scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Madhya Pradesh: सरकारी गेहूं की पैकिंग का वजन बढ़ाने के लिए मिला रहे थे रेत और धूल, वीडियो वायरल होने पर 6 पर FIR, जांच के निर्देश

वजन बढ़ाकर लोगों को लूटने वाले गिरोह के खिलाफ सरकार ने प्रशासन को सख्त रवैया अपनाने को कहा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी कहा है कि ऐसे लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
Updated: February 02, 2023 22:33 IST
madhya pradesh  सरकारी गेहूं की पैकिंग का वजन बढ़ाने के लिए मिला रहे थे रेत और धूल  वीडियो वायरल होने पर 6 पर fir  जांच के निर्देश
सांकेतिक तस्वीर (Express Photo)
Advertisement

Mixing Of Sand In Wheat In Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के सतना में समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीदे गए गेहूं का वजन बढ़ाने के लिए कथित तौर पर उसमें रेत (Sand) और धूल (Dust) मिलाई जा रही है। इसका खुलासा होने पर हड़कंप मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी वायरल हो चुका है। पुलिस ने मामले में छह लोगों को अरेस्ट कर उनसे पूछताछ की है। इनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

40 किलो तक बढ़ाया जा रहा है वजन

सतना के रामपुर बघेलान तहसील के बांधा गांव में समर्थन मूल्य पर खरीदे गए गेहूं का भंडारण किया गया था। लोगों का आरोप है कि गेहूं के बैग में करीब 40 किलो धूल-मिट्टी और रेत मिलाई जा रही है। इसको लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। इसका खुलासा वहां के एक युवक ने वीडियो वायरल कर की। इसके बाद हरकत में आया प्रशासन ने तुरंत जांच-पड़ताल शुरू की और कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। फिलहाल छह लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

Advertisement

जिम्मेदारों ने कहा- साजिशन फंसाया जा रहा है

हालांकि जिम्मेदार लोगों का कहना है कि यह एक साजिश है। उनका कहना है कि कुछ लोग उन्हें फंसाने के लिए जान-बूझकर ऐसी हरकतें कीं और उसका वीडियो बनाकर वायरल किया। अफसरों का कहना है कि मामले की जांच चल रही है, अगर इसमें सच्चाई मिली तो दोषी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले धान की पैकिंग में भी ऐसा खेल हो चुका है। उसमें पत्थर और ईंटें भरी हुई थीं। वजन बढ़ाकर लोगों को लूटने वाले गिरोह के खिलाफ सरकार ने प्रशासन को सख्त रवैया अपनाने को कहा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी कहा है कि ऐसे लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

Advertisement

एक तरफ सरकार किसानों की दशा को बेहतर करने की योजना बना रही है तो दूसरी तरफ कुछ लोग उनको बर्बाद करने पर तुले है। इस बार के बजट में सरकार ने किसान समृद्धि योजना के बाद कई अन्य योजनाएं चालू करने की घोषणा की है। सरकार ने पशुपालकों और मछलीपालन करने वाले किसानों के लिए भी कई कदम उठाए हैं। कृषि स्टार्टअप के लिए सरकार डिजिटल एक्सीलेटर फंड बनाएगी, जिसे कृषि निधि के नाम से जाना जाएगा। 

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो