Bharat) ट्रेनों की शुरुआत की। इसके अलावा अमृत भारत एक्सप्रेस (Amrit Bharat Express) को भी हरी झंडी मिली।

रेलवे के लिए साल 2023 से उस वक्त बुरी खबर आई जब ओडिशा में देश का अब तक का सबसे बड़ा ट्रेन हादसा हुआ। इस हादसे में 300 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई।

Advertisement

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से 2024-25 के लिए अंतरिम बजट में रेलवे को मिलने वाले फंड में बड़ा इजाफा किए जाने की उम्मीद है।

बता दें कि 2024-25 में रेलवे को बजट 2023 में 2.40 लाख करोड़ रुपये का फंड एलोकेट किया गया था। जबकि 2022-23 में यह फंड सिर्फ 1.40 लाख करोड़ रुपये ही थी। उन्होंने खासतौर पर यह जिक्र किया था कि 2023 में रेलवे को दिया गया फंड 2013-14 में मिले फंड से 9 गुना ज्यादा है।

बता दें कि रेलवे लगातार अपने सिस्टम में सुधार कर रहा है। बेहतर व्यवस्था और सुविधाओं के साथ इंडियन रेलवे यात्रियों को विश्व स्तरीय सुविधाएं देने की कोशिश में है। देश में लगातार तेज स्पीड वाली नई ट्रेनें, रेलवे स्टेशनों का पुनर्निर्माण और बेहतर सेफ्टी फीचर्स देने पर काम किया जा रहा है।

यात्री किराया सस्ता होगा या नहीं?

रेल किराए की बात करें तो इस बार भी पहले की तरह ही बजट में कोई घोषणा होने की उम्मीद नहीं है। हाल ही में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से जब मीडिया कर्मियों ने टिकट किराए में छूट को लेकर सवाल किया था तो उन्होंने कहा था कि भारतीय रेलवे पहले से ही हर यात्री को ट्रेन किराए पर 55 प्रतिशत की छूट दे रही है। रेल मंत्री के इस बयान से साफ है कि यात्री किराया कम होने के लेकर कोई ऐलान नहीं होगा।

बता दें कि कोविड-19 के समय से सीनियर सिटीजन और मान्यता प्राप्त मीडिया कर्मियों को ट्रेन टिकट के किराये में छूट मिलनी बंद हो गई है। कोरोना काल खत्म होने के बाद इस छूट को दोबारा लागू करने के बारे में लगातार मांग की जा रही है। हालांकि, सरकार के रवैये को देखते हुए ऐसा लगता नहीं है कि यह छूट दोबारा मिलेगी।

नई ट्रेनों के साथ आने वाले वक्त में सबको मिलेगा कन्फर्म टिकट!

भारतीय रेलवे की योजना आने वाले कुछ सालों में 300-400 नई वंदे भारत ट्रेनें चलाने का है। इसके अलावा सरकार वंदे भारत ट्रेनों में स्लीपर कोच लगाने से जुड़ी योजना पर भी काम कर रही है। बता दें कि फिलहाल 41 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन संचालित की जा रही हैं।

रेल मंत्री ने रेलवे से जुड़ी कई योजनाओं की भी जानकारी पिछले कुछ महीनों में दी है। उन्होंने कहा था कि आने वाले सालों में रेलवे 1 लाख करोड़ रुपये की नई ट्रेनों का अधिग्रहण करेगा। नई ट्रेनों के अधिग्रहण का मुख्य मकसद सालों से चल रही पुरानीं ट्रेनों के स्टॉक को रिप्लेस करना है। नए अधिग्रहण से रेलवे के बेड़े में 7000 से 8000 के बीच नई ट्रेन शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए अगले 4-5 सालों में टेंडर जारी किए जाएंगे। पूरी खबर पढ़ें

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह भी कहा था कि धीरे-धीरे वंदे भारत एक्सप्रेस की स्पीड को भी बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा 110 से 130kmph की स्पीड के बीच ट्रेन ऑपरेट करने के लिए हर असुरक्षित लोकेशन पर सेफ्टी फेंसिंग इंस्टॉल की जाएगी।

रेलवे का इरादा Mission Zero Accidents को और तेज करने का है ताकि ट्रेन हादसों पर पूरी तरह से लगाम लग सके। 2024-25 में इस मिशन के लिए भी सरकारी बजट डबल होने की उम्मीद है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो