scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Ram Mandir: क्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होंगे नीतीश कुमार?

Ram Mandir: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम 22 जनवरी को है। इस कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों के दिग्गजों को आमंत्रित किया गया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: January 02, 2024 18:43 IST
ram mandir  क्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होंगे नीतीश कुमार
नीतीश कुमार को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए किया गया आमंत्रित (PTI)
Advertisement

Ram Mandir News: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए बिहार के सीएम नीतीश कुमार को भी आमंत्रित किया गया है। रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से कमलेश्वर चौपाल ने बताया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का आमंत्रण भेजा गया है।

उन्होंने बताया कि कल वे नीतीश कुमार से मिलने गए थे लेकिन पहले से जानकारी न देने की वजह से वह उनके पहुंचने से पहले ही निकल गए। कमलेश्वर चौपाल ने बताया कि ट्रस्ट की तरफ से मंगलवार को उनसे मिलने के लिए समय मांगा गया है, इजाजत मिलने के बाद हम उनसे मिलेंगे और आमंत्रित करेंगे।

Advertisement

अविस्मरणीय होगा रामलला का प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम - योगी आदित्यनाथ

अयोध्या में 22 जनवरी राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि श्रीराम मंदिर 'राष्ट्र मंदिर' के रूप में भारत की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और सामाजिक एकता का प्रतीक होगा। इस दौरान उन्होंने दावा किया कि 22 जनवरी का कार्यक्रम अलौकिक, अभूतपूर्व और अविस्मरणीय होगा।

'राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम यूपी की ग्लोबल ब्रांडिंग का भी अवसर'

मुख्यमंत्री ने कहा, ''आज पूरी दुनिया अयोध्या की ओर उत्सुकता से देख रही है। हर कोई अयोध्या आना चाहता है। पूरा देश राममय है। यह उत्तर प्रदेश की ‘ग्लोबल ब्रांडिंग’ का अवसर भी है।'' उन्होंने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आने वाले अतिथियों तथा उसके बाद श्रद्धालुओं के आगमन को सुखद बनाने में राज्य सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी।

Advertisement

शबरी के नाम पर रखा जाएगा अवधपुरी का भोजनालय

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी सरकार द्वारा अवधपुरी में संचालित किए जाने वाले भोजनालय को 'माता शबरी' के नाम पर स्थापित किया जाएगा और अन्य भवनों के नामकरण भी इसी प्रकार रामायणकालीन चरित्रों के नाम पर रखे जाएंगे। इस दौरान उन्होंने प्रशासन को निर्देश दिए कि अयोध्या के पास स्थित सभी छह रेलवे स्टेशनों से परिवहन विभाग समन्वय करे और यहां उतरने वाले श्रद्धालुओं को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए स्थायी रूप से अच्छी बसों की व्यवस्था करे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो