scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

गुजरात के एक निजी बंदरगाह में भारी तादाद में जमे बैठे हैं चीनी, जानिए सुब्रमण्यम स्वामी ने किस पर साधा निशाना

सुब्रमण्यम स्वामी ने चीन को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर भी कई बार हमला बोला है। उनका कहना है कि चीन को लेकर पीएम की नीति समझ से परे है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: शैलेंद्र गौतम
April 04, 2023 15:46 IST
गुजरात के एक निजी बंदरगाह में भारी तादाद में जमे बैठे हैं चीनी  जानिए सुब्रमण्यम स्वामी ने किस पर साधा निशाना
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग। (फाइल फोटो)
Advertisement

उद्योगपति गौतम अडानी को निशाना बनाकर बीजेपी के पूर्व सांसद ने बड़ा हमला बोला है। उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि गुजरात के एक निजी बंदरगाह में चीनी भारी तादाद में मौजूद हैं। उनकी ये संख्या भारत की किसी भी दूसरी जगह पर मौजूद चीनियों की तादाद से ज्यादा है। दरअसल सुब्रमण्यम स्वामी ने एक यूजर के ट्वीट पर अपना जवाब दिया। उस यूजर ने एक खबर का हवाला दिया था, जिसमें कहा गया था कि मुंद्रा पोर्ट के टर्मिनल की डील भारत की सुरक्षा एजेंसियों के निशाने पर है। स्वामी का कहना है कि ये पोर्ट हिंद महासागर में घुसपैठ का सबसे मुफीद रास्ता है।

बीजेपी के राज्यसभा सांसद रहे सुब्रमण्यम स्वामी ने कुछ दिन पहले ही मोदी सरकार को चेताते हुए कहा था कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग युद्ध की तैयारी में जुटे हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर पर निशाना साधकर उन्होंने कहा था कि हमारे वेटर्स उनसे कह रहे हैं कि आप अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख ले लो पर उसके अलावा कहीं और पर निगाह मत डालो। उनका कहना था कि भारत सरकार चीन के सामने पस्त हो चुकी है।

Advertisement

चीन को लेकर पीएम मोदी पर भी खासे हमलावर रहे हैं स्वामी

सुब्रमण्यम स्वामी ने चीन को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर भी कई बार हमला बोला है। उनका कहना है कि चीन को लेकर पीएम की नीति समझ से परे है। चीन की सेना 2020 में लद्दाख और बीते साल अरुणाचल प्रदेश में भारतीय सेना से दो-दो हाथ कर चुकी है। लेकिन पीएम को कुछ नहीं दिखता।

स्वामी ने हाल ही में कहा था कि पीएम मोदी ने उन्हें ब्रिक्स बैंक का चेयरमैन बनने के लिए कहा था पर उन्होंने इस वजह से इनकार कर दिया था क्योंकि उन्हें साफ तौर पर दिख रहा था कि चीन से संबंध स्थापित करना भारत के हित में नहीं है। स्वामी का कहना है कि उसी दौरान एक अलग मीटिंग में उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह को चीन के साथ संबंध बढ़ाने को लेकर आगाह भी किया था। पर वो नहीं मान रहे।

Advertisement

अडानी के पोर्ट के चीनी लिंक को लेकर अलर्ट हुई थीं एजेंसियां

बीजेपी नेता स्वामी ने जिस ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए एक निजी पोर्ट पर चीनियों की भारी तादाद होने की बात कही, उस यूजर ने द हिंदू की खबर को ट्वीट किया था। इसके मुताबिक मुंद्रा पोर्ट के एक टर्मिनल की ओनरशिप एक चीनी कंपनी को हस्तांतरित करने को लेकर भारत की सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड में आई थीं। अडानी ग्रुप के फ्रेंच पार्टनर CMA टर्मिनल और चीनी सरकार की कंपनी चाईनीज मर्चेंट ग्रुप के बीच टर्मिनल की ओनरशिप हस्तांरित करने को लेकर करार हुआ था। अडानी ग्रुप का कहना था कि इस डील से उसका सीधे तौर पर कोई लेना देना नहीं है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो