scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

नीतीश की माफी के बाद भी नहीं थम रहा बवाल, पुराने साथी सुशील मोदी बोले- पूरा बिहार शर्मसार हुआ है

बिहार विधानसभा की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: November 08, 2023 19:36 IST
नीतीश की माफी के बाद भी नहीं थम रहा बवाल  पुराने साथी सुशील मोदी बोले  पूरा बिहार शर्मसार हुआ है
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
Advertisement

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए महिला शिक्षा के महत्व पर अपनी विवादास्पद टिप्पणी को वापस लेते हुए बुधवार को कहा कि अगर उनकी किसी बात से किसी को कोई ठेस पहुंची है तो वह इसके लिए माफी मांगते है और खेद व्यक्त करते हैं। हालांकि, सीएम की माफी के बाद भी बवाल खत्म नहीं हुआ है। विपक्षी नेताओं ने बिहार विधानसभा के अंदर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अपमानजनक शब्दों पर विरोध प्रदर्शन किया। जिसके बाद सदन की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान पर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा, "भले ही उन्होंने माफी मांग ली है लेकिन पूरा बिहार शर्मसार हुआ है। उन्हें इस तरह का बयान देने की हिम्मत कैसे हुई? केवल माफी मांगने से काम नहीं चलेगा उन्हें सभी महिलाओं के सामने हाथ जोड़कर ये कहना चाहिए कि उन्होंने बहुत बड़ी गलती की है और आगे ऐसी कभी भी गलती नहीं करेंगे।"

Advertisement

गलती से बोल दिए नीतीश- राबड़ी देवी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान पर बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा, "ऐसी बात उनके मुंह से गलती से निकल गई, जिसपर उन्होंने माफी भी मांगी है। सदन चलते रहने देना चाहिए और मुख्यमंत्री को अपनी बात का पछतावा है।"

बिहार की महिलाओं को गलत संदेश दिया- असदुद्दीन औवेसी

नीतीश कुमार के बयान पर AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन औवेसी ने कहा, "वह एक प्रदेश के मुख्यमंत्री है और विधानसभा में उन्होंने जिस तरीके का भाषा का उपयोग किया है वो अश्लील है। आप कही सड़क पर यह बात नहीं बोल रहे थे उन्हें समझना चाहिए था। मैं मांग करता हूं कि वो अपना बयान विधानसभा में वापस ले और उन्होंने बहुत गलत संदेश बिहार की महिलाओं को दिया है।"

नीतीश की माफी

बिहार विधानसभा परिसर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान और बाद में सदन के भीतर नीतीश ने कहा, ‘‘अगर मेरी किसी बात को लेकर तकलीफ हुई है तो मैं अपनी बात को वापस लेता हूं, मैं अपनी निंदा करता हूं और दुख प्रकट करता हूं। विपक्षी सदस्यों ने कहा कि मुख्यमंत्री शर्म करें, मैं न सिर्फ शर्म कर रहा हूं, मैं इसके लिए दुख प्रकट कर रहा हूं। मैं इन सारी चीजों को वापस लेता हूं।’’

Advertisement

क्या बोल गए नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री ने जनसंख्या को नियंत्रित करने में महिलाओं की शिक्षा के महत्व पर जोर देते हुए राज्य विधानसभा में उदाहरण पेश किया था कि कैसे एक शिक्षित महिला अपने पति को संबंध बनाने के दौरान रोक सकती है। सीएम ने कहा था, “पति के कृत्यों के कारण ज्यादा बच्चे जन्म लेते हैं। हालांकि, एक शिक्षित महिला जानती है कि उसे कैसे रोकना है। यही कारण है कि जन्म लेने के मामलों में कमी आ रही है।”

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो