scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बिहार में सीट शेयरिंग फाइनल! बराबर सीटों पर लड़ सकते हैं नीतीश- लालू, बची हुई कांग्रेस-लेफ्ट को मिलने का अनुमान

कुछ सीटों पर अब भी नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के बीच समझौता होना है। इन सीटों पर दोनों दल अपना-अपना उम्मीदवार उतारना चाहते हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: January 05, 2024 10:12 IST
बिहार में सीट शेयरिंग फाइनल  बराबर सीटों पर लड़ सकते हैं नीतीश  लालू  बची हुई कांग्रेस लेफ्ट को मिलने का अनुमान
आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव और जेडीयू नेता नीतीश कुमार।
Advertisement

लोकसभा चुनाव में अब बहुत कम दिन रह गये हैं। मैदान में उतरने से पहले राजनीतिक दलों ने अपने गठबंधन के सहयोगियों से सीटों के बंटवारे को लेकर चर्चाएं तेज कर दी हैं। बिहार में सत्तारूढ़ दो प्रमुख दल जेडीयू और आरजेडी ने अपनी-अपनी सीटों के लिए करीब-करीब बातचीत फाइनल कर ली है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव की पार्टियां बराबर-बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। बची हुई सीटें कांग्रेस और वाम दलों को दी जाएंगी। हालांकि कुछ सीटों पर अब भी नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के बीच समझौता होना है। इन सीटों पर दोनों दल अपना-अपना उम्मीदवार उतारना चाहते हैं।

कांग्रेस और लेफ्ट को समझौता मंजूर नहीं, और सीटों की डिमांड

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं। नीतीश कुमार की पार्टी पिछली बार की तरह इस बार भी 17 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है। ऐसे में 17 सीटों पर ही लालू प्रसाद यादव की पार्टी भी अपने उम्मीदवार उतारेगी। ऐसे में बची छह सीटों पर कांग्रेस और लेफ्ट को समायोजित करना है। हालांकि कांग्रेस और लेफ्ट को शायद यह मंजूर न हो। कांग्रेस के नेता और लेफ्ट वाले दोनों का कहना है कि अभी सीटों का फाइनल होना है। वे इतने सीटों पर संतुष्ट नहीं हो सकते हैं।

Advertisement

तेजस्वी यादव ने सीएम से की मुलाकात, बताई RJD की इच्छा

राज्य के उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके आवास पर गुरुवार को मुलाकात की और लालू प्रसाद यादव का एक संदेश दिया। बताया जा रहा है कि इस संदेश में सीटों को लेकर पार्टी की मंशा साफ की गई थी।

कांग्रेस ने I.N.D.I.A. गुट में बातचीत शुरू जल्द करने को कहा

इस बीच आईएनडीआईए (I.N.D.I.A.) गुट के सहयोगियों की खींचतान और दबाव के बीच कांग्रेस नेतृत्व ने गुरुवार को राज्य इकाइयों से कहा कि पार्टी आगामी लोकसभा चुनावों में 255 सीटों पर ध्यान केंद्रित करेगी, जो शायद 2019 के राष्ट्रीय चुनावों की तुलना में कम सीटों पर चुनाव लड़ने की उसकी तैयारी का संकेत है। पार्टी ने यह भी घोषणा की कि आईएनडीआईए गुट के साझेदारों के साथ सीट साझा करने की बातचीत तुरंत शुरू होगी।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने एआईसीसी महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल के साथ पार्टी की पांच सदस्यीय राष्ट्रीय गठबंधन समिति के सदस्यों से मुलाकात की, जिन्होंने पिछले कुछ दिनों में राज्य इकाइयों के साथ व्यापक चर्चा की थी।

Advertisement

समिति ने अपनी रिपोर्ट नेतृत्व को सौंप दी और उसे इंडिया ब्लॉक के घटकों के साथ बातचीत शुरू करने की अनुमति दे दी गई। सूत्रों ने कहा कि खड़गे ने दिन में एआईसीसी महासचिवों और राज्य प्रभारियों, राज्य कांग्रेस अध्यक्षों और कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेताओं की एक अलग बैठक में कहा कि पार्टी 255 सीटों पर ध्यान केंद्रित करेगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो