scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मल्लिकार्जुन खड़गे के नाम पर नीतीश कुमार नाराज? चिराग पासवान बोले- मेरे CM की दलित विरोधी सोच किसी से छिपी नहीं

Chirag Paswan News : चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला बोला है। चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर दलित विरोधी होने के आरोप लगाए हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: December 20, 2023 14:42 IST
मल्लिकार्जुन खड़गे के नाम पर नीतीश कुमार नाराज  चिराग पासवान बोले  मेरे cm की दलित विरोधी सोच किसी से छिपी नहीं
चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला बोला (File Photo - Express/Abhinav Saha)
Advertisement

इंडिया गठबंधन की तरफ से पीएम पद उम्मीदवार कौन होगा, इसपर अभी कोई सहमति नहीं बनी है। मंगलवार को हुई इंडिया गठबंधन की मीटिंग में ममता बनर्जी द्वारा मल्लिकार्जुन खड़गे को गठबंधन का फेस बनाने का प्रस्ताव रखा गया, जिसका समर्थन केजरीवाल ने भी किया लेकिन सूत्रों ने दावा किया कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार इस पर नाराज हैं। अब नीतीश कुमार के कथित रुख पर चिराग पासवान ने उनपर हमला बोला है।

चिराग पासवान ने न्यूज एजेंसी PTI से बातचीत में कहा कि नीतीश कुमार को यह रास ही नहीं आ सकता। उन्होंने कहा, "मेरे मुख्यमंत्री की दलित विरोधी सोच किसी से छिपी नहीं है, जिसका प्रमुखता से जिक्र पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों हुए विधानसभा चुनाव में किया कि किसी तरह से मेरे नेता और मेरे पिता आदरणीय राम विलास पासवान जी को मुख्यमंत्री के द्वारा अपमानित किया गया क्योंकि वो दलित समाज से आते हैं, उन्हें कदम-कदम पर आगे बढ़ने से रोका गया।"

Advertisement

नीतीश कुमार ने किया मेरे पिता को परेशान- चिराग

अपने पिता के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "उनके अंतिम दिनों में वो राज्यसभा का नामांकन नहीं कर पाएं, उसके लिए किस तरह से प्रताड़ित करने का काम किया, इसका जिक्र पीएम भी कर चुके हैं।"

उन्होंने कहा कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बारे में विधानसभा में जिस तरह से अपशब्दों का इस्तेमाल किया गया, वह दर्शाता है कि सीएम की दलित विरोधी सोच रही है। उन्होंने कहा, "कल खड़गे जी का नाम सुनते ही बिफर जाना और बैठक से उठ जाना दर्शाता है कि वो किसी दलित को आगे बढ़ता नहीं देख सकते हैं।"

इंडिया गठबंधन पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पूरा गठबंधन जब ऐसी घटनाओं पर खामोश रहता है तो ये इस गठबंधन की विफलताओं को दर्शाता है। चाहे सनातन को मिटाने की बात हो, चाहे नीतीश कुमार द्वारा अनुसूचित जाति के नेताओं को अपमानित करने की बात हो या महिलाओं को अपमानित करने की बात कही गई हो या फिर उपराष्ट्रपति का जिस तरह से मजाक उड़ाया गया, उसपर जिस तरह से घटक दल खामोश है, वह यह दिखाता है कि उन्हें जनता की भावनाओं से कोई लेना देना नहीं है। वह सिर्फ अपनी महत्वकांक्षा पूरी करना चाहते हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो