scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चुनाव आयोग के अफसरों ने बिहार के 14 जिलों की मतदाता सूची की समीक्षा की, लोकसभा चुनाव को लेकर दीं ये हिदायतें

युवा मतदाताओं का नाम जोड़ने के लिए विश्वविद्यालय, शिक्षण संस्थाओं, तकनीकी शिक्षण संस्थाओं, आईटीआई आदि में शिविर लगाने का भी निर्देश दिया गया।
Written by: गिरधारी लाल जोशी
Updated: October 17, 2023 14:21 IST
चुनाव आयोग के अफसरों ने बिहार के 14 जिलों की मतदाता सूची की समीक्षा की  लोकसभा चुनाव को लेकर दीं ये हिदायतें
भागलपुर में चुनाव आयोग की बैठक में मौजूद वरिष्ठ अफसर।
Advertisement

भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ अफसरों ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा और मतदाता सूची समेत विभिन्न मामलों पर चर्चा करने के लिए सोमवार को भागलपुर में बैठक की। इस बैठक में चार प्रमंडलों के कमिश्नर के साथ पूर्णिया, कटिहार, अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, सुपौल, बेगूसराय, खगड़िया, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, मुंगेर, बांका, भागलपुर के डीएम भी मौजूद रहे।

18 वर्ष से ऊपर के सभी युवाओं के नाम वोटर लिस्ट में जोड़ने को कहा

चुनाव आयोग के अफसरों ने स्थानीय कमिश्नरी और जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि 18 वर्ष से ऊपर के सभी युवाओं का नाम मतदाता सूची में तुरंत जोड़ने का काम शुरू किया जाए। कोई भी छूटने नहीं पाए। इसके अलावा जिन मतदाताओं की मृत्यु हो चुकी है, उनके नाम मतदाता सूची से हटाया जाए। इसके लिए अभियान चलाकर यह काम करें। यह जानकारी सूचना जनसंपर्क अधिकारी आलोक कुमार ने दी है।

Advertisement

दो दिन के दौरे पर आए अफसरों ने कई जिलों की समीक्षा की

दो दिन के दौरे पर आए चुनाव आयोग के वरीय उप निर्वाचन आयुक्त धर्मेंद्र शर्मा, नितेश व्यास, मनोज कुमार साहू राज्य के 38 जिलों के निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों के साथ चुनाव बैठक कर रहे हैं। बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त एच.आर. श्रीनिवास ने बैठक में उनका स्वागत करते हुए सभी जिलाधीशों को निर्देशों पर तुरंत अमल करने का कहा। उनका कहना था कि मतदाता पुनरीक्षण कार्य 2024 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर करना है।

चुनाव आयोग के अफसरों ने कहा कि मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के नेताओं से सलाह लेकर उनकी मदद से भी अधिक से अधिक युवाओं को जोड़ें। युवा मतदाताओं का नाम जोड़ने के लिए विश्वविद्यालय, शिक्षण संस्थाओं, तकनीकी शिक्षण संस्थाओं, आईटीआई आदि में शिविर लगाने का भी निर्देश दिया गया।

Advertisement

फिलहाल देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। चुनाव आयोग इनको पूरा कराने में व्यस्त है। इसके कुछ महीनों के बाद देश में लोकसभा के आम चुनाव कराए जाएंगे। जिसकी तैयारी चल रही है। भागलपुर में हुई बैठक इसी सिलसिले में थी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो